सीएए के विरोध के बीच जेफ बेजोस का बड़ा बयान, भारत की होगी 21वीं सदी

  • अमेजन एसएमबी को डिजिटल बनाने के लिए एक अरब डॉलर का करेंगे निवेश
  • कंपनी 2025 तक 10 अरब डॉलर मूल्य के भारतीय वस्तुओं का निर्यात करेगी

Saurabh Sharma

January, 1504:46 PM

नई दिल्ली। सिटीजन अमेंडमेंट एक्ट 2019 ( Citizen amendment act ) पर सिर्फ देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर की बड़ी कंपनियों के मालिकों और टॉप मैनेजमेंट की भी है। अब उनकी भी प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है। जहां माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ और भारतीय मूल के सत्या नडेला ने सीएए ( CAA ) पर अपनी नकारात्मक प्रतिक्रिया दी है। वहीं अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस ने सीएए के विरोध के बीच 21वीं सदी को भारत का बताया है। जेफ बेजोस का बयान कई मामलों में अहम बताया है। मौजूदा समय में भारत और भारत की सरकार अपने ही देशवासियों का विरोध झेल रही है। वहीं दूसरी ओर देश की अर्थव्यवस्था में लगातार गिरावट भी देखने को मिल रही है।

यह भी पढ़ेंः- जब मिराज ने उड़ा दिए थे पाकिस्तान के होश, जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को कर दिया था नेस्तानाबूत

भारत की होगी 21वीं सदी
छोटे व मध्यम व्यवसायों (एसएमबी) के लिए बड़े निवेश की घोषणा करते हुए अमेजन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जेफ बेजोस ने बुधवार को कहा कि 21वीं सदी भारत की सदी होगी। यहां अमेजन संभव कार्यक्रम में बेजोस ने घोषणा की कि अमेजन एसएमबी को डिजिटल बनाने के लिए देश में एक अरब डॉलर का निवेश करेगा।

यह भी पढ़ेंः- सेंसेक्स 200 अंकों से ज्यादा फिसला, निफ्टी 12300 अंकों से नीचे आया

10 अरब डॉलर के भारतीय वस्तुओं का निर्यात करेगी
उन्होंने यह भी कहा कि ई-कॉमर्स कंपनी अपनी वैश्विक पहचान का इस्तेमाल भारत में बने सामानों के निर्यात के लिए करेगी। कंपनी 2025 तक 10 अरब डॉलर मूल्य के भारतीय वस्तुओं का निर्यात करेगी। उन्होंने कहा, "मेरा मानना है कि 21वीं सदी भारतीय सदी होने जा रही है।" उन्होंने कहा कि गतिशीलता के अलावा भारत का लोकतंत्र, इसकी एक प्रमुख विशेषता है।

यह भी पढ़ेंः- आज से शुरू हुई गोल्ड ज्वेलरी पर हॉलमार्किंग अनिवार्य की प्रक्रिया, साल के बाद होगी जेल

21वीं सदी अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षीय संबंधों की होगी
उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन के संदर्भ में 21वीं सदी अमेरिका और भारत के बीच द्विपक्षीय संबंधों की होगी। बेजोस की भारत यात्रा ऐसे महत्वपूर्ण समय में हो रही है, जब भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग ने ई-कॉमर्स की बड़ी कंपनियों अमेजन और फ्लिपकार्ट के व्यापारिक कार्यों की जांच के आदेश दिए हैं।

यह भी पढ़ेंः- देश में 18 हजार टन प्याज का स्टॉक सड़ा, राज्यों ने सिर्फ 2000 टन खरीदा

सत्य नडेला की आई थी नकारात्मक प्रतिक्रिया
माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) पर अपनी राय जाहिर करते हुए कहा है कि भारत में यह सब जो हो रहा है, वह बुरा है। सोमवार को मैनहट्टन में संपादकों से बातचीत में उन्होंने कहा कि वह किसी अप्रवासी या शरणार्थी को भारत में आकर कोई स्टार्टअप खोलते देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि जो कुछ भी हो रहा है वह दुखद है..यह बुरा है..मैं भारत आने वाले एक बांग्लादेशी शरणार्थी को भारत में अगला यूनिकॉर्न बनाने या इंफोसिस का अगला सीईओ बनते देखना चाहूंगा।"

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned