scriptIndian Railway New guideline middle berth train passengers sleep Know | Indian Railway : ट्रेन में मिडिल बर्थ पर सोने के लिए है खास नियम, जानें रेलवे का नया नियम | Patrika News

Indian Railway : ट्रेन में मिडिल बर्थ पर सोने के लिए है खास नियम, जानें रेलवे का नया नियम

Train Middle Berth Guideline यात्रा में ज्यादातर समय कुछ ऐसे यात्री होते हैं जो निचली बर्थ में यात्रा कर रहे होते हैं और रात के 10 बजे के बाद सोने की बात करते हैं। ऐसे में मिडिल बर्थ में आरक्षित यात्रियों को न केवल उनके इंतजार में उठना पड़ता है, बल्कि उनकी दया का भी इंतजार करना पड़ता है। जानें मिडिल बर्थ गाइडलाइन आखिरकार क्या है?

लखनऊ

Published: March 31, 2022 09:13:13 pm

Indian Railways ट्रेन यात्रा के वक्त कभी कभी बहुत ही संकट में पड़ जाते हैं। ट्रेन में रिजर्वेशन करने पर आपको मिडिल बर्थ मिल जाती है। उस वक्त आप बेहद संकोच में आ जाते हैं कि अपनी बर्थ को खोलकर सोएं या नहीं। तो रेलवे ने आप के लिए जो गाइडलाइन जारी की है, उसका पालन करें। मतलब मिडिल बर्थ गाइडलाइन के अनुसार काम करें तो कोई भी आपको टोक नहीं सकेगा। जानें मिडिल बर्थ गाइडलाइन आखिरकार क्या है?
Indian Railway : ट्रेन में मिडिल बर्थ कब खोलकर सो सकते हैं, जानें रेलवे के नए नियम
Indian Railway : ट्रेन में मिडिल बर्थ कब खोलकर सो सकते हैं, जानें रेलवे के नए नियम
मिडिल बर्थ पर कब सो सकते हैं यात्री जानें?

यात्रा में ज्यादातर समय कुछ ऐसे यात्री होते हैं जो निचली बर्थ में यात्रा कर रहे होते हैं और रात के 10 बजे के बाद सोने की बात करते हैं। ऐसे में मिडिल बर्थ में आरक्षित यात्रियों को न केवल उनके इंतजार में उठना पड़ता है, बल्कि उनकी दया का भी इंतजार करना पड़ता है।
यह भी पढ़ें

Indian Railway : अब TTE नहीं चेक कर सकता आपकी ट्रेन टिकट, जानें रेलवे के नए नियम

मिडिल बर्थ यात्री के अधिकार?

रेलवे के नियम के अनुसार, मिडिल बर्थ पर सफर करने वाले यात्री रात 10 बजे के बाद अपनी सीट खोलकर सो सकते हैं। साथ ही सुबह 6 बजे के बाद मिडिल बर्थ वाले यात्रियों को सीट खोलनी होती है, ताकि सुबह नीचे के यात्री अपनी सीट पर बैठकर अपनी सुविधानुसार यात्रा कर सकें।
यह भी पढ़ें

Indian Railway : रेलवे की नई सुविधा, नवरात्र में ट्रेन में मिलेगी व्रत की थाली, जानें कैसे करें ऑर्डर

बड़े काम है टू स्टॉप नियम?

रेलवे में टू स्टॉप का भी नियम है। यानी अगर कोई यात्री ट्रेन में यात्रा कर रहा है और अपनी सीट पर नहीं पहुंचा है तो टीटीई आपकी सीट ट्रेन के अगले दो स्टॉप या अगले एक घंटे के लिए किसी अन्य यात्री को आवंटित नहीं कर सकता है। इसका मतलब यह है कि अगर यात्री आपके बोर्डिंग स्टेशन के अगले 2 स्टेशनों तक सीट पर नहीं पहुंचता है, तो टीटीई यह मान लेगा कि आरक्षित सीट के यात्री ने ट्रेन नहीं पकड़ी है और तीसरे स्टॉप को पार करने के बाद टीटीई आपकी सीट दूसरे को आवंटित कर देगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Sidhu Moose Wala Murder: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी, सिद्धू मूसेवाला को नजदीक से गोली मारने वाला शूटर अंकित गिरफ्तारMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे सरकार को मिला बहुमत, 164 विधायकों ने किया समर्थनपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतNCR के एरिया का दायरा कम करना चाहती है हरियाणा सरकार, विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा जता चुके हैं विरोधसूरत फैमिली कोर्ट ने एक दिन में 303 मामलो का किया निपटारा, जज आरजी देवधारा ने कहा- यह एक दिन का रिकॉर्डDelhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथMaharashtra Politics: बागी विधायकों पर संजय राउत ने फिर बोला हमला, बोले-उन्हें इतनी सुरक्षा दी गई जितनी कसाब की भी नहीं थी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.