चिकित्सक ने प्रसव कराने से किया इनकार तो दूसरे अस्पताल में जुड़वां बच्चों को दिया जन्म, नाम रखे क्वारेंटीन और सैनिटाइजर

Highlights

  • मेरठ के मोदीपुरम क्षेत्र में गांव पबरसा का मामला
  • जिससे चल रहा था उपचार, उसने किया था मना
  • कोरोना के संक्रमण से चिकित्सक ने मना किया था

 

By: sanjay sharma

Published: 24 May 2020, 10:00 AM IST

मेरठ। कोरोना लॉकडाउन के दौरान गर्भवती महिला का जिस महिला चिकित्सक के साथ उपचार चल रहा था, डिलीवरी की तारीख आने पर चिकित्सक ने कोरोना संक्रमण के चलते प्रसव कराने से मना कर दिया था। इसके बाद महिला के पति ने परेशान होकर दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया। यहां डा. प्रतिमा तोमर ने महिला का प्रसव कराया। महिला ने दो जुड़वा लड़कों को जन्म दिया। परिवार के लोगों में खुशी का ठिकाना न रहा। उन्होंने दोनों बेटों का नाम रखा क्वारेंटीन और सैनिटाइजर। इन नामों की चर्चा गांव में ही नहीं शहर में भी है।

यह भी पढ़ेंः दरोगा समेत पीएसी के तीन जवान कोरोना से संक्रमित, छह नए केस के बाद पॉजिटिव मरीज हुए 364

मोदीपुरम क्षेत्र के गांव पबरसा निवासी धर्मेंद्र की पत्नी वेनू गर्भवती थी और उसका पल्लवपुरम में महिला चिकित्सक से इलाज चल रहा था। शनिवार को महिला को जब प्रसव पीड़ा हुई तो धर्मेंद्र ने महिला चिकित्सक से बात की। चिकित्सक ने कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए प्रसव कराने से मना कर दिया। इससे धर्मेंद्र के परिवार के लोग परेशान हो गए। इसके बाद धर्मेंद्र ने दूसरे अस्पताल में बात की। यहां डॉ. प्रतिमा तोमर ने उसकी पत्नी का प्रसव कराया।

यह भी पढ़ेंः अम्फान ने किया विक्षोभ को बेअसर, गर्मी का पिछले पांच साल का रिकार्ड टूटने के आसार

उसने दो स्वस्थ बेटों को जन्म दिया है। धर्मेंद्र ने बताया कि पत्नी व दोनों बेटे स्वस्थ हैं। उसने बताया कि पति-पत्नी ने अपने दोनों बेटों का नाम क्वारेंटीन और सैनिटाइजर रखा है। इन दोनों नामों पर गांव में खूब चर्चा है तो शहर में भी इसकी चर्चा जोरों पर है।

Corona virus
Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned