जेट एयरवेज संकटः Intra-Day में 53 फीसदी लुढ़के शेयर्स, NCLT में अपील के बाद आई गिरावट

  • 53 फीसदी लुढ़के जेट एयरवेज के शेयर्स।
  • 7 दिनों में 73 फीसदी की आई गिरावट।
  • SBI नें मुंबई स्थित NCLT में की अपील।

By: Ashutosh Verma

Published: 18 Jun 2019, 03:22 PM IST

नई दिल्ली। नेशनल कंपनी लाॅ ट्रिब्यूनल ( NCLT ) जाने के बाद विमान कंपनी जेट एयरवेज ( Jet Airways ) के शेयरों में मंगलवार को 53 फीसदी की जोरदार गिरावट देखने को मिली। मंगलवार को कारोबारी सत्र में जेट एयरवेज के शेयरों का भाव इंट्रा-डे सेशन में 32.25 रुपए प्रति शेयर के स्तर पर पहुंच गया। जेट के शेयर्स में इतनी बड़ी गिरावट तब देखने को मिली है, जब भारतीय स्टेट बैंक ( State Bank of India ) ने कंपनी पर बकाये को रिकवर करने के लिए दिवालिया संहिता ( Insolvency and Bankruptcy Code ) के तहत याचिका दायर किया है।

21 जून को GST Council की 35वीं बैठक, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में इन मुद्दों पर होगी चर्चा

एनसीएलटी पहुंची SBI

बीते 7 दिनों में जेट एयरवेज को स्टाॅक्स में 73 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली है। मंगलवार (आज) को कारोबार के दौरान दोपहर 2:30 बजे तक जेट एयरवेज के स्टाॅक्स 38.45 रुपए प्रति शेयर के स्तर पर कारोबार करते हुए दिखाई दिए। मंगलवार को दोपहर तक जेट एयरवेज के शेयर्स 61.50 रुपए के स्तर पर खुले थे, जोकि दिनभर के कारोबार में उच्चतम स्तर था। वहीं, जेट के शेयर्स 31.25 रुपए प्रति शेयर्स के न्यूनतम स्तर पर भी गया। देश की सबसे बड़ी सरकारी उधारकर्ता एसबीआई ने मुंबई स्थित नेशनल कंपनी लाॅ ट्रिब्युनल में जेट के खिलाफ अपील की है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि एसबीआई ने उधारकर्ताओं के कंसाॅर्टियम की अगुवाई करते हुए जेट के खिलाफ एनसीएलटी में याचिक दायर कर दी है। एसबीआई ने ग्रैंड थाॅर्टन के आशीष छाॅछरिया को रिजाल्युशन प्रोफेशनल बनाने का प्रस्ताव दिया है।

यूनियन बजट से पहले मारुति सुजुकी ने सीएनजी कारों पर जीएसटी दर घटाकर 18 फीसदी करने की मांग की

जेट के बंद होने के दो माह बाद लेंडर्स ने दिखाई सख्ती

गौरतलब है कि बीते सोमवार को 26 उधारकर्ताओं की अगुवाई में बैठक के बाद एसबीआई ने कहा, "विचार-विमर्श के बाद, उधारकर्ताओं ने फैसला किया है हम दिवालिया सहिंता के तहत रिजाॅल्युशन के लिए अपील करेंगे। अभी तक जेट एयरवेज को उबारन के लिए सशर्त बोली ही प्राप्त हुई है।" जेट एयरवेज को उधार देने वाले इन बैंकों की तरफ से यह कदम ठीक 2 महीने बाद उठाया जा रहा है। दो माह पहले 17 अप्रैल को ही जेट एयरवेज का परिचालन अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया था।


नरेश गोयल दे चुके हैं इस्तीफा

इसके पहले एतिहाद एयरवेज और हिंदुजा ग्रुप कंसाॅर्टियम ने जेट एयरवेज में दिलचस्पी दिखाई थी, लेकिन उन्होंने अभी तक कोई साॅलिड प्रस्ताव नहीं भेजा है। आगामी 20 जून एनसीएलटी मुंबई बेंच ऑपरेशन क्रेडिटर्स की सुनवाई करेगी। 26 बैंकों पर जेट एयरवेज का कुल 8,000 करोड़ रुपए से भी अधिक का कर्ज है। कभी भारतीय एविएशन सेक्टर में सबसे बड़ी प्राइवेट एयरलाइन के नाम से पहचाने जाने वाली जेेट एयरवेज को 25 साल पहले नरेश गोयल ने की थी। बीते मार्च माह में उन्हें जेट एयरवेज के बोर्ड से इस्तीफा देना पड़ा था। नरेश गोयल के साथ उनकी पत्नी अनिता अग्रवाल को भी इस्तीफा देना पड़ा था।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.

Jet Airways jet airways india news
Show More
Ashutosh Verma Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned