Birthday Special : मुकेश अंबानी की जिंदगी के वो किस्से जिनके बारे में नहीं जानते होंगे आप

  • देश के नामी उद्योगपतियों में से एक मुकेश अंबानी का आज यानी 19 अप्रैल को 62वां जन्मदिन है
  • मुकेश अंबानी 19 अप्रैल 1957 में अरब देश अदन में पैदा हुए थे
  • इस समय मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर आदमी हैं

By: Shivani Sharma

Published: 19 Apr 2019, 07:20 AM IST

नई दिल्‍ली। दौलत और शौहरत कमाने का ख्वाब हर कोई देखता है, लेकिन कुछ गिने चुने लोग ही इस कामयाबी को हासिल कर पाते हैं। उनमें से ही एक हैं रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी। देश के नामी उद्योगपतियों में से एक मुकेश अंबानी का आज यानी 19 अप्रैल को 62वां जन्मदिन है। मुकेश अंबानी 19 अप्रैल 1957 में अरब देश अदन में पैदा हुए थे। इस समय मुकेश अंबानी एशिया के सबसे अमीर आदमी हैं और सबसे अमीर आदमी बनने का श्रेय मुकेश हमेशा अपने पिता धीरूभाई अंबानी को देते हैं। आज मुकेश अंबानी के जन्मदिन पर हम आपको उनके बारे में कुछ रोचक बाते बताते हैंः


हमेशा से पढ़ाई में थे तेज

मुकेश अंबानी बचपन से ही पढ़ाई-लिखाई में बहुत तेज़ थे और उन्हें पढ़ने का हमेशा से ही शौक था। वो कहते हैं कि उनका मकसद कभी ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाना नहीं बल्कि चैलेंज लेना रहा है। इसके अलावा मुकेश को विज्ञान और टेक्नोलॉजी में काफी दिलचस्पी थी। इसके अलावा उनको हमेशा से ही चैरिटी करने का भी शौक रहा है। 2016 के आंकड़ों के मुताबिक उन्होंने 303 करोड़ रुपयों का दान किया है। इसके अलावा हाल ही में हुए पुलवामा हमले में भी उन्होंने ये एलान किया कि वह शहीदों के परिवारों की हर तरह से मदद करेंगे।


जनरल नॉलेज बढ़ाने के लिए रखा था टीचर

बचपन में धीरूभाई अंबानी ने कई लोगों का इंटरव्यू लेने के बाद अपने बच्चों के लिए एक टीचर रखा था और यह टीचर उन लोगों की सिर्फ जनरल नॉलेज बढ़ाने के लिए रखा गया था। वो 2 घंटे आकर उन्हें मूवीज, मैगजीन, न्यूज पेपर से ज्ञान देने के अलावा हॉकी, फुटबॉल जैसे खेल भी खिलाते थे। मुकेश बताते हैं कि वो हर साल 10-15 दिन किसी गांव में कैम्पिंग करने जाया करते थे।


दि ग्रेजुएट से जगी थी केमिकल इंजीनियरिंग की रुचि

मुकेश बताते ने लोगों को बताया कि उनकी केमिकल इंजीनियरिंग करने की इच्छा ‘दि ग्रेजुएट’ फिल्म से जगी थी। यह फिल्म बहुत ही फेमस थी। इस फिल्म में भी पॉलीमर्स और प्लास्टिक पर बात हुई थी। रिलायंस में उन्होंने कॉलेज टाइम से ही काम करना शुरू कर दिया था। मुकेश का IIT बॉम्बे में भी सलेक्शन ह गया था, लेकिन उन्होंने उसको छोड़कर टॉप केमिकल इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट UDCT जॉइन कर लिया।


खाने में पसंद है साउथ इंडियन

गुजराती मुकेश अंबानी को खाने में साउथ इंडियन फूड बहुत पसंद है। मुंबई के माटुंगा स्थित मैसूर कैफे का इडली-सांभर उनका फेवरिट है और वह वहां आज भी जाते रहते हैं। वह वहां के खाने के दीवाने हैं। मुकेश की शादी नीता अंबानी से 1985 में हुई थी। वह इस समय रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन हैं। इसके अलावा आपको बता दें कि वह पहली ऐसी भारतीय महिला जो अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ की मेंबर हैं।


जियो देश में लेकर आया क्रांति

इसके साथ ही मुकेश अंबानी का जियो हमारे देश में नई डिजिटल क्रांति लेकर आया है। जियों के कारण देश की सारी टेलिकॉम कंपनियां परेशान हैं। मुकेश ने महज 6 महीनों में टेलीकॉम बिज़नेस के 12 फीसदी हिस्से पर कब्ज़ा कर लिया था। ऐसी क्रांति की शुरुआत की जिसके बारे में किसी ने सोचा भी नहीं होगा। मुकेश अंबानी के पास दुनिया की सबसे ज्यादा क्षमता वाली पेट्रोलियम रिफाइनरी है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
Shivani Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned