मोदी की रैली में इसलिए उतर गए थे भाजपाइयों के चेहरे, सीएम भी मंच पर ही हो गए नाराज!

2014 की अपेक्षा इस बार सिर्फ हजारों में दिखी विजय संकल्प रैली में भीड़

मंच पर एक घंटे पहले पहुंच गए थे सीएम, जन प्रतिनिधियों आैर पदाधिकारियों से की थी बात

पिछली दो रैलियों के बाद इस बार बदल दिया गया था रैली स्थल

 

By: sanjay sharma

Published: 29 Mar 2019, 08:20 PM IST

मेरठ। मेरठ के सिवाया टोल प्लाजा के समीप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजय संकल्प रैली के जरिए वेस्ट यूपी में चुनावी शंखनाद कर दिया है, लेकिन जिस तरह इस रैली में भीड़ के दावे किए गए थे, वैसी भीड़ इस रैली में नहीं पहुंची। इससे सीएम योगी आदित्यनाथ नाखुश दिखे, इसका असर वहां मौजूद जन प्रतिनिधियों आैर पदाधिकारियों में साफ झलका। दरअसल, प्रधानमंत्री की इस रैली के लिए मेरठ आैर मुजफ्फरनगर लोक सभा क्षेत्रों के पांच जनपदों से करीब साढ़े तीन लाख लोगों की भीड़ रैली स्थल तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था, लेकिन भीड़ यहां सिर्फ हजारों में दिखार्इ देने पर सबके चेहरे उतरकर गए। हालांकि प्रधानमंत्री ने रैली में जो जबरदस्त संदेश दिया, उससे जरूर यहां के माहौल में जोश भर गया।

यह भी पढ़ेंः मोदी ने बताया गठबंधन को 'सराब', कहा- इससे सेहत खराब होती है, लोगों को बचना चाहिए

इस बार बदला हुआ माहौल

दो फरवरी 2014 को नरेंद्र मोदी की पिछली रैली शताब्दी नगर के माधवकुंज में हुर्इ थी। यह बड़ा रैली स्थल था आैर पूरा स्थल भीड़ से भर गया था। मोदी समेत तमाम भाजपा वरिष्ठ नेता इस भीड़ को देखकर गदगद हो गए थे। इसके बाद दूसरी रैली चार फरवरी 2017 को इसी मैदान में हुर्इ थी आैर काफी भीड़ पहुंची थी, लेकिन 28 मार्च 2019 को हुर्इ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में इतनी भीड़ नहीं जुट पार्इ। नए स्थल सिवाया टोल प्लाजा के समीप मैदान में रैली से पहले साढ़े तीन लाख लोगों की भीड़ जुटाने का दावा किया गया था, लेकिन 35 से 40 हजार लोगों की भीड़ ही जुट पायी। मोदी को रैली स्थल पर सवा ग्यारह बजे तक पहुंचना था, लेकिन तब तक करीब सात-आठ हजार की भीड़ ही पहुंच पायी थी। इसलिए रैली के नियत समय को आगे बढ़ाया गया।

यह भी पढ़ेंः भाजपा के इस फायरब्रांड विधायक ने गिनाए जब पुराने सुलगे मामले तो लोगों ने दिया एेसा जवाब

मंच पर दिखा ये नजारा

मोदी के रैली में पहुंचने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ भी मंच पर 11 बजे पहुंच गए थे, लेकिन जब उन्होंने दर्शक दीर्घा देखी तो वे इसे देखकर नाखुश दिखे। मंच पर मौजूद पदाधिकारियों आैर जन प्रतिनिधियों से भी उन्होंने इस संबंध में पूछा, हालांकि इन्होंने सीएम को क्या जवाब दिया, इस बारे में खुलासा नहीं हो पाया, लेकिन इनका जवाब सुनकर सीएम योगी जरूर नाराज दिखे आैर बाद में मंच के पीछे कोटेज में जाकर बैठ गए थे।

sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned