उड़द की अंकुरित फलियों ने बढ़ाई किसानों की चिंता

उड़द की अंकुरित फलियों ने बढ़ाई किसानों की चिंता

jagdish paraliya | Publish: Sep, 10 2018 11:05:41 AM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 03:28:33 PM (IST) Jhalawar City, Jhalawar, Rajasthan, India

- जिले में हो रही लगातार बारिश से उड़द की फसल में हुआ नुकसान

 

हरि सिंह गुर्जर

झालावाड़.जिलेभर में लगातार हो रही बारिश से किसानों के सिर पर चिंता की लकिरें नजर आ रही है। किसानों ने बड़े अरमान के साथ जिले में सोयाबीन, उड़द, मक्का आदि फसलों की बुवाई की थी। लेकिन जिले में चार दिन से हो रही बारिश से उड़द की फसल में नुकसान हो रहा है। कई क्षेत्रों में उड़द की फसलों में फलियां उगनी शुरू हो गई है। वहीं जिन क्षेत्रों में पानी भर रहा है, उन क्षेत्रों में अगर अभी और बारिश होती है तो फसलों में नुकसान होने की संभावना जताई जा रही है।
जिले में बकानी, पिड़ावा, खानपुर सहित कई क्षेत्रों में उड़द की फसल की बुवाई शुरूआत में ही कर दी गई थी, इन क्षेत्रों में उड़द की फसल पक गई है, ऐसे में उड़द की फसलों में नुकसान की स्थिति बनी हुई है। हालांकि कृषि विशेषज्ञों का मानना है कि अभी उड़द की फसल में फलियां अंकुरित होने से 10-15 फिसदी का नुकसान है आगे और बारिश होती है तो नुकसान ज्यादा होगा।
31 हजार हैक्टेयर में हुई बुवाई-
जिले में बकानी, पिड़ावा, खानपुर, सुनेल, रायपुर आदि क्षेत्रों में उड़द की फसल की प्रथम बारिश में ही बुवाई हो चुकी थी, इन क्षेत्रों में अभी उड़द की फसल तैयार हो चुकी है। वहीं जिलेभर में करीब 31 हजार हैक्टेयर में इसबार उड़द की फसल की बुवाई की गई थी। ऐसे में कई क्षेत्रों में उड़द की फलियां अंकुरित हो चुकी है।
सर्वे के दिए निर्देश-
कृषि विभाग ने उड़द की फसल में किसानों को हो रहे नुकसान के सर्वे के लिए कृषि पर्यवेक्षकों को खेतों में जाकर सर्वे करने के निर्देश दिए है। हालांकि अभी आंशिक नुकसान बताया जा रहा है,लेकिन बारिश लगातार होती रही तो नुकसान बढ़ सकता है।

यह करें किसान उपाय-
कृषि विशेषज्ञों ने बताया कि अभी जिले में दो दिन से हो रही तेज बारिश से जिन किसानों के खेतों में पानी भरा हुआ है। पानी निकासी की व्यवस्था करें। अगर लगातार सोयाबीन, मक्का आदि की फसलों में 24 घंटे से अधिक बारिश का पानी भरा रहता है तो फसलों में नुकसान होना शुरू हो जाता है।

तेज बारिश हुआ फायदा-
जिले में दो दिन में हुई तेज बारिश से नुकसान बहुत कम है, लेकिन सोयाबीन, मंूगफली आदि फसलों में लग रहे कीट आदि तेज बारिश में नीचे गिर गए है, इससे फसलों में फायदा हुआ है।

इतने क्षेत्र में हुई है जिले में बुवाई-
फसल बुवाई हैक्टेयर
मक्का- 41263
ज्वार 750
धान- 3030
उड़द- 30644
अरहर- 27
सोयाबीन- 230639
मंूगफली- 2269
हां नुकसान तो हैं-
जिले में खानपुर, पिड़ावा, रायपुर सहित कई क्षेत्रों में उड़द में फलियां उगने की शिकायत आई है, सभी कृषि पर्यवेक्षकों को सर्वे के निर्देश दे दिए गए है। अभी उड़द में 10 फीसदी तक का नुकसान हो सकता है।
अतिश कुमार शर्मा, उपनिदेशक,कृषि विस्तार,झालावाड़।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned