यति नरसिंहानंद सरस्वती ने देश के प्रधानमंत्री पद को लेकर दी ये चेतावनी

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने दिया विवादित बयान, बोले- जिहादियों ने तोड़े थे भारत के प्रमुख धार्मिक स्थल

By: lokesh verma

Published: 11 Jun 2021, 12:33 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मथुरा. अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले यति नरसिंहानंद सरस्वती ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। गोवर्धन पहुंचे यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा है कि मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि, काशी विश्वनाथ मंदिर, सोमनाथ मंदिर और अयोध्या के राम मंदिर आदि हिंदुओं के धार्मिल स्थलों को जिहादियों ने तोड़ा था। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर हिंदू संगठित नहीं हुए तो जिहादी ही 2029 तक देश का प्रधानमंत्री बनेगा। इसलिए संत-महंत हिंदुत्व जगाने का प्रयास कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- माफिया मुख्तार अंसारी के साम्राज्य पर योगी सरकार का शिकंजा, मां के नाम खरीदी गई 24 करोड़ की संपत्ति कुर्क

दरअसल, गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती गुरुवार को गोवर्धन पहुंचे। जहां उन्होंने गिरिराज तलहटी में पूजा की। इसके बाद रमणरेती आश्रम में उन्होंने गोरक्षक दल के कार्यकर्ता और संतों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने जिहाद को देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया के लिए खतरा बताया। उन्होंने कहा कि जिहादी दुनिया को खत्म करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हिंदू अभी संगठित नहीं हुए तो 2029 में जिहादी ही देश का प्रधानमंत्री बनेगा। उन्होंने कहा कि देश में जिहादी लगातार बढ़ रहे हैं।

यति ने कहा कि कृष्ण जन्मभूमि, काशी का विश्वनाथ मंदिर, साेमनाथ मंदिर और अयोध्या का राम मंदिर जैसे हिंदुओं के धार्मिक स्थलों को जिहादियों ने ही तोड़ा था। उन्होंने कहा कि वह हिंदुओं को जगाने के लिए देशभर में संत-महंतों से मिलेंगे। संस्कृति के साथ माता-बहनों की इज्जत बचाने के लिए उन्हें अपने प्राणों का बलिदान ही क्यों न देना पड़े। लेकिन, वे जिहादियों को भारत की संस्कृति से नहीं खेलने देंगे।

यह भी पढ़ें- मिशन-2022 के लिए अभी से जुटना है, सांसद मेनका गांधी ने बताए जीत के राज

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned