आंध्रप्रदेश से आने वाली Kisan Rail दिल्ली में कम करेगी टमाटर की कीमत!

  • आंध्रप्रदेश से आ रही किसान रेल पार्सल ट्रेन में सबसे ज्यादा टमाटर
  • दिल्ली एनसीआर में टमाटर का खुदरा भाव पहुंचा 60-80 रुपए किलो

By: Saurabh Sharma

Updated: 11 Sep 2020, 12:24 PM IST

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में टमाटर के दाम में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। टमाटर के खुदरा दाम 80 रुपए किलो के आसपास पहुंच गए हैं। ऐसे में अब राहत की बात यह है कि जल्द ही टमाटर की कीमत में कमी देखने को मिल सकती है। वास्तव में किसान रेल ( Kisan Rail ) के जरिए आंध्रप्रदेश से ताजे फल और सब्जियों में सबसे ज्यादा टमाटर ही हैं। ऐसे में टमाटर की कीमत में गिरावट देखने को मिल सकती है। आपको बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में टमाटर का खुदरा भाव 60-80 रुपए किलो और आजादपुर मंडी में टमाटर का थोक भाव 12-56 रुपए प्रति किलो के आसपास है।

यह भी पढ़ेंः- Reliance Industries ने पेप्सिको और फाइजर जैसी कंपनियों को पछाड़ा, बनी दुनिया की 40वीं मूल्यवान कंपनी

करीब 200 टन कम है टमाटर की आवक
चैंबर्स ऑफ आजादपुर फ्रूट्स एंड वेजिटेबल्स एसोसिएशन के प्रेसीडेंट एमआर कृपलानी के अनुसार बरसात के सीजन में टमाटर समेत अन्य हरी सब्जियों की फसल नष्ट हो जाने के चलते आवक कमजोर है, जिससे कीमतों में तेजी है। टमाटर की आवक आजादपुर मंडी में गुरुवार को 298.6 टन थी, जबकि पिछले साल 10 सितंबर को 506.5 टन। कृपलानी ने मीडिया रिपोर्ट में कहा कि किसान रेल से टमाटर आने पर दाम कितना कम होगा, यह तो आने के बाद ही पता चलेगा, लेकिन उपलब्धता जब बढ़ेगी तो कीमतों में नरमी जरूर आएगी।

यह भी पढ़ेंः- EPF Account Holder को जबरदस्त राहत, सरकार देगी अब 7 लाख का लाइफ इंश्योरेंस

आंघ्रप्रदेश से आ रहा है 183.81 टन टमाटर
हालांकि मंडी के एक कारोबारी ने बताया कि इस समय टमाटर आंध्रप्रदेश से ही आ रहा है, इसलिए ट्रेन से आए या ट्रक से आवक तो उतनी ही रहेगी, इसलिए टमाटर के दाम में कोई ज्यादा फर्क पडऩे की उम्मीद नहीं है। बागवानी उत्पादों के लिए चर्चित आंधप्रदेश प्रदेश के सबसे बड़े जिले अनंतपुर से टमाटर, मौसमी, केले, आम, पपीते और अन्य ताजे फल व सब्जियां लेकर रवाना हुई किसान रेल शुक्रवार को दिल्ली के आदर्शनगर पहुंचेगी। इसमें कुल 294.11 टन फल व सब्जियां हैं, जिनमें से सबसे ज्यादा टमाटर 183.81 टन है, जबकि केला 70 टन, पपीता 2 टन, मौसमी 26.5 टन, आम 2.8 टन और खरबूजा 9 टन है।

यह भी पढ़ेंः- Apple Face Mask : कंपनी ने अपने कॉरपोरेट और रिटेल कर्मचारियों के लिए बनाया फेस मास्क

कम हो सकते हैं दाम
आजादपुर एपीएमसी के चेयरमैन आदिल अहमद ने मीडिया रिपोर्ट में कहा है कि आंध्रप्रदेश से जो किसान आ रहे हैं उन्हें कोई कठिनाई नहीं हो इसके लिए मंडी में पूरा प्रबंध किया गया है। खान के अनुसारद मंडी में जो ऑक्शन की प्रक्रिया है उसी तरह किसान रेल से भी आने वाले फल व सब्जियों का ऑक्शन होगा और उनको पूरी सुविधा मुहैया करवाने के लिए मैं खुद मंडी में मौजूद रहूंगा। उन्होंने कहा कि सब्जियों की कीमतें, मांग और आपूर्ति पर निर्भर करती हैं, इसलिए एक साथ ज्यादा आवक होने से संभव है कि रेट थोडा कम हों।

यह भी पढ़ेंः- Maulana Azad Urdu University में एडमीशन के लिए इन तारीखों में होगी प्रवेश परीक्षा

जुलाई से ही देखने को मिल रही है कीमतों में तेजी
मंडी में जुलाई से ही तमाम हरी सब्जियों समेत आलू, प्याज और टमाटर के दाम आसमान छू रहे हैं। प्याज का थोक भाव 10 रुपए से 25 रुपए प्रति किलो और आलू का 12 रुपए से 51 रुपये प्रति किलो पर आ गया है। सामान्य क्वालिटी का आलू खुदरा में 50 रुपए प्रति किलो से ऊपर बिक रहा है, जबकि बेहतर क्वालिटी के आलू का खुदरा दाम काफी ज्यादा है, इसलिए सभी खुदरा दुकानों पर यह आलू उपलब्ध नहीं है।

यह भी पढ़ेंः- खत्म होने वाला है JEE Main Results का इंतजार, घर बैठे ऐसे करें चेक

दिल्ली-एनसीआर में सब्जियों के खुदरा दाम

सब्जियां कीमत ( रुपए प्रति किलो में )
आलू 50-55
फूलगोभी 150
बंदगोभी 60
टमाटर 60-80
प्याज 35-45
लौकी 60
भिंडी 60
खीरा 60
कद्दू 50
बैंगन 60
शिमला मिर्च 120
पालक 80
कच्चा पपीता 60
कच्चा केला 50
तोरई 60
करेला 60
परवल 80-100
लोबिया 80
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned