वाट्सएप पर राजनीतिक पार्टी के पक्ष में पोस्ट की, व्याख्याता को नोटिस

वाट्सएप पर राजनीतिक पार्टी के पक्ष में पोस्ट की, व्याख्याता को नोटिस

Yamuna Shankar Soni | Publish: Oct, 14 2018 10:49:45 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

सोशल मीडिया आचार संहिता के उल्लंघन पर पहली बार अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही
8 दिनों में 11 अधिकारियों को नोटिस

जोधपुर.

जोधपुर जिले में बिलाड़ा में तैनात स्कूली व्याख्याता वाट्सएप पर राजनीतिक दल के पक्ष में पोस्ट करने पर आचार संहिता उल्लंघन का नोटिस जारी किया गया है। आचार संहिता लागू होने के बाद जिले में अब तक 11 सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को नोटिस दिए जा चुके हैं, लेकिन सोशल मीडिया पर पोस्ट के लिए नोटिस का यह पहला मामला है।


बिलाड़ा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव संबंधी सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए वाट्सएप पर सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों का सुपरवाइजर ग्रुप बना रखा है। इस पर बिलाड़ा के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में व्याख्याता किशनसिंह ने एक राजनीतिक दल के पक्ष में पोस्ट की थी। रिटर्निंग अधिकारी मुकेश चौधरी ने किशनसिंह को नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब मांगा है।

इसी विधानसभा क्षेत्र के पीपाड़ राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय (नंबर एक) के प्राचार्य इंद्रसिंह राठौड़ को गत दिनों स्कूल में पाठ्य सामाग्री वितरण कार्यक्रम में महिला कांग्रेस नगरअध्यक्ष अनिता दर्जी के साथ फोटो खिंचवाने पर नोटिस जारी किया गया था।

इसके अलावा जोधपुर के चौपासनी हाउसिंग बोर्ड सेटेलाइट अस्पताल के चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. हस्तीमल आर्य को ड्यूटी के दौरान भाजपा सरकार के कार्यों की तरीफ करने और पार्टी को पक्ष में वोट देने की अपील करने पर आचार संहिता के उल्लंघन का नोटिस जारी किया जा चुका है।

अब तक 11 को नोटिस

आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में जिले में अब तक 11 अधिकारियों और कर्मचारियों को नोटिस जारी किए जा चुके हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. रविकुमार सुरपुर ने गत 9 अक्टूबर को चुनाव सम्बंधी प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहने वाले 8 अधिकारियों को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 134 के तहत नोटिस जारी किए थे।

आइटी सेल रख रही नजर

सोशल मीडिया पर आचार संहिता उल्लघंन के मामलों पर नजर रखने के लिए आइटी सेल बनाई गई है। इसके जरिये मंत्रियों, सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की ओर से सोशल मीडिया पर की जा रही पोस्ट पर नजर रखी जा रही है। इसके अलावा ‘सी विजिल’ मोबाइल एप बनाई गई है। इस पर आमजन आचार संहिता के उल्लंघन के फोटो और वीडियो मोबाइल एप पर भेज कर शिकायत कर सकते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned