Assam Mizoram Border Dispute: मिजोरम पुलिस ने असम के सीएम सरमा के खिलाफ दर्ज की FIR, एक अगस्त को पेश होने को कहा

मिजोरम पुलिस ने असम सीएम हिमंता बिस्वा सरमा समेत राज्य पुलिस के चार वरिष्ठ अधिकारियों और दो अन्य अधिकारियों के खिलाफ दर्ज की एफआईआर, असम पुलिस ने भी मिजोरम के 6 अधिकारियों को किया तलब

नई दिल्ली। देश के पूर्वोत्तर राज्य असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद ( Assam Mizoram Border Dispute ) थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब मिजोरम पुलिस ( Mizoram Police ) ने कोलासिब जिले के वैरेंगते नगर के बाहरी हिस्से में हुई हिंसा के मामले में असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ( Himanta Biswa Sarma ) के खिलाफ एफआईआर ( FIR ) दर्ज की है। सीएम के अलावा राज्य पुलिस के चार वरिष्ठ अधिकारियों और दो अन्य अधिकारियों के खिलाफ भी आपराधिक मामले दर्ज किए हैं।

मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक जॉन एन के मुताबिक इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ेंः Assam Mizoram Border Dispute: मिजोरम सरकार ने केंद्र को लिखा पत्र, हस्तक्षेप करने लिए की अपील

जॉन एन ने कहा कि सीमांत नगर के पास मिजोरम और असम पुलिस बल के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद सोमवार देर रात को राज्य पुलिस की तरफ से वैरेंगते थाने में FIR दर्ज की गई थी। साथ ही कहा कि असम पुलिस के 200 अज्ञात कर्मियों के खिलाफ भी मामले दर्ज किए गए हैं।

1 अगस्त को थाने में पेश हों असम सीएम
असम सीएम हिमंता बिस्वा सरमा समेत जिन लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है, उन्हें 1 अगस्त को थाने में पेश होने को कहा गया है। बता दें कि FIR कथित तौर पर मिजोरम के वैरेंगते जिले में प्रवेश करने और कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन करने के साथ ही भारतीय दंड संहिता के साथ मिजोरम रोकथाम और कोविड -19 अधिनियम 2020 की रोकथाम के तहत दर्ज की गई है।

यह भी पढ़ेंः मिजोरम के सांसद ने असम पुलिस को दी जान से मारने की धमकी

असम ने मिजोरम के 6 अधिकारियों को किया तलब
एक तरफ मिजोरम पुलिस की ओर से एफआईआर दर्ज की गई है तो दूसरी तरफ असम पुलिस ने भी बड़ी कार्रवाई की है। असम पुलिस ने कोलासिब जिले के पुलिस अधीक्षक और उपायुक्त समेत मिजोरम सरकार के छह अधिकारियों को धोलाई पुलिस थाने में सोमवार को पेश होने के लिए समन जारी किया है।
बता दें कि इन अधिकारियों को 28 जुलाई को समन जारी किए गए थे। यानी मिजोरम पुलिस से पहले ही असम पुलिस की ओर से कार्रवाई की गई थी।
बता दें कि इससे दो दिन पहले कछार जिले के लैलापुर में असम और मिजोरम पुलिस बलों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था। इसमें असम पुलिस के पांच कर्मी और एक निवासी की मौत हो गई थी जबकि 50 से अधिक अन्य घायल हो गए थे।

वहीं इस घटना के बाद असम के गृह सचिव एम एस मणिवन्नन की ओर से एक एडवाइजरी में कहा गया कि मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए अमस को लोगों को सलाह दी जाती है कि वे मिजोरम की यात्रा न करें।
असम की तरफ से अपने नागरिकों को पड़ोसी राज्य की यात्रा नहीं करने के लिए कहने पर मिजोरम ने फैसले की निंदा की।
मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने ट्वीट कर कहा कि सभी को सार्वजनिक सूचना। पूर्वोत्तर भारत हमेशा एक रहेगा।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned