Rekha की सांसद निधि से बदलेगी Hema Malini के संसदीय क्षेत्र के स्कूल की तस्वीर

Rekha की सांसद निधि से बदलेगी Hema Malini के संसदीय क्षेत्र के स्कूल की तस्वीर

Amit Sharma | Publish: Jul, 26 2019 08:29:43 PM (IST) | Updated: Jul, 26 2019 08:35:11 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

सांसद Hema Malini के प्रयास से स्कूल का काम पूरा कराने के लिए रेखा Rekha की निधि से 12 लाख रुपए स्वीकृत हुए हैं और डीपीआर तैयार कराई जा रही है।

मथुरा। सांसद हेमा मालिनी Hema Malini के आदर्श गांव रावल में प्राथमिक विद्यालय के भवन का काम अब राज्यसभा Rajya Sabha सांसद और अभिनेत्री रेखा Rekha की निधि से पूरा किया जाएगा। काम पूरा कराने के लिए रेखा की निधि से 12 लाख रुपये स्वीकृत हुए हैं और डीपीआर तैयार कराई जा रही है। जल्द ही काम शुरू होने के बाद छात्र-छात्राएं नए भवन में अध्ययन करेंगे। अभी पुराने भवन का एक कक्ष धराशाई होने से कक्षा एक और दो के बच्चों को खुले आसमान के नीचे अध्ययन करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें- न्यायिक अधिकारी को आया गुस्सा, पुलिसकर्मी की उतरवाई वर्दी, जानिए पूरा मामला

सांसद हेमा मालिनी Hema Malini ने रावल गांव को गोद लेने के बाद छात्र-छात्राओं को अध्ययन के लिए बेहतर वातावरण उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। प्राथमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं के लिए पांच कमरे और बरामदे का निर्माण कराया। यह काम करीब 44 लाख रुपये की लागत से हुआ, लेकिन धनाभाव के कारण काम बंद हो गया। विद्यालय में अभी खिड़की, दरवाजे, बाउंड्रीवॉल का काम होना बाकी है। इस कारण एक वर्ष से छात्र-छात्रा इस विद्यालय में नहीं पढ़ पा रहे हैं। प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक उमेश तिवारी के प्रयास के बाद भी नयी बिल्डिंग की चाबी नहीं मिल सकी है।

यह भी पढ़ें-स्कूल प्रबंधक ने अभिभावक को धमकाया, ऑडियो वायरल, जानिए क्या है मामला

प्रधानाध्यापक का कहना है कि पुराने स्कूल में तीन कमरे में से एक धराशाई हो चुका है, इस कारण ताला लगाकर रखा है। दो कमरों में कक्षा चार और पांच के छात्र-छात्राओं को पढ़ाया जाता है। बरामदे में कक्षा तीन और आंगनबाड़ी के छात्र-छात्राओं को बैठाया जाता है। कक्षा एक और दो के छात्र-छात्राओं को मजबूरन बाहर बैठना पड़ता है। स्कूल में 158 छात्र-छात्राएं हैं। जिसमें 87 छात्रा और 71 छात्र हैं। स्कूल की बाउंड्रीवॉल क्षतिग्रस्त होने के कारण विद्यालय में आवारा पशु घूमते हैं। इस कारण विद्यालय में गंदगी रहती है। हैंडपंप का पानी पीने योग्य न होने के कारण छात्र-छात्राओं को पेयजल के लिए बाहर जाना पड़ता है। अब इस भवन का अधूरा काम राज्यसभा सांसद Rajya Sabha रेखा की निधि से पूरा होना है। काम पूरा कराने के लिए 12 लाख रुपये स्वीकृत हुए हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned