scriptNo arrangements for animals in Summer Season | गर्मी: बेजुबान पशुओं के लिए नहीं कोई सरकारी व्यवस्था, ये युवा बन रहे मददगार | Patrika News

गर्मी: बेजुबान पशुओं के लिए नहीं कोई सरकारी व्यवस्था, ये युवा बन रहे मददगार

Lucnow Weather: गर्मी में 35 डिग्री सेल्सियस तापमान और तपती धूप में हर किसी की हालत खराब हो जाती है। ऐसे में जब इंसानों की हालत खराब है तो जानवरों का अंदाजा लगा सकते हैं। सरकार द्वारा भी कोई मदद नही। लेकिन युवाओं का एक समूह जानवरों के लिए फरिश्ता बनकर सामने आया है।

लखनऊ

Updated: March 26, 2022 02:32:02 pm

तपती गर्मियों में इंसान तो जैसे तैसे करके अपनी छांव, पीने और खाने की व्यवस्थी कर लेता है। लेकिन बेजुबान जानवरों का जिम्मेदार कौन है अभी तक शहर में न तो शासन और न ही प्रशासन द्वारा कोई जानवरों की व्यवस्था की। लेकिन युवाओं की एक टोली निरंतर जानवरों की सेवा के लिए आगे पढ़ रही है। इन युवाओं का समूह है यूथविलर्स। इतना नहीं बल्कि डॉग फीडिंग ड्राइव, रक्तदान और पौधरोपण जैसे काम कर रहे हैं।
animals_help.jpg
animal help
शनिवार को लखनऊ का अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। इतनी तपती गर्मी में सरकार द्वारा न तो इंसानों के लिए कोई व्यवस्था की गई और न ही जानवरों के लिए। नगर निगम द्वारा पौशाला या पानी की मशीन भी चौराहों से गायब है। ऐसे में शहर के कुछ युवा बेजुबानों की मदद के लिए आगे आए हैं। यूथविलर्स की नींव रखने वाले उत्कर्ष बताते हैं कि लखनऊ शहर में कम से कम 150 वॉलेंटियर्स है। अलग अलग दिन समूह में जाकर वालेंटियर्स काम को देखते हैं। कुत्ते, बिल्ली, बंदरों का खाना देते हैं। गायों के लिए गर्मियों में पानी की व्यवस्था कर रहे हैं। पानी रखने के लिए सीमेंट की बनीं नांद शहर के बाहरी क्षेत्रों में अधिक है। इन युवाओं से जुड़कर कोई और भी मदद करना चाहता है तो सोशन मीडिया पर youthwillers से जुड़ सकता है।
ये भी पढ़ें : Train : सांड ने रोक दी सुपरफास्ट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस, जानिए पूरा मामला

अपनी पॉकेटमनी से करते हैं इंतजान

युवाओं के टीम शहर के अलग अलग क्षेत्रों में बेजुबानों के लिए काम कर रही। जानवरों के लिए जगह पर पानी की व्यवस्था और कुत्तों के खाने का इंतजाम अपनी पॉकेट मनी से कर रहे हैं। बता दें रोजाना करीब 200 से अधिक कुत्ते हैं, जिनको ब्रेड और दूध उपलब्ध कराते हैं। गर्मियों से बचाव के लिए करीब 105 जगह पानी की व्यवस्था कर चुके हैं।
ये भी पढ़ें : गर्मी से बचावः इन पांच नियमों का करेंगे पालन तो गर्मी से नहीं होंगे बीमार

क्या है यूथविलर्स का मकसद

यूथविलर्स का मकसद है अपनी कुशलताओं को बढ़ाने के साथ समाजसेवा करना। समाज सेवा में कोविड के दौरान मास्क मशीन, डेटा वेरीफाई और प्रशासनिक अभियानों के हिस्सा बनकर लोगों की समस्याओं को दूर कर मदद कर रहे। वहीं, आयोजनों के माध्यम से आईटी, ग्राफिक, कंटेंट क्रिएटर, प्रबंधन आदि तमाम क्षेत्रों में काम करने से भविष्य में रोजगार के अवसरों में मदद मिल रही है। इसमें 11वीं कक्षा से लेकर पोस्ट ग्रैंजुएशन और कुछ नौकरी रहे युवा जुड़े हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Thailand Open: PV Sindhu ने वर्ल्ड की नंबर 1 खिलाड़ी Akane Yamaguchi को हराकर सेमीफाइनल में बनाई जगहIPL 2022 RR vs CSK Live Updates: रोमांचक मुकाबले में राजस्थान ने चेन्नई को 5 विकेट से हरायासुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंशिक्षा मंत्री की बेटी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिए बर्खास्त करने के निर्देश, लौटाना होगा 41 महीने का वेतनCBI रेड के बाद तेजस्वी यादव ने केंद्र सरकार पर कसा तंज, कहा - 'ऐ हवा जाकर कह दो, दिल्ली के दरबारों से, नहीं डरा है, नहीं डरेगा लालू इन सरकारों से'Ola-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार के लिए भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईHyderabad Encounter Case: सुप्रीम कोर्ट के जांच आयोग ने हैदराबाद एनकाउंटर को बताया फर्जी, पुलिसकर्मी दोषी करार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.