यूपी में फिर मजबूती से खड़ी होगी कांग्रेस, प्रियंका गांधी ने तैयार किया मास्टर प्लान

यूपी में फिर मजबूती से खड़ी होगी कांग्रेस, प्रियंका गांधी ने तैयार किया मास्टर प्लान

Hariom Dwivedi | Updated: 15 Jul 2019, 05:31:11 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- यूपी कांग्रेस में होगा बड़ा फेरबदल, इन चेहरों पर दाव लगाने जा रही हैं Priyanka Gandhi
- Congress Mahasachiv Priyanka Gandhi ने अपने सचिवों संग की बैठक
- UP Vidhansabha Upchunav 2019 के लिए कांग्रेस ने बनाई खास रणनीति
- प्रियंका बनी रहेंगी महासचिव, यूपी में इनका बढ़ेगा कद
- उपचुनावों को मजबूती के साथ लड़ने के लिए किसानों पर नजर

लखनऊ. लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Chunav 2019) में मिली हार को भुलाकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) यूपी में कांग्रेस (Congress) को दोबारा खड़ा करने कवायद में जुट गई हैं। इससे एक बात साफ हो गयी है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भले ही अपने पद से इस्तीफा दे दिया हो लेकिन प्रियंका गांधी न केवल कांग्रेस महासचिव बनी रहेंगी बल्कि यूपी में उनका कद और बढ़ेगा। सोमवार को कांग्रेस महासचिव ने अपने तीन सचिवों जुबैर खान, सचिन नायक और बाजीराव खाडे के साथ बैठक कर उप्र में कांग्रेस की अंदरूनी हालत को दुरुस्त करने और जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने पर चर्चा की। प्रियंका की इस बैठक के बाद तय हो गया है कि अब उन्हें सिर्फ पूर्वी उप्र तक ही सीमित नहीं रखा जाएगा बल्कि उन्हें समूचे उप्र में कांग्रेस को मजबूत करने की जिम्मेदारी मिलने वाली है।

संगठन में 40 साल से कम उम्र वालों को तरजीह
प्रियंका गांधी ने सोमवार को यूपी में पार्टी संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ उपचुनाव (UP Vidhansabha Upchunav 2019) की रणनीति पर भी चर्चा की। उन्होंने अपने तीनों सचिवों से संगठन में 40 वर्ष से कम उम्र के लोगों को तरजीह देने की बात कही। युवा ब्रिगेड के साथ ही प्रियंका गांधी की नजर किसान नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और छात्र नेताओं पर भी है। ओबीसी और एससी समुदाय के जनाधार वाले नेताओं को कांग्रेस संगठन में जोडऩे और अहमियत देने का प्लान बनाया गया है। गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस की सभी जिला कमेटियों को भंग कर दिया गया था। संगठनात्मक बदलाव के लिए विधानमंडल दल के नेता अजय सिंह लल्लू को प्रभारी नियुक्त किया गया है।

यह भी पढ़ें : ...तो कांग्रेसियों ने ही प्रिंयका गांधी की डुबोई नैया? यूपी की 35 सीटों को लेकर सामने आई यह बात


उपचुनाव की सीटों के लिए अलग प्रभारी
उपचुनाव वाली सभी सीटों पर कांग्रेस एक-एक प्रभारी बनाएगी, जो सीधे ब्लॉक, सेक्टर और बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं से बेहतर प्रत्याशियों का फीडबैक लेंगे। इसकी रिपोर्ट के आधार पर ही कांग्रेस अपना कैंडिडेट तय करेगी। उल्लेखनीय है कि सांसदों के विधायक बनने के बाद विधानसभा की 11 सीटें रिक्त हुई हैं। इसके अलावा एक सीट हमीरपुर सीट के बीजेपी विधायक को उम्रकैद की सजा हो जाने के बाद खाली हुई हैं, जिन पर उपचुनाव होना है।

यूपी की प्रभारी बनने से कार्यकर्ताओं में उत्साह
लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Chunav 2019) से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi) पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी बनाई गई थीं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास थी। लेकिन, लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेेते हुए सिंधिया ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद प्रियंका गांधी पूरे यूपी के प्रभारी के रूप में काम कर रही हैं। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता अंशू अवस्थी का कहना है कि प्रियंका गांधी यूपी के प्रभारी के रूप में कार्य देख रही हैं। उनकी बैठकों से कार्यकर्ताओं में उत्साह है।

यह भी पढ़ें : बसपा ही नहीं परिवारवाद के मोह में फंसी हैं यूपी की सभी क्षेत्रीय पार्टियां

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned