दलित महिला को मंदिर में घुसने से रोका तो गुस्साए लोगों ने कर दिया बड़ा ऐलान, देखें वीडियो

दलित महिला को मंदिर में घुसने से रोका तो गुस्साए लोगों ने कर दिया बड़ा ऐलान, देखें वीडियो

Rahul Chauhan | Publish: Jan, 15 2019 07:41:05 PM (IST) | Updated: Jan, 15 2019 07:41:06 PM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

दलितों ने धमकी दी है कि अगर मामले में कार्रवाई न हुई तो वे मंदिर में जबरन घुसकर पूजा-अर्चना तो करेंगे ही साथ ही महापंचायत भी करेंगे।

मेरठ। मामला भाजपा के फायरब्रांड विधायक संगीत सोम के विधानसभा क्षेत्र सरधना से जुड़ा हुआ है। जहां पर मंगलवार को पूजा-अर्चना करने गई एक दलित महिला को मंदिर के पदाधिकारियों ने बाहर ही रोक दिया। इससे क्षेत्र के दलित लोगों में आक्रोश फैल गया है। दलितों ने धमकी दी है कि अगर मामले में कार्रवाई न हुई तो वे मंदिर में जबरन घुसकर पूजा-अर्चना तो करेंगे ही साथ ही महापंचायत भी करेंगे। आरोप है कि जब महिला मंदिर में पूजा-अर्चना करने गई तो उसको जातिसूचक शब्दों से भी संबोधित किया गया।

यह भी पढ़ें : बसपा सुप्रीमो के जन्मदिन पर यहां हुआ कुछ ऐसा कि मच गई भगदड़

मामला सरधना कस्बे के अमन विहार कालोनी का है। कालोनी निवासी प्रवेश ने बताया कि वह अनुसूचित जाति से हैं। वह सोमवार की सुबह पास के ही देवी मंदिर में पूजा करने गई थी। उस दौरान जैसे ही वह मंदिर के भीतर अपने चप्पल उतारकर घुसने लगी तो मंदिर के भीतर उपस्थित पुजारी ने उसके मंदिर में घुसने का विरोध किया। इस दौरान मंदिर में कुछ और लोग भी थे। उन लोगों ने भी उसके मंदिर में घुसने पर आपत्ति जताई।

यह भी पढ़ें : गठबंधन के बाद फिर बढ़ी भाजपा की मुश्किलें, अब राममंदिर को लेकर इन्होंने कर दिया बड़ा ऐलान

उसने जब इन सब का विरोध किया तो उसे अपशब्द कहे गए। महिला ने यह बात आकर अपने घर पर बताई। जिस पर उसके परिजनों ने थाने पहुंचकर लिखित में तहरीर दी। इस मामले को लेकर दलितों में रोष है। उनका कहना है कि इस तरह की हरकत से भाईचारे की भावनाओं पर फर्क पड़ता है।

यह भी पढ़ें : आजम खान बोले-थोड़ी सी भी शर्म है तो भाजपा को वोट दो, जानिए क्यों

दलितों ने किया मंदिर में जबरन घुसने का ऐलान

इस घटना के बाद दलितों की एक बैठक सरधना कस्बे में ही हुई। बैठक में दलितों ने कहा कि प्रशासन उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करे जिन्होंने महिला को मंदिर मेें घुसने से रोका है। अन्यथा वे मंदिर में जबरन घुसेगे और महापंचायत का ऐलान करेंगे। वहीं मंदिर कमेटी के पदाधिकारी सतीश ने कहा कि यह किसी की साजिश है जो कि मंदिर को बदनाम करना चाहता है। मंदिर में पूजा करने का सभी का अधिकार है। एसपी देहात राजेश कुमार का कहना है कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है। इसकी जानकारी वह थाना स्तर से पता कर रहे हैं। थानाध्यक्ष प्रशांत कपिल ने बताया कि अभी उनके पास कोई तहरीर नहीं आई है। तहरीर आने पर ही कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned