कलक्टर को मान बैठे आखरी उम्मीद, उन के साथ कलक्टर ने किया ये

जिला स्तरीय जनसुनवाई में आए 102 मामले आए। परेशान लोगों ने कलक्टर से कहा: साहब! चक्कर लगाते-लगाते कर थक गए।

By: ritu shrivastav

Published: 10 Nov 2017, 02:57 PM IST

सा'ब अधिकारियों व विभागों के चक्कर लगा लगाकर थक गए लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही। राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई और न ही आरटीआई से जानकारी दी जा रही है। अब आप ही बताएं जाएं तो जाएं कहां। आखिरी उम्मीद के साथ आपके यहां आए। कुछ इसी अंदाज में गुरुवार को कई बुजुर्ग व परेशान लोग जिला कलक्टर के सामने अपनी फरियाद लेकर पहुंचे। इनमें से कुछ का तो मौके पर ही समाधान हो गया, जबकि कुछ मामलों में कार्यवाही का आश्वासन दिया गया। जिला स्तरीय जनसुनवाई गुरूवार को जिला कलक्टर रोहित गुप्ता की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट परिसर स्थित अटल सेवा केन्द्र में हुई। इसमें 102 मामले आए। अधिकतर जमीन पर कब्जे, पेंशन और ग्रामीण क्षेत्रों के थे।

Read More:किसानों की समस्‍या पर बोले मंत्री: मेरे पास जादू का डंडा नहीं, जाे घुमा दूं

नहीं दे रहे खातेदारी

कुराड़ निवासी गिर्राज गोयल ने बताया कि उसने 1985 में जमीन खरीदी थी। रजिस्ट्री भी है लेकिन उन्हें जमीन की खतेदारी नहीं दी जा रही। वे सभी जगह पर चक्कर लगाकर थक गए। राज्यपाल व राजस्व मंत्री तक से लिखित में ले आए लेकिन फिर भी काम नहीं हो रहा। जनसुनवाई में भी कलक्टर ने उन्हें इस संबंध में अदालत में जाने की बात कहकर टाल दिया। अभयपुरा निवासी मोहन सिंह ने बताया कि वह 4 साल से 5 बीघा जमीन अपने नाम करवाने के लिए चक्कर लगा रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। जनसुनवाई में भी उन्हें कोई राहत नहीं मिली।

Read More: मरीजों के मसीहा बन डॉक्‍टर्स के खिलाफ खड़े हुए दूधवाले बोले इलाज नहीं तो दूध नहीं

नहीं कर रहे दुकान खाली

तलवंडी निवासी सुमन मठसिहला ने बताया कि उन्होंने काफी समय पहले सहकारी उपभोक्ता भंडार के लिए अपनी दुकान किराए पर दी थी। लेकिन, पिता के निधन के बाद वे करीब दो साल से दुकान खाली करवाना चाह रहे हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही। कलक्टर ने संबंधित विभाग के अधिकारी को जमकर लताड़ सुनाई। उन्होंने यहां तक कहा कि यदि कोई आपके मकान पर कब्जा कर ले तो कैसा लगेगा। कलक्टर ने विभागीय अधिकारी को चार्जशीट तक के आदेश दे दिया।

Read More: किसानों पर ऐसे पड़ी 'जादू के डंडे' की मार

इन्हें मिली राहत

रोटेदा रोड निवासी कक्षा तीसरी के छात्र कुलदीप की एक आंख से दृष्टिबाधित होने के कारण उसके आधार कार्ड पंजीयन में परेशानी आ रही थी। वह कई ई मित्रों के चक्कर काट आया था। उसने जनसुनवाई मेंअपनी पीड़ा बताई तो कलक्टर ने मौके पर ही आधार पंजीयन करवाकर राहत प्रदान की। श्रीनाथपुरम निवासी राजेश(60) पत्नी किशन गोपाल ने किसी भी तरह की पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की। कलक्टर ने इनकी वृद्धावस्था पेंशन का आवेदन भरवाकर स्वीकृत करने के निर्देश दिए।

Show More
ritu shrivastav
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned