scriptLok Sabha Result 2024: पिछली बार से कम वोट मिले फिर भी जीते हनुमान बेनीवाल, सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े | Lok Sabha Result 2024: Marwar Out of 6 seats, 4 went to BJP, one to Congress and one to RLP | Patrika News
जोधपुर

Lok Sabha Result 2024: पिछली बार से कम वोट मिले फिर भी जीते हनुमान बेनीवाल, सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े

Lok Sabha Result 2024: रालोपा के हनुमान बेनीवाल को 5,96,955 मत मिले जो कि 48.2 प्रतिशत वोट शेयर हैं। पिछली बार यह वोट शेयर 55.46 प्रतिशत था। फिर भी वे जीत गए।

जोधपुरJun 05, 2024 / 01:54 pm

Rakesh Mishra

अविनाश केवलिया
Lok Sabha Result 2024: मारवाड़ की जनता ने इस बार अपना मिश्रित जनादेश दिया है। पिछले लोकसभा चुनाव से उलट इस बार सभी सीटें भाजपा को नहीं दी हैं। जहां सीटें दी हैं, वहां भी दिल खोलकर आशीर्वाद नहीं दिया। इसीलिए जिन सीटों पर भाजपा जीती है, वहां भी जीत का अंतर पिछली बार से कम हुआ है। दूसरी ओर कांग्रेस ने इस बार चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर दी और बाड़मेर सीट पर जीत दर्ज की।

नागौर: 7 प्रतिशत वोट खोकर भी बेनीवाल जीते

रालोपा के हनुमान बेनीवाल लगाता दूसरी बार सांसद बने हैं। पिछली बार वे एनडीए के साथ थे, लेकिन इस बार इंडिया गठबंधन के साथ हैं। पिछली बार भी उनके सामने ज्योति मिर्धा ही थीं, लेकिन तब वे कांग्रेस से थी और इस बार भाजपा से। रालोपा का वोट शेयर 7 प्रतिशत गिरा है, लेकिन फिर भी वे सीट निकाल लाए।
इस बार का गणित

  • रालोपा के हनुमान बेनीवाल को 5,96,955 मत मिले जो कि 48.2 प्रतिशत वोट शेयर हैं। पिछली बार यह वोट शेयर 55.46 प्रतिशत था। फिर भी वे जीत गए।
  • भाजपा की ज्योति मिर्धा को 5,54,730 वोट मिले, यह 44.79 प्रतिशत वोट शेयर है।
  • जीत का अंतर 42,225 वोट रहा।

जोधपुर: कम वोट मिले फिर भी शेखावत जीते

2019 में भाजपा के गजेन्द्र सिंह शेखावत को 7,88,888 वोट मिले थे। इस बार उन्हें 7,30,056 वोट मिले हैं। यानि पिछली बार से 58 हजार 800 वोट कम हैं। वोट शेयर के लिहाज से यह गिरावट 7 प्रतिशत है। कांग्रेस वोट शेयर बढ़ाने के बाद भी जीत का स्वाद नहीं ले पाई।
इस बार का गणित

  • भाजपा का वोट शेयर 52.76 प्रतिशत रहा जो कि पिछली बार 59.12 प्रतिशत था।
  • कांग्रेस का वोट शेयर 38.5 प्रतिशत से बढक़र 44.4 प्रतिशत पर पहुंचा, लेकिन जीत नहीं मिली।
  • भाजपा 1,15,677 वोट से जीती।

बाड़मेर: भाजपा 66 प्रतिशत से 16 प्रतिशत पर सिमटी

त्रिकोणीय मुकाबले में कांग्रेस ने यह सीट जीती। इसके साथ उसका वोट बैंक भी बढ़ा है। कांग्रेस का वोट बैंक इस बार 41 प्रतिशत से ज्यादा रहा, जो कि पिछली बार 37.25 प्रतिशत था। वहीं, इस बार भाजपा का वोट बैंक 16.99 प्रतिशत रहा, जो पिछली बार 66.32 प्रतिशत था।
इस बार का गणित

  • कांग्रेस के उम्मेदाराम बेनीवाल को 7,04,676 वोट मिले।
  • निर्दलीय रविन्द्र सिंह भाटी को 5,86,500 वोट मिले।
  • भाजपा के कैलाश चौधरी 2,86,733 वोट के साथ तीसरे स्थान पर रहे।
  • जीत का अंतर – 1,18,176 वोट रहा

बीकानेर : 10 प्रतिशत वोट गिरने के बाद भी अर्जुन ने साधा बीकाणा

बीकानेर में अर्जुनराम मेघवाल अपनी साख बचाने में कामयाब रहे हैं। हालांकि उनका वोट शेयर पांच साल में 10 प्रतिशत कम हुआ, लेकिन फिर भी 55,711 वोट से जीत मिली। खास बात यह है कि कांग्रेस का वोट शेयर 9 प्रतिशत बढ़ा फिर भी जीत नहीं पाई।
इस बार का गणित

  • भाजपा के अर्जुनराम मेघवाल को 5,66,737 वोट मिले जो कि 50 प्रतिशत वोट शेयर है।
  • कांग्रेस के गोविंदराम मेघवाल को 5,11,026 वोट मिले जो 45.7 प्रतिशत है। यह पिछली बार से 9 प्रतिशत ज्यादा है, लेकिन फिर भी जीत नहीं हुई।
  • भाजपा का जीत का अंतर 55,711

पाली में भाजपा का 11 प्रतिशत वोट शेयर गिरा मगर जीत झोली में आई

लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के पीपी चौधरी तीसरी बार जीते हैं। उनका वोट शेयर 2019 की तुलना में 11 प्रतिशत गिरा है, लेकिन फिर भी वे 2 लाख 45 हजार वोटों से जीत गए। कांग्रेस का वोट शेयर यहां 6 प्रतिशत बढ़ा, इतने वोट बढ़ने के बावजूद जीत का स्वाद नहीं चख पाए।
इस बार का गणित

  • भाजपा के पीपी चौधरी को 7,57,389 वोट मिले। यह 55.94 प्रतिशत वोट हैं।
  • कांग्रेस की संगीता बेनीवाल को 5,12,038 वोट मिले जो पिछली बार से 96 हजार और 6 प्रतिशत ज्यादा है, फिर भी जीत नहीं पाईं।
  • भाजपा ने यह सीट 2,45,351 वोट से जीती है।

जालोर में 84 हजार ज्यादा वोट लेकर भी कांग्रेस हारी

जालोर में भिड़ंत दोनों नए चेहरों के बीच थी। कांग्रेस से पूर्व सीएम अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत मैदान में थे, पिछली बारे 84 हजार ज्यादा वोट लिए और वोट शेयर भी 3 प्रतिशत बढ़ाया फिर भी भाजपा के किले को ध्वस्त नहीं कर पाए। भाजपा के लुम्बाराम पिछली बार से तीन प्रतिशत कम वोट लेकर भी जीत गए।
इस बार का गणित

  • भाजपा के लुम्बाराम को 7,96,783 वोट मिले जो कि 2019 की तुलना में 24 हजार वोट ज्यादा थे, मगर वोट प्रतिशत तीन प्रतिशत कम था फिर भी उन्होंने पहली बार में जीत दर्ज की।
  • कांग्रेस को पिछली बार से 84 हजार ज्यादा वोट मिले, वोट प्रतिशत भी 3 प्रतिशत ज्यादा रहा, लेकिन फिर भी हार हाथ में आई।
  • भाजपा का जीत का अंतर 2,01,543 वोट रहा।
यह भी पढ़ें

Lok Sabha Result 2024: नहीं चला जादू, जानिए- जालोर सीट से बेटे वैभव की करारी हार पर क्या बोले अशोक गहलोत

Hindi News/ Jodhpur / Lok Sabha Result 2024: पिछली बार से कम वोट मिले फिर भी जीते हनुमान बेनीवाल, सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े

ट्रेंडिंग वीडियो