Assam Mizoram Border Dispute: अमित शाह के दखल का असर, दोनों राज्य नरम पड़े

सीमा को लेकर उठे असम-मिजोरम विवाद में अमित शाह के दलख का दिखने लगा असर, सीएम हिमंता बिस्वा सरमा और मिजोरम सांसद का FIR से हटा नाम

नई दिल्ली। देश के पूर्वोत्तर राज्यों असम ( Assam ) और मिजोरम ( Mizoram ) के बीच चल रहा सीमा विवाद अब खत्म होने की उम्मीद नजर आ रही है। दरअसल केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ( Amit Shah ) के दखल का असर इस विवाद को सुलझाने की ओर दिख रहा है। शाह के दखल के बाद अब दोनों राज्यों ने एक दूसरे पर लगी एफआईआर ( FIR ) वापस ली है।

मिजारोम पुलिस ने जहां असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ( Himanta Biswa Sarma ) का नाम एफआईआर से हटाया है वहीं असम सीएम ने भी निर्देश जारी कर मिजोरम के सांसद का नाम एफआईआर से हटाने को कहा है।

यह भी पढ़ेंः Assam Mizoram Border Dispute: मिजोरम पुलिस ने असम के सीएम सरमा के खिलाफ दर्ज की FIR, एक अगस्त को पेश होने को कहा

दरअसल असम और मिजोरम के बीच चल रहे सीमा विवाद के बाद दोनों राज्यों ने एक-दूसरे को इस विवाद के लिए जिम्मेदार ठहराया। राज्यों के वरिष्ठ अधिकारियों पर केस भी दर्ज किए गए। यहां तक कि असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) पर भी मिजोरम पुलिस ने FIR दर्ज की है।

सीमा विवाद को लेकर असम और मिजोरम (Assam-Mizoram) के बीच तनाव अब कम होने की उम्मीद है। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के ट्वीट इस बात के संकेत दे रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बीच में आने के बाद दोनों मुख्यमंत्रियों के बयान में नरमी आई है। मिजोरम ने असम के सीएम का नाम एफआईआर से हटा दिया है।

मिजारोम सांसद के खिलाफ दर्ज FIR वापस
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने मिजोरम के सांसद वनलालवेना के खिलाफ अपने राज्य में दर्ज FIR को वापस लेने का फैसला लिया है।

उन्होंने ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी और कहा कि पुलिस को मिजोरम के सांसद वनलालवेना के खिलाफ दर्ज FIR वापस लेने को कहा गया है, लेकिन अन्य पुलिस अधिकारियों के खिलाफ दर्ज मामलों में आगे की कार्रवाई जारी रहेगी।

बता दें कि मिजोरम के राज्यसभा सांसद वनलालवेना पर असम पुलिस ने 26 जुलाई को एफआईआर दर्ज की थी। उन पर प्रदेश की सीमा पर हुई हिंसा के बाद ये कार्रवाई की गई थी।

यह भी पढ़ेंः असम-मिजोरम सीमा विवाद: गृह मंत्री अमित शाह ने दोनों राज्यों के सीएम से की बात

वहीं मुख्यमंत्री सरमा ने कहा कि, मिजोरम के सीएम की ओर से भी सीमा विवाद को सुलझाने की पेशकश की गई है और असम सरकार भी यही चाहती है ताकि पूर्वोत्तर का जज्बा बना रहे और हमारी सीमाओं पर शांति कायम रहें।

हालांकि जानकार इस सुलह और शांति की पहल के पीछे गृहमंत्री अमित शाह के दखल को मान रहे हैं। शाह ने दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों से जल्द से जल्द इस सीमा विवाद को हल करने को कहा ताकि पूर्वोत्तर को लेकर ना पार्टी और राज्यों की छवि खराब हो।

इससे पहले कोलासिब जिले के वैरेंगते नगर में हुई हिंसा के मामले में मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा समेत पुलिस के कई वरिष्ठ अफसरों के खिलाफ मिजोरम में केस दर्ज किया गया था। हालांकि इस मामले में मिजोरम पुलिस ने सीएम बिस्वा का नाम तो एफआईआर से हटा दिया है, लेकिन अधिकारियों के नाम अब भी शामिल हैं।

Amit Shah
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned