रामदेव की जिस कंपनी ने बढ़ाई थी 95 गुना दौलत, उस कंपनी का दिपावली तक हुआ यह हाल

  • जून के बाद से रुचि सोया के शेयरों में आई है 300 फीसदी तक की गिरावट
  • जनवरी से जून के बीच रुची सोया के शेयरों में देखने को मिली थी 95 गुना तेजी

By: Saurabh Sharma

Updated: 15 Nov 2020, 11:36 AM IST

नई दिल्ली। बाबा रामदेव अपने हर प्रोडक्ट की सफलता की गारंटी देते हैं। ऐसा ही हाल उनकी कंपनियों के शेयरों का भी है। जब उन्होंने रुची सोया को खरीदा था तो कंपनी दिवालिया हो चुकी थी और उसके शेयर का प्राइस 16 रुपए पर आ चुका था। बागडोर पतंजलि और बालकृष्ण ने संभाली और पांच महीने में इंवेस्टर्स की झोली 95 गुना से ज्यादा भर दी। जैसे ही बालकृष्ण ने कंपनी को छोड़कर दूसरे को कमान सौंपी तो अगले साढ़े पांच महीने या यूं कहें कि दीपावली तक कंपनी का शेयर ऐसा टूटा कि निवेशकों को 3 गुना नुकसान हो गया। आइए आपको भी बताते हैं रुची सोया के हालात?

यह भी पढ़ेंः- डिप्रेशन, एंजायटी, तनाव के कारण ग्लोबल इकोनॉमी को होता है एक ट्रिलियन डॉलर का नुकसान

दीपावली तक तीन गुना टूटा शेयर
जून महीने की समाप्ति तक रुची सोया का शेयर अपने पीक पर था। बीएसई से मिले आंकड़ों के अनुसार कंपनी के शेयरों के दाम जनवरी के 16 रुपए के मुकाबले 29 जून को 1535 रुपए पर आ गए थे। उसके बाद कंपनी में फिर से गिरावट का दौर शुरू हो गया। जुलाई से दीपावली तक कंपनी के शेयरों में तीन गुना तक की गिरावट देखने को मिल चुकी है। मौजूदा समय में कंपनी का शेयर 535 रुपए पर है। दीपावली के दिन मुर्हुत ट्रेडिंग के खत्म होने के मौके पर कंपनी का शेयर हरे निशान पर बंद हुआ और 2 रुपए की मामूली तेजी के साथ 535 रुपए पर देखा गया। 29 जून के मुकाबले कंपनी का शेयर करीब 3 गुना गिरावट पर आ चुका है।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना वैक्सीन की उम्मीद से 22 अरब डॉलर पहुंची इन भाईयों की संपत्ति

शेयर में गिरावट के कारण
अपने पीक पर पहुंचने के बाद अनुमान लगाया जा रहा था कि कंपनी का शेयर अगले कुछ महीनों तक इसी दाम पर स्टेबल रह कर कंपनी और निवेशकों को मुनाफा कमाने का मौका देगा, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। कंपनी का संचालन कर रहे बालकृष्ण ने अपने पद से इस्तीफा दिया और राम भरत को पद भार सौंपा गया। उसके बाद जून तिमाही के नतीजों ने भी काफी निराश किया। जिसकी वजह से कंपनी के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली। यही दो वजह रही जिसकी वजह से कंपनी के शेयरों में गिरावट देखने को मिली है।

यह भी पढ़ेंः- दिवाली के बाद कितने हो गए पेट्रोल और डीजल के दाम, फटाफट जानिए नई कीमत

लॉकडाउन में कराई थी जमकर कमाई
लॉकडाउन के दौर में कंपनी के शेयर ने निवेशकों की जमकर कमाई कराई थी। 27 जनवरी को कंपनी के शेयरों के दाम 16.10 रुपए पर थे। उसके बाद कंपनी और निवेशकों की किस्मत बदलनी शुरू हुई। पांच महीनों में कंपनी के शेयरों ने निवेशकों को 95 गुना से ज्यादा मुनाफा कमाकर दिया और 29 जून यानी पांच महीने में कंपनी का शेयर 1535 रुपए पर पहुंच गया। अगर फीसदी के हिसाब से देखें तो निवेशकों को करीब 9000 फीसदी तक लाभ पहुंचाया है। यह उस दौर में किसी भी कंपनी के शेयरों में प्रदर्शन के हिसाब से सबसे बेहतरीन था।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned