जियो को लेकर मुकेश अंबानी का बड़ा बयान, कहा अब हिंदी में भी होंगी सभी सेवाएं

  • मैग्नीफिसेंट एमपी में मुकेश अंबानी ने वीडियो संदेश में की घोषणा
  • आरआईएल की बोर्ड बैठक होने की वजह से कार्यक्रम में नहीं ले सके हिस्सा
  • कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे देश और दुनिया के 900 उद्योगों के प्रतिनिधि

Saurabh Sharma

October, 1801:55 PM

कॉर्पोरेट

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा है कि जियो की सभी सेवाएं हिंदी में भी उपलब्ध होंगी। इंदौर में शुक्रवार को आयोजित मैग्नीफिसेंट एमपी में मुकेश अंबानी आज अपनी कंपनी के बोर्ड की बैठक होने के कारण नहीं पहुंच सके। उन्होंने अपने वीडियो संदेश में कहा, "मध्यप्रदेश न केवल भारत के मध्य में विराजमान है लेकिन भारत के मन में भी विराजमान है, मध्यप्रदेश महान है, और सच कहूं तो मध्यप्रदेश मेरा भी है।"

यह भी पढ़ेंः- रियल एस्टेट सेक्टर पर मंदी की मार, पिछले साल के मुकाबले 25 फीसदी घटी मकानों की बिक्री

राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ की कार्यशैली की सराहना करते हुए अंबानी ने कहा, "मैं व्यक्तिगत रूप से इस आयोजन में हिस्सा लेना चाहता था, मगर बोर्ड की बैठक होने के कारण फिजिकली तौर पर उपस्थित नहीं हो सका। पिछले दिनों मुंबई में मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाकात हुई थी, जिसमें मैं उनके मध्य प्रदेश में बदलाव लाने के विजन और डिटर्मिनेशन से काफी प्रभावित हुआ।" अंबानी ने इस मौके पर ऐलान किया, "मुझे यह बताते हुए खुशी होती है कि जियो की सभी सेवाएं हिंदी में भी उपलब्ध होंगी।"

यह भी पढ़ेंः- इन 5 बातों की वजह से आधा रह जाता है बाइक का माइलेज, कहीं आप भी तो नहीं करते

मैग्नीफिसेंट एमपी के लिए ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर को भव्य व आकर्षक रूप दिया गया है। इस आयोजन में देश और दुनिया के 900 उद्योगों के प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं। इस मौके पर एक लाख करोड़ तक के करार होने की संभावना जताई जा रही है। इससे दो लाख युवाओं को रोजगार मिलेगा। उद्घाटन के मौके पर रंगारग कार्यक्रम भी हुए।

यह भी पढ़ेंः- सस्ती Kwid नहीं बल्कि ये 7 सीटर है लोगों की फेवरेट, ये रहा सुबूत

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, इस आयोजन में दिन भर विभिन्न सत्र चलेंगे, जिनमें देश के नामचीन उद्योगपति अपने अनुभवों को साझा करने वाले हैं। साथ ही राज्य सरकार की ओर से निवेश के लिए दी जाने वाली सुविधाओं से भी उन्हें अवगत कराया जाएगा। इस मौके पर करार भी होंगे। कई देशों ने भी निवेश के प्रस्ताव दिए हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned