scriptHow Ants Fallen Sick And How Cure Themselves | क्या आप भी जानते हैं चीटियां भी होती हैं बीमार, जानिए कैसे करती हैं अपना इलाज | Patrika News

क्या आप भी जानते हैं चीटियां भी होती हैं बीमार, जानिए कैसे करती हैं अपना इलाज

Ant Fallen Sick: क्या आपने कभी सोचा है कि चींटियां भी बीमार पड़ सकती हैं। अगर नहीं तो, हम आपको बताते हैं कि चींटिया बीमार पड़ती हैं। बीमारी पर अपना इलाज भी खुद करती हैं। इस पर वैज्ञानिकों ने शोध करके चींटियों की बीमारी की पता लगाया है।

लखनऊ

Updated: April 11, 2022 12:38:14 pm

जिस तरह इंसान बीमार होता है, उसी तरह जानवर भी बीमार होते हैं। तमाम तरह की संक्रमित बीमारियां हो जाती हैं। लेकिन इंसान और जानवर मात्र ऐसे प्राणी नहीं है जिनको संक्रमण की बीमारियां होती हैं। बल्कि संक्रामक बीमारियों का चींटियों (Ants) को भी सामना करना पड़ता है। चीटियां भी कई तरह की बीमारियों से जूझती हैं। खास बात ये है कि चीटियां बीमार होने के बाद अपना इलाज भी खुद से ही करती हैं। ऐसा हम नहीं बल्कि विशेषज्ञों द्वारा की गई एक रिसर्च के मुताबिक ये तथ्य सामने आया।
How Ants Fallen Sick And How Cure Themselves
How Ants Fallen Sick And How Cure Themselves
दरअसल, चींटियां सामाजिक प्राणी हैं। वो बड़े समूह बनाकर रहती हैं, एक-दूसरे से लगातार बातचीत और एक दूसरे को स्पर्श करती हैं। ताकि उनकी दुनिया में सारा काम सही से चलता रहे। इस दौरान वो एक-दूसरे के काफी करीब से संपर्क में आती हैं। ऐसे में अगर कोई चींटी संक्रमित हो गई, तो उससे दूसरी चींटियां भी संक्रमित हो जाती है। मगर सवाल ये है कि आख़िर चींटियां संक्रमित होती कैसे हैं और बीमार पड़ने के बाद वो अपना इलाज कैसे करती हैं?
यह भी पढ़ें

शस्त्रों के हैं शौकीन तो माउजर, पिस्टल और रिवॉल्वर में जान लीजिए क्या है फर्क

ऐसे होती हैं चीटियां बीमार

वैज्ञनिकों ने चीटियों की बीमारी पर रिसर्च किया। रिसर्च में ये बात सामने आई है कि चीटियां भी बीमार पड़ती हैं। इसके पीछे वजह होता है बेवेरिया बेसियाना (Beauveria bassiana) नाम का फंगस। इसे छूने पर चीटियां संक्रमित हो जाती हैं। इतना ही नहीं, ये फंगस इनके शरीर के अंदर पहुंच जाता है। इसके बाद चीटियां सुस्त और बीमार हो जाती हैं।
बीमार पड़ने पर चींटियां कैसे करती हैं इलाज?

सबसे पहले तो चीटियां सोशल डिस्टेंसिंग अपना लेती हैं। ये ताज्जुब की बात है, मगर सच है। बता दें फंगस के संपर्क में आने के बाद चींटियों का व्यवहार बदल जाता है। बीमार चींटियां अपने साथियों से दूर रहने लगती हैं, ताकि दूसरी चींटियां संक्रमित न हों। फिर वो अपने इंफेक्शन को दूर करने के लिए एक केमिकल की तलाश करती हैं। इस केमकल का नाम है हाइड्रोजन परॉक्‍साइड । इसी केमिकल को पीकर चींटियां अपना इलाज कर सकती हैं। ये केमिकल चींटियों को या तो फूलों के रस से या फिर हनी ड्यू से मिलता है। चींटिंयों को ये खाना पसंद भी आता है।
यह भी पढ़ें

सूनी पगडंडियों में संघर्षों से मिला देश को सोना, गोविंद ने इंटरनेशनल बाक्सिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

antt.jpgवैज्ञानिकों ने किया साबित

विदेशी वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में इस बात को साबित भी किया है। दरअसल, वैज्ञानिकों ने बीमार और स्वस्थ चींटियों को शहद के पीने और हाइड्रोजन पेरोक्साइड मिले शहद के पानी के बीच विकल्प दिया, तो पाया कि बीमार चींटियों ने केमिकर वाला शहद पिया, जबकि हेल्दी चींटियों ने सादा शहद पिया। केमिकल पीने वाली चींटियां जल्द ही ठीक भी हो गईं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Azam Khan Release: दो साल बाद जेल से रिहा हुए आजम खान, दोनों बेटों ने किया रिसीव, शिवपाल भी पहुंचेGyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी में शिवलिंग के दावे के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंJammu Kashmir: रामबन में जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढहा, 7 लोग फंसे, रेस्क्यू ऑपरेशन जारीभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक: नड्डा ने दिया एकजुटता का संदेश, आज पीएम मोदी बताएंगे जीत का फॉर्मूलाGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.