व्यापारी हो जाएं सावधान! डीलरशिप देने के नाम पर राजस्थान समेत कईं राज्यो में हो रही है धोखाधड़ी

abhishek jain

Publish: Oct, 12 2017 09:54:09 (IST)

Kota, Rajasthan, India
व्यापारी हो जाएं सावधान! डीलरशिप देने के नाम पर राजस्थान समेत कईं राज्यो में हो रही है धोखाधड़ी

कोटा. व्यापारी को भवन निर्माण सामग्री की डीलरशिप देने के नाम पर 34 लाख रुपए हड़पने के आरोपित को पुलिस बुधवार रात दिल्ली से गिरफ्तार कर कोटा लाई।

कोटा . व्यापारी को भवन निर्माण सामग्री की डीलरशिप देने के नाम पर 34 लाख रुपए हड़पने के आरोपित को गुमानपुरा पुलिस बुधवार रात दिल्ली से गिरफ्तार कर कोटा लाई। उसे गुरुवार को अदालत में पेश किया, जहां से 26 अक्टूबर तक जेल भेज दिया।

 

Read More: मकान मालिक हो जाएं सतर्क, किरायेदार ने दी जान से मारने की धमकी, मकान मालिक ने गवांई जान

 

थाने के एएसआई व अनुसंधान अधिकारी बाबूलाल ने बताया कि महावीर नगर प्रथम निवासी व्यापारी निर्मल कुमार जैन ने रिपोर्ट दी थी। इसमें बताया था कि उनका कार्यालय वल्लभबाड़ी में है। करीब एक साल पहले डीपीएल पेंट्स प्राइवेट लिमिटेड नई दिल्ली के निदेशक सुमित गौतम से उनका सम्पर्क हुआ। उन्होंने अपने प्रतिनिधियों के जरिए उनसे कोटा में पेंट्स, सफेद सीमेंट, पुट्टी समेत अन्य सामग्री की डीलरशिप देने का एग्रीमेंट किया। इसके लिए गोदाम तलाशने को कहा था, इसका किराया भी उन्हें ही देना था।

 

Read More: घर में घुसकर मां-बाप पर फेंका पत्थर, जाग हुई तो 3 वर्षीय मासूम को कुएं में फेंक मार ड़ाला, फैली सनसनी

 

एग्रीमेंट के हिसाब से उन्होंने कम्पनी के खाते में 34 लाख रुपए जमा करवा दिए। गौतम ने उन्हें माल भी भेज दिया। माल कम्पनी के प्रतिनिधियों के जरिए बेचना शुरू किया, लेकिन खराब व घटिया क्वालिटी का होने से लोगों ने माल खरीदा ही नहीं। इस बारे में जब सुमित गौतम से शिकायत की तो उसने यहां आकर देखने व दूसरा माल भेजने को कहा, लेकिन न तो उसने माल भेजा, न ही वह आया। उसके प्रतिनिधि भी गायब हो गए।

इसके बाद वे दिल्ली उससे मिलने गए तो वह मिलने से भी आनाकानी करने लगा। इस रिपोर्ट पर सुमित गौतम व उसकी टीम के खिलाफ 25 जुलाई को धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था।

 

Read More: डॉ. अग्रवाल नहीं रहे, घर में मिला 3 दिन पुराना शव, संदिग्ध अवस्था में मौत का मामला दर्ज

5 दिन की तलाश के बाद मिला
बाबूलाल ने बताया कि सुमित की तलाश के लिए वे दिल्ली गए थे। वहां उसने अपना कार्यालय व मकान तक बदल लिया। 5 दिन की तलाश के बाद वह मिला। पूछताछ के बाद उसे गिरफ्तार किया।

 

Read More: मिनी धनतेरस: 13 अक्टू‍बर को खरीददारी का महायोग, जानिए शुभ मुहुर्त

 

 

दूसरे राज्यों में भी की धोखाधड़ी

एएसआई ने बताया किसुमित ने कोटा ही नहीं राज्य के अन्य व्यापारियों से करीब 60 लाख की धोखाधड़ी की है। उसके खिलाफ बिहार, ओडीशा, झारखंड व रांची में भी धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned