Coronavirus Lockdown: 22 साल के निचले स्तर पर क्रूड, भारत में 10 रुपए प्रति लीटर हुए दाम

  • 16 मार्च को आखिरी बार पेट्रोल और डीजल के दाम में आई थी गिरावट
  • इंटरलेशनल मार्केट में 22 साल के निचले स्तर पर पहुंचे क्रूड ऑयल के दाम

By: Saurabh Sharma

Updated: 29 Mar 2020, 06:43 PM IST

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है। अमरीका इटली, यूरोप औरद अब भारत भी इसकी चपेट में आ चुका है। भारत में 1000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। यह हालत तब है जब पूरे देश में पूरे लॉकडाउन को 4 दिन बीत चुके हैं। कोरोना वायरस का सबसे बड़ा असर ऑयल मार्केट में देखने को मिला है। इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल के दाम 22 साल के निचले स्तर पर आ चुके हैं। जबकि भारत की बात करें तो यहां पर क्रूड ऑयल के दाम दस रुपए की चॉकलेट के बराबर हो चुके हैं। उसके बाद भी खुदरा मार्केट में पेट्रोल और डीजल के दाम में 13 दिन से कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है। आइए पहले आपको पेट्रोल और डीजल के दाम में बारे में बताते हैं। उसके बाद क्रूड ऑयल के बारे में बताएंगे।

पेट्रोल और डीजल के दाम 13 दिन से जस के तस
आईओसीएल से मिली जानकारी के अनुसार देश के चारों महानगरों में 13 दिन से पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव देखने को नहीं मिला है। आखिरी बार पेट्रोल और डीजल के दाम में किसी भी तरह का बदलाव 16 मार्च को देखने को मिला था। पहले बात पेट्रोल की करें तो 16 मार्च को देश के चारों महानगरों नई दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम क्रमश: 69.59, 72.29, 75.30 और 72.28 रुपए प्रति लीटर हो गए थे, जो आज भी कायम है। वहीं बात डीजल की करें तो समान महानगरों में दाम क्रमश: 62.29, 64.62, 65.21 और 65.71 रुपए प्रति लीटर हो गए थे।

यह भी पढ़ेंः- ईएमआई पर 3 महीने की राहत पर देना होगा एक्स्ट्रा इंट्रस्ट, समझिये गणित

22 साल के निचले स्तर पर क्रूड ऑयल के दाम
वहीं बात क्रूड ऑयल की करें तो पहले शुरुआत इंटरनेशनल मार्केट से करना जरूरी है। मौजूदा समय में ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 27.95 डॉलर प्रति बैरल पर आ गए हैं। दूसरी ओर अमरीकी ऑयल डब्ल्यूटीआई 21.51 डॉलर प्रति बैरल पहुंच चुके हैं। एक इंटरनेशनल न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार मौजूदा समय में क्रूड ऑयल के दाम 1998 के स्तर यानी 22 साल के निचले स्तर पर पहुंच चुके हैं। जबकि जनवरी में ब्रेंट क्रूड ऑयल के दाम 71 डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा थे। एजेंल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट ( कमोडिटी एंड रिसर्च ) अनुज गुप्ता का कहना है कि कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर के देशों में लॉकडाउन की स्थिति है। जिसकी वजह से डिमांड में भारी कमी है। जिस कारण से क्रूड ऑयल के दाम कम है। वहीं सउदी और रूस के बीच चल रहे प्राइस वॉर के कारण भी कीमतों में भारी कटौती देखने को मिल रही है।

यह भी पढ़ेंः- PayTm Coronavirus के खिलाफ जंग में PM CARES Fund में करेगा 500 करोड़ रुपए का योगदान

भारत में चॉकलेट के बराबर हुए क्रूड ऑयल के दाम
भारत में क्रूड ऑयल की बात करें तो वायदा बाजार में क्रूड ऑयल के दाम 1700 रुपए प्रति बैरल पर आ गए हैं। अगर एक बैरल की बात करें तो उसमें 159 लीटर होते हैं। अगर भारत में एक लीटर क्रूड ऑयल की गणना की जाए तो 10.69 रुपए प्रति लीटर पर आ गए हैं। इसका मतलब भारत में एक 10 रुपए की चॉकलेट के बराबर पर क्रूड ऑयल के दाम पहुंच गए हैं। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में क्रूड ऑयल के दाम में और भी गिरावट देखने को मिल सकती हैै।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned