देश के इस बैंक में अब होगा हिंदी में काम, अधिकारियों की नेम प्लेट भी राष्ट्रभाषा में होगी

Central Bank of India

राष्ट्रभाषा हिंदी को बढ़ावा देने की पहल
सभी शाखा प्रबंधकों को क्षेत्रीय प्रबंधक ने दिए निर्देश
बदलाव से ग्राहकों को मिलेगा लाभ

By: shivmani tyagi

Updated: 22 Jun 2021, 06:02 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मेरठ. राष्ट्रभाषा को बढ़ावा देने के लिए सरकारी कार्यालयों में साल में एक बार अभियान चलाया जाता है। हिंदी में कामकाज को लेकर हर साल लोग शपथ लेते हैं, पर उनका यह कार्य सिर्फ शपथ लेते समय रहता था। कार्यशालाएं की जाती हैं लेकिन अभियान के बाद सभी कुछ फाइलों और ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है। अब सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ( Central Bank of India ) ने राष्ट्रभाषा हिंदी को पूरा सम्मान देने की अनोखी पहल की है। सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की सभी शाखाओं में अब हिंदी में काम होगा।

यह भी पढ़ें: UP Weather Updates बारिश और तापमान को लेकर मौसम विभाग का खुलासा

तना ही नहीं बैंक के कागजात रजिस्टर, मोहर, साइनबोर्ड से लेकर सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के नेमप्लेट तक हिंदी में नजर आएंगीं। बैंक की ओर से आयोजित वर्चुअल कार्यशाला में सभी क्षेत्रीय प्रबंधक ने सभी शाखा प्रबंधकों को यह निर्देश दिए हैं। इसके अलावा हिंदी को बढ़ावा देने के लिए और भी बहुत बदलाव किए जाने की रूपरेखा तैयार की गई है। लीड़ बैंक मैनेजर संजय कुमार ने बताया कि सेंट्रल बैंक में अधिकारी संवर्ग के लिए आभासीय ( वर्चुअल ) कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें शामिल जनपद के विभिन्न शाखाओं के शाखा प्रभारियों व अधिकारियों से क्षेत्रीय प्रबंधक ने अपने कार्यालय के सभी कार्य हिंदी में करने के साथ-साथ शाखा में रजिस्टर, मोहरें तथा साइन बोर्ड आदि हिंदी में बनवाने के लिए कहा गया है। मुख्य प्रबंधक संजय गुप्ता ने सरकार की राजभाषा नीति, अधिनियम, नियम व संवैधानिक व्यवस्थाएं संबंधी जानकारी दी।

यह भी पढ़ें: डिप्टी सीएम केशव मौर्य के घर पहुंचे सीएम योगी, चौंक गए लोग चर्चाओं का बाजार हुआ गरम

उन्होंने बताया कि कम्प्यूटर पर हिंदी प्रयोग की व्यावहारिक जानकारी दी। सभी को राजभाषा विभाग की ओर से जारी वार्षिक कार्यक्रमों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। सेंट्रल बैंक की यह अनोखी पहल है जिसने राष्ट्रभाषा हिंदी को सम्मान देते हुए यह काम किया है। इससे न केवल काम-काज आसान होगा बल्कि बैंक के ग्राहकों की समस्‍याओं का भी एक हद तक समाधान हो सकेगा।

यह भी पढ़ें: महीनों से गंगनहर में डूबी पड़ी थी कारें, पानी कम होने पर पता चला तो दोनों के अंदर से मिले शव
यह भी पढ़ें: धर्मांतरण पर सीएम योगी सख्त, लगेगा एनएसए, प्रॉपर्टी जब्त के भी दिए आदेश

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned