script459 new cases of corona infection in Aurangabad raise concern | औरंगाबाद में कोरोना संक्रमण के 459 नए केस ने बढ़ा दी चिंता, डीएम लॉकडाउन पर आज ले सकते हैं फैसला | Patrika News

औरंगाबाद में कोरोना संक्रमण के 459 नए केस ने बढ़ा दी चिंता, डीएम लॉकडाउन पर आज ले सकते हैं फैसला

Highlights.
- करीब दस राज्य ऐसे हैं, जहां कोरोना संक्रमण के नए केस में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है
- पिछले साल की तरह महाराष्ट्र इस बार भी कोरोना संक्रमण की नई लहर में नंबर एक पर है
- औरंगाबाद में एक दिन में कोरोना के 459 नए केस और पांच मौतों ने सभी की चिंता बढ़ा दी है

 

नई दिल्ली

Published: March 07, 2021 10:40:25 am

नई दिल्ली।
देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। हालांकि, फिलहाल करीब दस राज्य ऐसे हैं, जहां कोरोना संक्रमण के नए केस में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। पिछले साल की तरह महाराष्ट्र इस बार भी नई लहर में नंबर एक पर है। यहां पहले ही कई जिलों में बिगड़ते हालात को देखते हुए लॉकडाउन लगाया जा चुका है। वहीं, अब औरंगाबाद में भी एक दिन में कोरोना के 459 नए केस ने सभी की चिंता बढ़ा दी है। इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने सख्त फैसले लेने शुरू कर दिए है। इसी क्रम में आज यानी रविवार को प्रशासन जिले में लॉकडाउन लगाने पर फैसला ले सकता है।
auranga.jpg
औरंगाबाद के जिलाधिकारी सुशील चव्हाण ने बताया कि इस संबंध में एक बैठक हो रही है, जिसमें लॉकडाउन लगाया जाए या नहीं, इस पर फैसला होगा। 459 नए केस आने के बाद जिले में संक्रमण आंकड़ा अब 52 हजार
103 हो गया है। जिलाधिकारी के मुताबिक, आज शाम को बैठक होगी, जिसमें लॉकडाउन पर चर्चा करेंगे। इसमें पुलिस और नगर निगम के अलावा स्वास्थ्य विभाग से जुड़े लोग शामिल होंगे।
दिल्ली में डराने लगे कोरोना संक्रमण के नए मामले, फिर बढऩे लगी संक्रमित मरीजों की संख्या

इस बार लॉकडाउन के लिए पर्याप्त समय देंगे
हालांकि, जिलाधिकारी सुशील चव्हाण ने लॉकडाउन लगाए जाने के संकेत पहले ही दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि जिले में लॉकडाउन लगाया जा सकता है, लेकिन इस बार सभी को इसके लिए तैयार होने का पर्याप्त समय दिया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। यदि इसी तेजी से संख्या बढ़ती रही, तो अस्पतालों में बिस्तर की कमी हो जाएगी। ऐसे में लॉकडाउन के अलावा दूसरा विकल्प नहीं दिख रहा।
पांच कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई
जिलाधिकारी के मुताबिक, गत शुक्रवार तक जिले में इलाज करा रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 हजार 910 थी। इस दिन पांच मरीजों की मौत भी हो गई थी। वहीं, 179 और मरीजों को छुट्टी दे दी गई। जिले में अब तक ठीक हुए कोरोना संक्रमितों की संख्या 47 हजार 909 हो चुकी है। वहीं, पांच सक्रमितों की मौत होने से मृतकों की संख्या एक हजार दो सौ 84 हो गइ है। औरंगाबाद नगर निगम प्रशासन के अनुसार, हम स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए हैं। पहले भी जब हालात बिगड़े और कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ी, तो हमने स्थिति को संभाल लिया था, मगर अब यह चुनौती बन गया है।
जानिए दूसरे चरण में कोरोना का टीका लगवाने की क्या है पूरी प्रक्रिया, कहां होगा पंजीकरण

मार्च में अचानक बढऩे लगे नए केस
जिलाधिकारी सुशील चव्हाण के अनुसार, मार्च में अचानक मामले बढऩे लगे हैं। एक मार्च के बाद से जिले में कोरोना के एक हजार 737 नए केस सामने आ चुके हैं। हालांकि, इसमें 911 संक्रमित इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं। वहीं, शुक्रवार तक 17 मरीजों की मौत भी हो चुकी है, जो चिंताजनक है। बता दें कि महाराष्ट्र के मराठवाड़ा के दूसरे जिलों में भी कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े हैं। इसमें जालना में 202, बीड में 97, लातूर में 108, नांदेड़ में 128, उस्मानाबाद में 26, हिंगोली में 46, और परभणी जिले में 47 नए मामले बीते 24 घंटे में आ चुके हैं। वहीं, विदर्भ क्षेत्र से आने वाली बसों पर प्रतिबंध, राजनीतिक कार्यक्रम, आंदोलन और धार्मिक पूजा स्थलों पर प्रतिबंध 15 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra: गृहमंत्री शाह ने महाराष्ट्र के उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA को सौंपी, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुआ था मर्डरनूपुर शर्मा विवाद पर हंगामे के बाद ओडिशा विधानसभा स्थगितMaharashtra Politics: बीएमसी चुनाव में होगी शिंदे की असली परीक्षा, क्या उद्धव ठाकरे को दे पाएंगे शिकस्त?सरकार ने FCRA को बनाया और सख्त, 2011 के नियमों में किये 7 बड़े बदलावSingle Use Plastic: तिरुपति मंदिर में भुट्टे से बनी थैली में बंट रहा प्रसाद, बाजार में मिलेंगे प्लास्टिक के विकल्पकेरल में दिल दहलाने वाली घटना, दो बच्चों समेत परिवार के पांच लोग फंदे पर लटके मिलेक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशाना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.