scriptKanpur Violence Whatsapp use for Information Now Officers try Balance | कानपुर हिंसाः व्हाट्सएप के जरिए भेजी गईं सूचनाएं, अब अफसर क्या करना चाहतें हैं बैलेंस | Patrika News

कानपुर हिंसाः व्हाट्सएप के जरिए भेजी गईं सूचनाएं, अब अफसर क्या करना चाहतें हैं बैलेंस

Kanpur Violence New Update: कानपुर हिंसा को लेकर कई बड़े खुलासे हो रहे हैं। पता चला कि मामले को व्हाट्सएप के जरिए हवा दी गई।

कानपुर

Updated: June 04, 2022 06:27:59 pm

भाजपा नेत्री बयान के विरोध में किए गए बंदी के आह्वान पर हुए बवाल को पूरी सुनियोजित साजिश की तरह अंजाम दिया गया। इसलिए बंदी के पोस्टर 28 व्हाट्सएप नंबरों से खूब वायरल किए गए। यह नंबर सबसे ज्यादा कल्याणपुर के लोगों के नाम आठ आवंटित है। जिनसे सर्वाधिक पोस्टर ग्रुपों में फैलाए गए। अब इन सभी पोस्टर वायरल करने वालों की तलाश की जा रही है। इसी तरह बवाल भड़काने वालों पर भी प्रशासन की टीम लगातार निगरानी कर रही है।
Kanpur Violence Whatsapp use for Information Now Officers try
Kanpur Violence Whatsapp use for Information Now Officers try
पोस्टर छापने वाले को तलाशा जा रहा

सीएम ने पोस्टर वायरल और छापने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया है। ऐसे में प्रशासन पोस्टर छापने वालों को तलाशने में जुटा है। बेकनगंज, चमनगंज और अनवरगंज थानाक्षेत्र के दो दर्जन प्रिंटिंग प्रेस संचालकों को चिन्हित किया गया है। अब उनसे पूछताछ करने की तैयारी है। जिससे पोस्टर छापने वालों को पकड़ा जा सके। मोबाइल नंबर वालों से भी बातचीत की जा रही है। आखिरकार उन्होंने क्यो इतने पोस्टरों को वायरल किया।
यह भी पढ़ें

कानपुर हिंसाः डीएम एसपी ने आस-पास जिलों की पुलिस को किया अलर्ट, खुद फोर्स के साथ पैदल मार्च



बैलेंस करने में लगे हैं अफसर

नई सड़क पर हुए बवाल में पुलिस-प्रशासन की तरफ से तीन रिपोर्ट भेजी गई हैं। इनके जरिए अफसर बैलेंस करने में भी लगे हैं। शासन की तरफ से इंटेलीजेंस फेल को लेकर भी जानकारी मांगी गई थी। बताया गया है कि उपद्रव की नींव तब रखी गई थी जब भाजपा नेत्री नूपुर शर्मा की विवादित टिप्पणी से सोशल मीडिया पर हंगामा हुआ था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को सख्त से सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। सीएम कार्यालय से सवाल पूछा गया है कि इंटेलीजेंस फेल होने के पीछे क्या कारण रहे, उपद्रवियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई और इसे कैसे आगे बढ़ाया जाएगा।
वीवीआईपी मूवमेंट के बारे में जानते थे उपद्रवी

अफसरों ने रिपोर्ट में कहा है कि सिर्फ व्यापारिक प्रतिष्ठानों को बंद कराने के पर्चे बांटे गए थे। षड्यंत्रकारी ने बवाल की पूरी योजना बना रखी थी। उन्हें पता था कि वीवीआईपी मूवमेंट होने के कारण अधिकतर फोर्स वहीं व्यस्त रहेगी। जुमे की नमाज के बाद 10 मिनट में ही पूरा हुजूम इकट्ठा हुआ और पथराव, बमबाजी और गोलीबारी कर दी। रिपोर्ट में बताया गया है कि 20 मिनट में पर्याप्त संख्या में फोर्स पहुंच गई और उपद्रवियों को खदेड़ना शुरू कर दिया गया था। दूसरी रिपोर्ट में देर रात दर्ज हुई एफआईआर में नामजद आरोपित और धाराओं के बारे में जानकारी दी गई। तीसरी रिपोर्ट में गैंगस्टर, संपत्ति जब्तीकरण और बुलडोजर चलवाने से संबंधित प्रस्तावित कार्रवाई की बात है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने रिपोर्ट में इंटेलीजेंस को पूरी तरह फेल होना स्वीकार नहीं किया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar Political Crisis Live Updates: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, 160 विधायकों के साथ नई सरकार बनाने का दावा किया पेशBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, अब महागठबंधन के साथ बनाएंगे सरकारBihar Political Crisis: नीतीश कुमार ने इस्तीफा सौंपने के बाद कहा - 'बीजेपी के साथ एक नहीं कई दिक्कतें थीं''मुफ्त रेवड़ी' कल्चर के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट पहुंची आम आदमी पार्टी, कहा- PM मोदी ने 'दोस्तवाद' के लिए खाली किया देश का खजानाMaharashtra Cabinet Expansion: कौन है सीएम शिंदे की नई टीम में शामिल 18 मंत्री? तीन पर लगे है गंभीर आरोपMaharashtra: सीएम एकनाथ शिंदे अपनी ‘मिनी’ टीम का सितंबर में करेंगे विस्तार, सामने आई यह बड़ी अपडेटगुजरात के जामनगर में मुहर्रम पर बड़ा हादसा, ताजिया जुलूस में करंट लगने से दो की मौत, कई घायललालू-नीतीश की दोस्ती से ढह जाते हैं सारे समीकरण, जानिए फिर कैसे कम हुई दोनों के बीच दूरियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.