छात्रसंघ चुनाव : अब देखना होगा किसके सिर बंधेगा अध्यक्ष पद का सेहरा, 46 प्रतिशत रहा मतदान

Harshwardhan Singh Bhati | Publish: Sep, 10 2018 01:41:54 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

विवि में छात्रसंघ के कुल 34 पदों के लिए 164 उम्मीदवार मैदान में रहे।

जोधपुर. जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव के लिए सोमवार को आयोजित हुए मतदान में एपेक्स अध्यक्ष पद पर चार प्रत्याशियों में मुकाबला हुआ। एबीवीपी के मूल सिंह राठौड़, एनएसयूआई के सुनील चौधरी, एसएफआई के दमाराम और एआईएसएफ के अरविंद सिंह राजपुरोहित में कड़ा मुकाबला देखने को मिला। इस बार अध्यक्ष पद के लिए एक भी निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में नहीं है। विवि में छात्रसंघ के कुल 34 पदों के लिए 164 उम्मीदवार मैदान में रहे। विवि ने मतदान के लिए 41 मतदान केंद्र बनाए गए थे। जहां 22 हजार 413 छात्र छात्राएं मतदान करने वाले थे। लेकिन सुबह बरसाती मौमस के कारण विद्यार्थियों का रुझान कम देखने को मिला। फिर दिन के चढऩे के साथ ही वोट्र्स ने उत्साह दिखाना शुरू किया और सुबह 10 बजे के बाद से वोट्र्स का केंद्रों पर आने के क्रम में तेजी देखने को मिली। वोटिंग समय से महज पांच मिनट पहले तक भी विद्यार्थी आते हुए देखे गए। न्यू कैंपस में यूजी-पीजी विद्यार्थियों के कुल 1927 वोट पड़े। कुल मतदाता 3275 थे। जिनमें से 58.80 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। एमबीएम इंजीनियर कॉलेज में छात्र संघ चुनाव में कुल 1430 मतदाताओं ने किया अपने मतदान का प्रयोग किया।

केएन कॉलेज के बाहर गर्माया माहौल

छात्रसंघ चुनावों के दौरान केएन कॉलेज के बाहर का माहौल हमेशा से ही देखने को मिलता रहा है। अक्सर छात्रों की ओर से अप्रत्याशित हंगामों के कारण पुलिस अन्य संकायों के बाहर चाक-चौबंद रहती है लेकिन केएन कॉलेज के बाहर छात्राएं अपने-अपने संगठनों को लेकर समर्थन के दौरान उग्र हो जाती हैं। यही आज के चुनाव में भी देखने को मिला। यहां पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कांता ग्वाला और उसके समर्थकों की ओर से एनएसयूआई के लिए समर्थन में नारे लगाने के दौरान एबीवीपी की समर्थक छात्राओं से झड़प हो गई। हालांकि महिला कांस्टेबलों ने मिलकर उन्हें शांत करवाया। इस दौरान यहां तीन फर्जी मतदाता भी पकड़े गए। जिन्हें पुलिस ने केंद्रों से दूर भिजवाया।

राघवेंद्र निर्विरोध उपाध्यक्ष मनोनीत


विवि के मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा ने बताया कि विवि में एपेक्स के चार पदों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव और संयुक्त महासचिव पद के अलावा कला, वाणिज्य, विज्ञान, विधि व इंजीनियरिंग संकाय में प्रत्येक कक्षा के लिए कक्षा प्रतिनिधि के वोट डाले जाएंगे। ऐसे में इन पांचों संकायों के प्रत्येक छात्र को पांच वोट डालने हैं। कमला नेहरू कॉलेज और सायंकालीन अध्ययन संस्थान में विवि के एपेक्स पदों के अलावा स्वयं के चार-चार पद हंै। केएन कॉलेज में चार पदों को कॉलेज अध्यक्ष, कॉलेज उपाध्यक्ष, कॉलेज महासचिव, कॉलेज संयुक्त महासचिव का पदनाम दिया गया है। सांयकालीन अध्ययन संस्थान के चार प्रमुख पदों को संस्थान अध्यक्ष, संस्थान उपाध्यक्ष, संस्थान महासचिव व संस्थान संयुक्त महासचिव का पदनाम दिया गया है। इसके अलावा इन दोनों अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को कक्षा प्रतिनिधि के लिए भी अपना वोट दिया। संस्थान उपाध्यक्ष के पद पर राघवेंद्र सिंह निर्विरोध चुन लिए गए हैं। ऐसे में सांयकालीन अध्ययन के विद्यार्थियों ने 8 वोट डाले। जबकि केएन कॉलेज की प्रत्येक छात्रा ने 9 वोट डाले।

आरआर के लिए दो प्रत्याशी


विवि में शोध प्रतिनिधि के लिए राजेंद्र सिंह व श्रवण कुमार मैदान में रहे। शोध प्रतिदिन के लिए मतदान केवल नया परिसर स्थित विज्ञान संकाय में हुआ। विवि के 914 शोध छात्रों ने मिलकर अपने प्रतिनिधि का चुनाव किया। वहीं एबीवीपी को इस बार एपेक्स के तीन पदों पर ही चुनाव लडऩा पड़ा। एपेक्स उपाध्यक्ष पर की प्रत्याशी दीपा प्रसोया का नामांकन विवि की ओर से रद्द कर दिया गया था। दीपा पिछले साल केएन कॉलेज में एपेक्स पद का चुनाव लड़ चुकी थी। ऐसे में इस साल उसे फिर से एपेक्स पद के चुनाव लडऩे के लिए अयोग्य करार दिया गया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned