जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ में मथुरा का लाल शहीद

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवादियों से मुठभेड़ में मथुरा का लाल शहीद

Amit Sharma | Updated: 02 Aug 2019, 04:28:21 PM (IST) Mathura, Mathura, Uttar Pradesh, India

-शहीद रामवीर सेना की जाट रेजीमेंट में थे
-दो बेटे हैं, चार माह पहले छुट्टी पर आए थे
-कोसीकला में हर किसी का आँख हो रही नम

मथुरा। आतंकवादियों से मुठभेड़ में सेना का एक और जवान शहीद हो गया। लाल के शहीद होने की जानकारी सुबह मिली। सैकड़ों लोग शहीद के गांव पहुंच गए हैं। पार्थिव शरीर कल तक आने की संभावना है। शहीद के दो बेटे हैं। घर पर पहुंचने वाले हर एक व्यक्ति की आंख दोनों शहीद के नन्हें पुत्रों को देखकर छलक रही है।

यह भी पढ़ें- Yamuna Expressway पर डिवाइडर से टकराई बाइक, दो की मौके पर ही मौत

Shaheed

जम्मू एवं कश्मीर में हुई मुठभेड़
जम्मू कश्मीर के शोपियां में बीती रात आतंकवादियों से मुठभेड़ करते हुए मथुरा जिले के कोसीकलां के गांव हुलवाना के रामवीर सिंह शहीद हो गए। कोसीकलां से छह किलोमीटर दूर है गांव हुलवाना। यहां के रामवीर सिंह सेना की जाट रेजीमेंट में तैनात थे। बीती रात जम्मू- कश्मीर के शोपियां में सेना एवं आतंकवादियों से मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के दौरान रामवीर आतंकवादियों की गोली से घायल हो गया। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- मथुरा से महिला सहित पांच बांग्लादेशी गिरफ्तार, हुआ बड़ा खुलासा

चार माह पहले छुट्टी पर आए थे
शुक्रवार की सुबह परिजनों को रामवीर के शहीद होने की जानकारी दी गई। यह सूचना पूरे इलाके में फैल गई। रामवीर सिंह के पिता किशोर सिंह ने बताया कि रामवीर करीब चार माह पूर्व गांव छुट्टी पर आए थे। बुधवार की रात में ही रामवीर ने परिवार वालों को फोन कर हालचाल लिया था। शुक्रवार को शहीद होने की खबर आई। रामवीर की पत्नी नीतू एवं मां कृष्णा का बुरा हाल है। शहीद रामवीर के दो बेटे हैं। एक तीन साल एवं दूसरा छह माह का है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned