लम्बी सुनवाई के बाद पत्नियों को मिला पति की मौत का मुआवजा

ritu shrivastav

Publish: Dec, 07 2017 03:56:06 (IST)

Kota, Rajasthan, India
लम्बी सुनवाई के बाद पत्नियों को मिला पति की मौत का मुआवजा

पौने चार साल चली सुनवाई के बाद शिक्षक और साथी की मौत के मामला में दोनों की पत्नियों को दिया 72.83 लाख रुपए क्लेम।

कोटा . कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र में करीब पौने चार साल पहले ट्रक की टक्कर से हुई एक शिक्षक समेत दो जनों की मौत के मामले में मोटर वाहन दुर्घटना दावा अधिकरण न्यायालय ने बुधवार को दोनों परिवारों को 72.83 लाख रुपए का क्लेम पास किया है।

Read More: कहीं आपको सेवा देने वाला ई-मित्र फर्जी तो नहीं, माेबाइल एप से करें इसका पता

तेजगति से आए ट्रक ने बाइक को मारी थी टक्कर

सुल्तानपुर निवासी भगवती शर्मा पत्नी नाथूलाल शर्मा और अमरपुरा निवासी श्यामा धाकड़ पत्नी हेमराज धाकड़ ने 10 जून 2014 को ट्रक चालक चंडीगढ़ निवासी सतपाल गौतम, ट्रक मालिक रविन्द्र सिंह व बीमा कम्पनी इफको टोक्यो जनरल इन्श्योरेंस कम्पनी चंडीगढ़ के खिलाफ अदालत में दावा पेश किया था। जिसमें कहा था कि नाथूलाल शर्मा सुल्तानपुर स्थित पारलिया के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में वरिष्ठ अध्यापक के पद पर और हेमराज धाकड़ खंडेलवाल कृषि सेवा केन्द्र में चालक के पद पर कार्यरत थे। ये दोनों 15 फरवरी 2014 को सुबह बाइक से कोटा से बूंदी की तरफ जा रहे थे। जैसे ही ये बूंदी रोड पर रेलवे ओवरब्रिज के पास पहुंचे वैसे ही पीछे से तेजगति से आए ट्रक ने उनकी बाइक के टक्कर मार दी। जिससे दोनों गिरे और ट्रक के पहिए के नीचे कुचलने से उनकी मौत हो गई। बाइक हेमराज चला रहे थे। इस मामले में कुन्हाड़ी पुलिस ने मुकदमा भी दर्ज किया था।

Read More: बुजुर्ग महिला के पर्स में था ये कीमती सामान, भनक लगते ही पर्स ले उड़ा चाेर

पौने चार साल चली सुनवाई

एमएसीटी क्रम एक अदालत में करीब पौने चार साल चली सुनवाई के दौरान ट्रक चालक व मालिक और बीमा कम्पनी की ओर से जवाब पेश किए गए। सभी पक्षों को सुनने के बाद न्यायाधीश राघवेन्द्र काछवाल ने ट्रक चालक, मालिक व बीमा कम्पनी को दोषी मानते हुए आदेश दिया कि वे भगवती को 60 लाख 50 हजार 414 रुपए और श्यामा को 12 लाख 33 हजार 338 रुपए क्लेम देंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned