Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : प्रियंका को 'मांझी' की तलाश, खुद की भूमिका पर बोलीं अभी क्यूं बताऊं

UP Assembly Election 2022 Updates: लखीमपुर में अनीता यादव से मिलीं, बोली देश की हर महिला मेरी बहन

By: Hariom Dwivedi

Updated: 17 Jul 2021, 05:02 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उप्र में कांग्रेस (Congress) की खोई जमीन तलाशने निकलीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को ऐसे 'मांझी' की तलाश है जो चुनाव में (uttar pradesh assembly elections 2022) कांग्रेस की डूबती नैया को खे कर पार लगा सके। वह कार्यकर्ताओं में जोश भर रही हैं। पार्टी के पुराने और सक्रिय नेताओं को टिकट दिए जाने की प्रियंका बात कर रहीं है लेकिन खुद की भूमिका को स्पष्ट नहीं कर रहीं।

शनिवार को प्रियंका लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Khiri) की अनीता यादव से मिलने पहुंचीं। पसगवां की अनीता के साथ ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान बदसलूकी हुई थी। उनकी धोती उतारने का प्रयास किया गया था। अनीता के साथ हुई अभद्रता के प्रति प्रियंका ने संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा, महिला सुरक्षा का मुद्दा हो या यूपी की जनता से जुड़ा कोई मुद्दा। कांग्रेस पार्टी साथ खड़ी है। उन्होंने कहा देश की हर महिला मेरी बहन है।

गठबंधन पर साधी चुप्पी
यूपी में चुनाव लड़ने के सवाल पर यूपी कांग्रेस प्रभारी ने कहा, ये आगे देखा जाएगा। मैं यहां काम कर रही हूं और लगातार काम करती रहूंगी। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह आगामी विधानसभा चुनाव में सीएम कैंडीडेट होंगीं? इस पर उन्होंने कहा, आपको अभी से क्यों बता दें? आने वाले चुनाव में समाजवादी पार्टी से गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा इस बार का चुनाव अलग होगा। पार्टी की सत्ता में वापसी स्थानीय कांग्रेसियों के बूते होगी।

यह भी पढ़ें : लोकतंत्र की धज्जियां उड़ा रही योगी सरकार, जहां हिंसा हुई रद्द हों चुनाव- प्रियंका गांधी

टिकट वितरण में सबकी राय
बैठक में शामिल प्रदेश महासचिव मुकुंद तिवारी ने बताया कि प्रियंका गांधी ने स्पष्ट कर दिया है कि टिकट वितरण में युवाओं को प्राथमिकता मिलेगी। सबकी राय के बाद ही प्रत्याशी तय होगा। सीटवार ऐसे 'जिताऊ' कैंडिडेट की तलाश है जो जमीन पर उतरकर संघर्ष कर सकें। कांग्रेस को आगे ले सकें और वोटबैंक को बढ़ा सकें।

हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज
शुक्रवार को लखनऊ में प्रियंका गांधी के मौन धरने पर एफआईआर दर्ज हो गई है। हजरतगंज पुलिस ने यह एफआईआर बगैर सूचना और इजाजत के धरना देने पर दर्ज की है। उन पर कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन का आरोप भी लगा है।

यह भी पढ़ें : लखीमपुर में प्रियंका गांधी ने बीजेपी को घेरा, कहा- प्रदेश की महिलाएं आने वाले समय में महिला विरोधी सरकार को करारा जवाब देंगी

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned