नशे में मां से झगड़ा व मारपीट करने लगा तो पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर को दबोचा

- जेल की दीवार फांद भागने वाला हत्या का आरोपी गिरफ्तार
- थाने में भी मिरगी का दौरा आने के बहाने कर हंगामा किया, पुलिस ने करवाया इलाज

By: Vikas Choudhary

Published: 24 Sep 2020, 06:30 AM IST

जोधपुर.
जोधपुर सेन्ट्रल जेल की दीवार फांदकर भागने वाले हत्या के आरोपी हिस्ट्रीशीटर को कुड़ी भगतासनी थाना पुलिस ने क्षेत्र में सेक्टर-9 स्थित झुग्गी झोंपड़ी से पकड़ लिया। वह झुग्गी झोंपड़ी में घरवालों से मिलने पहुंचा था, लेकिन शराब के नशे में वह मां व घरवालों से झगड़े पर उतर आया। आरोपी ने कुड़ी भगतासनी थाने में भी मिरगी के दौरे आने के बहाने कर हंगामा किया।

थानाधिकारी जुल्फिकार अली ने बताया कि मूलत: जालोर जिले में भाद्रार्जुन थानान्तर्गत ऊकली हाल दल्ले खां की चक्की चौराहे के पास झुग्गी-झोंपड़ी निवासी हिस्ट्रीशीटर कैलाश उर्फ डोडिया पुत्र बंशीलाल बावरी गत सोमवार को केबीएचबी सेक्टर-९ में माता-पिता से मिलने के लिए आया था। पुलिस ने घेराबंदी की थी, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया था। इसके बावजूद पुलिस ने क्षेत्र में सादे वस्त्रों में पुलिस तैनात कर तलाश जारी रखी। इस बीच, मंगलवार देर रात उसके क्षेत्र की झुग्गी-झोंपड़ी के आस-पास घूमने की सूचना मिली।

वह शराब के नशे में धुत्त था और मां व अन्य परिजन से झगड़ा करने लग गया था। उसकी मां ने पुलिस को सूचना देनी चाही। बाद में आस-पास के लोग थाने पहुंचे और पुलिस को हिस्ट्रीशीटर के हंगामा करने की सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो वह गायब हो गया, लेकिन पुलिस ने तलाश कर कैलाश उर्फ डोडिया को पकड़ लिया। उसे बुधवार को रातानाडा थाना पुलिस के सुपुर्द किया गया। जिसे गिरफ्तार किया गया। उसे गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।
थाने में हंगामा, मिरगी के दौरे का नाटक

पुलिस का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर शादीशुदा है व उसके चार बच्चे भी हैं। उसने कुड़ी भगतासनी थाने में रातभर हंगामा किया। वह मिरगी का मरीज भी है। वह खुद को मिरगी के दौरे आने की शिकायत करता रहा। घबराई पुलिस उसे अस्पताल ले गई और जांच करवाकर इंजेक्शन भी लगवाए। जांच में उसके पूरी तरह स्वस्थ्य होने की जानकारी दी गई।
गुपचुप तरीके से घोषित किया इनाम

हिस्ट्रीशीटर कैलाश उर्फ डोडिया की गिरफ्तारी के लिए गत दिनों पुलिस उपायुक्त ने सूचना देकर पकड़वाने वाले को पांच हजार रुपए का इनाम घोषित किया था, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने इनाम के संबंध में आमजन को सूचित करना तक आवश्यक नहीं समझा था।

Vikas Choudhary Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned