script आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों को मिलेगी दो रेडीमेड ड्रेस | Anganbadi Centre : Children will get two ready-made dresses | Patrika News

आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों को मिलेगी दो रेडीमेड ड्रेस

locationजोधपुरPublished: Feb 04, 2024 05:29:53 pm

Submitted by:

pawan pareek

सरकार बदलने के बाद आंगनबाड़ी केंद्रों की इस योजना को लेकर संशय बना हुआ था। अब सरकारी स्कूलों की तर्ज पर आंगनबाड़ी में अध्ययनरत 3 से 6 साल तक के नामांकित बच्चों को स्कूल ड्रेस मिलेंगी।

आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों को मिलेगी दो रेडीमेड ड्रेस
आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों को मिलेगी दो रेडीमेड ड्रेस
पीपाड़सिटी (जोधपुर) . राज्य की भजनलाल सरकार ने पीएम मोदी की गारंटी को देखते हुए गत कांग्रेस सरकार के शासन में बनी कुछ योजनाओं को बिना किसी लाग लपेट के पूरा के लिए तैयारी पूरी कर ली हैं। सरकार बदलने के बाद आंगनबाड़ी केंद्रों की इस योजना को लेकर संशय बना हुआ था। अब सरकारी स्कूलों की तर्ज पर आंगनबाड़ी में अध्ययनरत 3 से 6 साल तक के नामांकित बच्चों को स्कूल ड्रेस मिलेंगी।
पीपाड़सिटी ब्लॉक के 148 आंगनबाड़ी के 3995 बच्चे लाभान्वित होंगे। खास बात यह है कि सरकारी स्कूलों के बच्चों को केवल यूनिफार्म का कपड़ा मिलता है, जबकि आंगनबाड़ी के नामांकित बच्चों को पहली बार ही रेडिमेड दो-दो ड्रेस मिलेंगी। ड्रेस के बंडल सीडीपीओ ऑफिस तक पहुंच गए हैं। वहां से आंगनबाड़ी केन्द्र पर कार्यकर्ताओं को वितरण किया गया। इनका जल्द ही वितरण किया जाएगा।
ड्रेस कोड

गहलोत की ओर से शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य आंगनबाड़ी केंद्रों से जुड़े बच्चों पर एक समान ड्रेस कोड लागू करने के साथ गांव के गरीब बच्चों में भी टी-शर्ट पहनने की इच्छा को पूरा करना रहा हैं। राज्य में सरकार बदलते ही इस योजना पर संकट के बादल मंडरा रहे थे,लेकिन सीएम भजनलाल ने राजनीतिक उदारता दिखाते हुए इसे हरी झंडी दे दी,जिसके बाद जयपुर से ड्रेसेज गांवों तक पहुंचने लटी हैं।

आचार संहिता में अटकी योजना

पिछली कांग्रेस सरकार ने प्रदेश के 62 हजार आंगनबाड़ी केन्द्रों पर बच्चों को 2-2 सेट यूनीफॉर्म देने की घोषणा की थी, लेकिन विस चुनाव की आचार संहिता के कारण इस पर ब्रेक लग गए। अब महिला एवं बाल विकास विभाग ने इन यूनिफार्म को वितरण करने का निर्णय किया है। इसके सभी जिलों से आई डिमांड के अनुसार प्रति बालक-बालिका दो-दो रेडिमेड यूनिफार्म भिजवाना शुरू कर दी हैं। पीपाड़सिटी, भोपालगढ़ उपखंड मुख्यालय पर बच्चों की यूनिफार्म भिजवा दी है।केंद्रों की सेक्टर बैठकों में वितरण की तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस दौरान देवेन्द्र जाखड़, मनीष भन्नगा, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अनुपमा भन्नगा, किरणा ग्वाला, सुनीता देवड़ा, रेणु कंवर चारण, भगवती देवासी, मुन्नीदेवी गोदारा, रेणु सेंवर,शोभा गुर्जर,मंजू भार्गव,प्रेमलता सहित कई आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद थी।

सवा सौ करोड़ का प्रोजेक्ट

इस योजना में प्रत्येक बच्चे को 2 सेट रेडीमेड यूनिफॉर्म के रूप में दो टी-शर्ट एवं दो पेन्ट उपलब्ध करवाई जाएगी। राज्य में 62 हजार से अधिक आंगनबाड़ी केन्द्र संचालित हैं। इनके लगभग 16.89 लाख बच्चों को यूनीफॉर्म दी जाएंगी। इस प्रकर पूरे प्रदेश में करीब 125.80 करोड़ रुपए का बजट खर्च हुआ है।

पीएम की गारंटी पूरी
प्रधानमंत्री मोदी ने पहले ही कह दिया था कि जो योजनाएं गरीबों के लिए कल्याणकारी हैं, उनको बंद नही किया जाएगा, उनकी इसी गारंटी को मुख्यमंत्री बिना किसी राजनीतिक भेदभाव के जनहित में पूरा कर रहे हैं।
- सुशीला बडियार, सरपंच, रियां, पीपाड़सिटी।


केंद्रों पर भेजी

पहली बार आंगनबाड़ी में नामांकित बच्चों को भी दो-दो ड्रेस मिलेंगी। ड्रेसे आंगनबाड़ी केंद्र पर पहुंच गई हैं। वितरण की कार्ययोजना बनाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को दे दी गई है। 3 दिनों में सभी केंद्रों पर बच्चों को वितरित कर दी जाएगी।
- विशनाराम चौधरी, सीडीपीओ, पीपाड़सिटी

ट्रेंडिंग वीडियो