डिस्चार्ज होने के दो हफ्ते बाद फिर से एम्स में भर्ती हुए Amit Shah

  • केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) शनिवार रात को राजधानी स्थित एम्स में किए गए भर्ती।
  • एम्स ( AIIMS new delhi ) के मुताबिक संसद के मानसून सत्र से पहले फुल बॉडी चेकअप के लिए पहुंचे।
  • बीते 2 अगस्त को हुए थे कोरोना संक्रमित, एम्स में हुई थी ठीक होने के बाद देखभाल।

 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जीत चुके केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) को एक बार फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल से डिस्चार्ज किए जाने के दो सप्ताह बाद ही शाह को फिर से अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ( AIIMS new delhi ) में भर्ती कराया गया है। गृह मंत्री को शनिवार को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। एम्स द्वारा रविवार को इस बात की पुष्टि की गई है।

सूत्रों के मुताबिक शाह को शनिवार रात लगभग 11 बजे नई दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था। गृह मंत्री को सीएन टॉवर में भर्ती किया गया है और यह वीवीआईपी के लिए आरक्षित सुविधा है। शाह का इलाज एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया द्वारा किया जा रहा है और उनकी हालत फिलहाल स्थिर बताई जा रही है।

वहीं, एम्स प्रशासन द्वारा रविवार को कहा गया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से पहले फुल बॉडी चेकअप के लिए भर्ती कराया गया है। इस संबंध में एम्स के मीडिया एंड प्रोटोकॉल डिविजन के अध्यक्ष द्वारा जारी बयान के मुताबिक, "केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को बीते 30 अगस्त को कोरोना वायरस के बाद की देखभाल के बाद एम्स, नई दिल्ली से डिस्चार्ज किया गया था।"

बयान में आगे लिखा गया, "डिस्चार्ज के वक्त दी गई सलाह के मुताबिक संसद के सत्र की शुरुआथ से पहले उन्हें एक या दो दिनों के लिए पूरी चिकित्सीय जांच के लिए भर्ती किया गया है।"

गौरतलब है कि अमित शाह पिछले एक महीने से कोरोना वायरस से ठीक होने के बाद की परेशानियों से पीड़ित हैं। कोरोना वायरस महामारी से उबरने के कुछ दिन बाद ही गृह मंत्री को 18 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था। उन्हें शरीर में दर्द और थकान की शिकायत थी।

इससे पहले बीते 2 अगस्त को अमित शाह की कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद उन्हें गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। इसके बाद 14 अगस्त को उनकी कोरोना टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। हालांकि 18 अगस्त को सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत के बाद एम्स में भर्ती कराया गया था।

Amit Shah
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned