50 हजार का कुख्यात बदमाश भदौड़ा गैंग का दीपक सिद्धू एनकाउंटर में ढेर, एक दरोगा को भी लगी गोली

Highlights
- Meerut सरधना क्षेत्र में राहगीरों से लूटपाट कर रहे बदमाशों की पुलिस से मुठभेड़

- बदमाश का एक साथी भी घेराबंदी के बाद गिरफ्तार

- हत्या, लूट और डकैती के दर्जनों केस दर्ज हैं दीपक सिद्धू पर

By: lokesh verma

Published: 16 Jul 2020, 09:59 AM IST

मेरठ. विकास दुबे एनकाउंटर ( Vikas Dubey Encounter ) के बाद एक बार फिर यूपी में बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ का दौर शुरू हो गया है। ताजा मामला मेरठ ( Meerut ) स्थित रोहटा के जंगलों का है। जहां बुधवार राहगीरों से देर रात लूटपाट कर रहे बदमाशों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घेराबंदी कर ली। पुलिस ने बदमाशों का सरेंडर करने को कहा तो बदमाशों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें एक दरोगा को गोली लगी। वहीं, जवाबी फायरिंग में एक बदमाश ढेर हो गया। मारे गए बदमाश को नाम दीपक सिद्धू है, जो कि 50 हजार रुपए का इनामी बदमाश है। दीपक को सरधना क्षेत्र में जबरदस्त आतंक था। दीपक पर हत्या, लूट और डकैती के दर्जनों केस जिले के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। इसके अलावा उस पर अन्य राज्यों में भी अपराधिक घटनाओं में लिप्त होने के वाद दायर हैं। मुठभेड़ के दौरान बदमाश दीपक का एक अन्य साथी अंधेरे का लाभ उठाते हुए फरार हो गया। पुलिस ने घेराबंदी कर उस बदमाश को भी बाद में गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ें- अजब-गजब: कार चलाते वक्त हेलमेट नहीं लगाने पर पुलिस ने लगाया 3000 का जुर्माना

सीओ सरधना जितेंद्र सरगम ने बताया कि देर शाम सरूरपुर-लाहौर गढ़ रजवाहे के पटरी पर सरूरपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत रासना के पास बाइक सवार दो बदमाश कुछ राहगीरों से लूटपाट कर रहे थे। सूचना पाकर तीन थानों सरूरपुर, सरधना व रोहटा पुलिस को बदमाशों की तलाश में लगाया गया। इसी दौरान देर रात में लाहौरगढ़ रजवाहे की पटरी पर बदमाश सरूरपुर की ओर से आते हुए दिखाई दिए, जिनकी घेराबंदी कर पुलिस ने उन्हें सरेंडर करने को कहा, लेकिन बदमाश पुलिस पर फायरिंग करते हुए गन्ने के खेत में घुस गए और फायरिंग करते रहे। बदमाशों की फायरिंग में एक दारोगा का गोली लगी है। इस मुठभेड़ में एक बदमाश की मौके पर मौत हो गई। जबकि दूसरा अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से भाग निकला। मौके पर सीओ सरधना जितेंद्र सरगम व सरूरपुर, जानी व रोहटा थानों की पुलिस मौजूद रही। इसके बाद पुलिस ने कांबिंग करते हुए दूसरे बदमाश को गिरफ्तार कर लिया।

सीओ ने बताया कि मुठभेड़ में मारा गया बदमाश दीपक थाना सरधना के गांव का छबडिया का रहने वाला था और उस पर पचास हजार रूपये का इनाम था। दीपक एक माह पूर्व सरधना में हुई अंकुर भारद्वाज हत्याकांड में फरार चल रहा था। इंस्पेक्टर ने बताया कि मारे गए बदमाश पर एक दर्जन हत्या व लूट के मुकदमे दर्ज थे। पकड़े गए बदमाश पुलिस पूछताछ में जुटी हुई थी। मौके पर पहुंचे और की पुलिस भर्ती कराया हालांकि इससे पहले ही मारा चुका था।

देर रात एसएसपी भी जिला अस्पताल पहुंचे और उन्होंने सीओ से जानकारी ली। मीडिया को जानकारी देते हुए एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि मृतक बदमाश पर 50 हजार रुपए का इनाम था। उसके साथी से पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें- बिजनौर: दंपति की धारदार हथियार से काटकर हत्या, आराेपित पड़ाेसी वारदात के बाद से फरार

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned