मां के साथ एसएसपी के पास पहुंची बेटी आैर कहा पिता-चाचा नहीं करने देते ये काम

मां के साथ एसएसपी के पास पहुंची बेटी आैर कहा पिता-चाचा नहीं करने देते ये काम

Nitin Sharma | Publish: Jun, 14 2018 11:20:16 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

बेटी ने कहा पिता आैर चाचा तेजाब डालने की देते है धमकी, कार्रवार्इ की जगह समझा दीजिए

मेरठ।उत्तर प्रदेश के मेरठ में जनसुवार्इ के दौरान एक लड़की अपनी मां के साथ एसएसपी के पास पहुंची। यहां उसने एसएसपी को किसी आेर नहीं बल्कि अपने पिता आैर चाचा के खिलाफ शिकायत देते हुए कहा कि मैं बीटीसी की पढ़ार्इ कर रही हूं।इसके बाद ये काम करना चाहती हूं।लेकिन पापा आैर चाचा इसके लिए मना करते है।इतना ही नहीं वह यह काम करने पर तेजाब डालने की धमकी देते है।यह सुनते ही एसएसपी समेत वहां बैठे अन्य अधिकारी भी चौंक गये।जनसुनवाई कर रहे एएसपी ने परीक्षितगढ़ थाना पुलिस को छात्रा के पिता की काउंसलिंग कराने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें-इस बड़े शोरूम के बाथरूम में गर्इ महिला को दिखा ये तो निकल गर्इ चीख आैर फिर...

मां के साथ अपनी यह फरियाद लेकर पहुंची थी लड़की

मंगलवार को मेरठ के कंकरखेड़ा के सैनिक विहार निवासी लड़की अपनी मां के साथ एसएसपी की जनसुवार्इ में पहुंची। यहां उसने बताया कि साहब मैं बीटीसी प्रथम वर्ष की छात्रा हूं। मेरे माता-पिता के बीच पारिवारिक विवाद चल रहा है। पिता किला परीक्षितगढ़ में रहते हैं। जबकि मां उसके अलावा दो अन्य बहनों व एक भाई के साथ सैनिक विहार कंकरखेड़ा में रहती हैं। लड़की ने बताया कि वह आगे पढ़ना चाहती है, लेकिन उसके पिता और चाचा यह कहते हुए आगे पढ़ाने से इंकार कर रहे हैं कि मुसलमानों में लड़कियों को ज्यादा नहीं पढ़ाया जाता।

यह भी पढ़ें-पड़ोसी चाची के साथ कर रहा था... तभी पहुंच गया बच्चा तो...

जिद करने पर पिता आैर चाचा ने दी ये धमकी

पीड़िता ने बताया कि पढ़ाई की जिद करने पर पिता और चाचा चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी भी दे रहे हैं। इससे वह बेहद डरी हुई है। लेकिन अपनी पढ़ार्इ पूरी करना चाहती है। उसने गुहार लगाई कि उसके पिता के खिलाफ कोई कार्यवार्इ ना की जाए। उन्हें सिर्फ समझा दिया जाए कि वह उसे आगे पढ़ार्इ करने से ना रोकें। एसपी क्राइम सतपाल आतिल ने परीक्षितगढ़ थाना पुलिस को निर्देश दिए हैं कि वह लड़की के पिता की काउंसलिंग कराए और जरूरत पड़ने पर मानसिक रोग विशेषज्ञ का परामर्श भी लें।

Ad Block is Banned