Coronavirus Vaccine: स्वस्थ होने पर ही लगाई जाएगी कोरोना वैक्सीन, पढ़ें डोज की पूरी प्रक्रिया

Highlights

- पहली और दूसरी डोज के बीच होगा 28 दिन का अंतर
- वैक्सीन लगने के बाद 30 मिनट रहेंगे चिकित्सकों की सघन निगरानी में
- मेरठ में दिया गया 23 चिकित्साधिकारियों को प्रशिक्षण

By: lokesh verma

Published: 03 Jan 2021, 10:57 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

मेरठ. कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) देने की पूरी तैयारी मेरठ (Meerut) में स्वास्थ्य विभाग ने कर ली है। लेकिन, क्या आप जानते हैं, जो कोरोना वैक्सीन लोगों को लगाई जाएगी उसको देने का तरीका क्या है और वह किन-किन लोगों को दी जाएगी। किन लोगों को वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। इसके बारे में जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डाॅ. प्रवीण गौतम ने बताया कि कोरोना वैक्सीन की दो डोज (Corona Vaccine Dose) लगाई जाएगी, पहले डोज लगने के 28 दिन बाद दूसरी डोज लगेगी। स्वस्थ होने पर ही कोरोना वैक्सीन लगाई जाएगी। कोरोना संक्रमित मिलने पर वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी।

यह भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन के बारे में जानिए कब, कहां कैसे लगेगा टीका

डाॅ. प्रवीण गौतम ने बताया कि पहले चरण में सरकारी और प्राइवेट स्वास्थ्य कर्मी, द्वितीय चरण में पुलिस, पीएसी, आरएएफ, नगर निगम कर्मी, कर्मचारियों के अलावा तृतीय चरण में 50 वर्ष से ऊपर के व्यक्तियों का टीकाकरण होगा। पहले टीके के 28 दिन बाद दूसरा टीका लगेगा। कोरोना वैक्सीन की पहली डोज 0. 5 एमएल होगी। डाॅ. प्रवीण गौतम ने बताया कि सभी स्वास्थ्यकर्मियों का ब्योरा दर्ज किया गया है। कोरोना वैक्सीन लगाते समय संदिग्ध लोगों पर नजर रखी जाएगी। कोरोना संक्रमित होने पर वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी। वैक्सीन लगने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम नजर रखेगी, 30 मिनट तक केंद्र पर रखा जाएगा। कोई समस्या होती है तो डाक्टरों की टीम इलाज करेगी। इसके लिए 23 डाक्टरों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

कोरोना वैक्सीन लगने पर पोर्टल पर दर्ज किए गए रिकाॅर्ड में काला बटन पीला हो जाएगा। इससे यह पता चल सकेगा कि किसे कोरोना की पहली डोज लग चुकी है और किसे पहली डोज नहीं लगी है। कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 28 दिन बाद लगनी है। इस दौरान कोई कोरोना संक्रमित मिलता है तो भी कोरोना वैक्सीन नहीं लगाई जाएगी।

जिले में एक मुख्य कोल्ड चेन जिला अस्पताल में बनाई गई हैं। जबकि अन्य जगहों पर अलग-अलग कुल 28 कोल्ड चेन बनाई गई हैं। जिले में कुल 60 टीमें गठित की गई हैं। एक टीम में एक सुरक्षा गार्ड, 2 वैक्सीनेटर और तीन अन्य सहायक सदस्य। वैक्सीनेशन के लिए 23 चिकित्सा अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है, जो नगर व देहात क्षेत्र में टीकाकरण का काम करेंगे। मेरठ में 6.5 लाख सिरिंज शासन से पहुंच चुकी हैं।

यह भी पढ़ें- कोरोना वैक्सीन को लेकर तैयारी तेज, वैक्सीनेशन के लिए 5 जनवरी को ड्राई रन

Corona virus
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned