बीजेपी महापौर प्रमिला पांडेय पर जानलेवा हमला, 205 उपद्रवियों पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

महापौर प्रमिला पांडेय (Pramila Pandey) और नगर निगम की टीम शनिवार को चमनगंज इलाके में चल रहे चट्टों को हटाने के लिए पहुंची। इसी दौरान चट्टा मालिक और स्थानीय लोगों ने उन पर हमला बोल दिया।

By: Abhishek Gupta

Published: 27 Sep 2020, 04:01 PM IST

कानपुर। महापौर प्रमिला पांडेय और नगर निगम (Nagar Nigam) की टीम शनिवार को चमनगंज इलाके में चल रहे चट्टों को हटाने के लिए पहुंची। इसी दौरान चट्टा मालिक और स्थानीय लोगों ने उन पर हमला बोल दिया। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया। जिससे कैचिंग दस्ते की 3 गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई। घटना की सूचना पर नगर आयुक्त, एडीएम सिटी, एसपी की अगुवाई में भारी फोर्स पहुंचने पर मामला शांत हुआ। नगर निगम की तरफ से पांच नामजद के अलावा 200 अज्ञात लोगों पर बलवा, सेवन क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट, तोडफोड़, पथराव आदि गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

ये भी पढ़ें- अब सरकारी राशन की दुकानों से राशन के अलावा मिलेगा पैसा भी, आदेश हुआ जारी

चमनंगज थाना क्षेत्र का मामला-
चमनगंज घोसियाना में चट्टे हटवाने के लिए महापौर प्रमिला पांडेय अपर नगर आयुक्त अरविंद राय, प्रवर्तन प्रभारी एके सिंह और कैटल कैचिंग विभाग प्रभारी डॉक्टर आशीष सिंह के साथ पहुंची थीं। महापौर दस्ते के वाहन चमनगंज थाने के पास खड़े करवाकर खुद गली के अंदर गईं। यहां चल रहे 5 चट्टों से महापौर ने 25 गाय समेत 15 भैंसे को पकड़ा और उन्हें कैटल वाहनों में बंद करा दिया।

ये भी पढ़ें- वाराणसी में मिली अमेरिका की नदी में पाई जाने वाली मछली, खा जाती है सभी छोटी मछलियों को, वैज्ञानिक चिंतित

एकाएक महिलाओं ने किया हमला-
महापौर की कार्रवाई से नाराज चट्टा संचालकों के अलावा स्थानीय महिलाओं ने एकाएक उन पर हमला बोल दिया। महापौर के साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें किसी तरह से सुरक्षित बाहर निकाला। कुछ देर के बाद गली से भीड़ बाहर आ गई और पथराव शुरू कर दिया। इस दौरान महापौर को भी पत्थर लगे। नगर निगम के तीन वाहन पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए।

सूचना पर पहुंची एसपी-
महापौर पर हमले की सूचना पर कई थानों की फोर्स के साथ एसपी वेस्ट डाॅक्टर अनिल कुमाार मौके पर पहुंचे और भीड़ को खदेड़ा। गुस्साई भीड़ भी आगे बढ़ते हुए चमनगंज थाने के पास पहुंच गई और उसे घेर लिया। मामला बिगड़ता देख महापौर ने डीएम आलोक तिवारी और नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी को सूचना दी। आलाधिकारियों ने किसी तरह से लोगों को शांत कराया।

ये भी पढ़ें- जिलाधिकारी को साथी अफसर ने ही बता दिया भ्रष्ट, बैठा धरने पर, हुआ निलंबित

इन्हें किया गया गिरफ्तार-
पुलिस ने महापौर और नगर निगम की टीम पर हमला करने वालों में से पांच उपद्रवियों को गिरफ्तार कर लिया। जिसमें आरोपित असगर अली, हासिक अली, मो. यामीन, नजीर अहमद, मंसूर अली शामिल हैं। पूरे प्रकरण की जानकारी होने पर शहरकाॅजी हाजी मोहम्मद कुद्दूस, पार्षद लियाकत अली चमनगंज थाने पहुंचे और पुलिस से बेगुनाह को नहीं छोड़ने की बात कही।

जारी रहेगा अभियान-
मामले पर महापौर ने कहा कि चट्टों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा। शाम सात बजे तक पंचायत के बाद नगर निगम की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। एसपी वेस्ट ने बताया कि नगर निगम कर्मी राजेंद्र प्रसाद मिश्र की तहरीर पर पांच नामजद व 200 अज्ञात लोगों पर बलवा, सरकारी कार्य में बाधा, दूसरों की जान जोखिम में डालना, तोडफोड़ पथराव, धमकी देने और नगर निकाय प्रदूषण की धारा-तीन के तहत मुक्दमा दर्ज किया गया है। पांच आरोपित पकड़े गए हैं।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned