मिजोरम के सांसद ने असम पुलिस को दी जान से मारने की धमकी

मिजोरम के सांसद वनलालवेना ने संसद भवन में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि यदि वे फिर से आएंगे तो हम उन सबको मार डालेंगे।

नई दिल्ली। देश के पूर्वोत्तर में स्थित दो राज्य असम और मिजोरम के बीच चल रहा सीमा विवाद लगातार बढ़ता ही जा रहा है। हाल ही में हुई हिंसक झड़प में जहां कई लोगों की मौत हो गई थी, वहीं अब दूसरी ओर असम पुलिस ने मिजोरम के राज्यसभा सांसद के वनलालवेना पर साजिश करने तथा सार्वजनिक रूप से जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगया है।

यह भी पढ़ें : पत्रिका इंटरव्यू: मुकाबला वैश्विक है, आर्थिक उदारीकरण को अगले चरण में ले जाना होगा - डी के जोशी

असम पुलिस के आरोपों के जवाब में वनलालवेना ने कहा कि उन पर जानबूझकर हमला किया गया। यदि वे फिर से आएंगे तो हम उन सबको मार डालेंगे। संसद भवन के बाहर मिजोरम सासंद ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि 200 से अधिक पुलिसकर्मियों ने हमारे एरिया में प्रवेश किया और हमारे राज्य के पुलिसकर्मियों को अपनी चौकियों से पीछे धकेल कर फायरिंग के आदेश दिए। हमने पहले फायरिंग नहीं की थी। वनलालवेना ने आगे कहा कि वे भाग्यशाली हैं जो हमने उन्हें नहीं मारा परन्तु यदि वे फिर से लौट कर आएंगे तो हम उन सबको मार डालेंगे।

यह भी पढ़ें : चीन को पूर्वी मोर्च पर मुंहतोड़ जवाब देगा भारत, तैनात किए रफाल लड़ाकू विमान

असम पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी जी.पी. सिंह ने इसी बयान पर ट्वीट करते हुए कहा कि इस इंटरव्यू से अनुभव होता है कि घटना के पीछे की साजिश से संबंधित कार्रवाई की योजना बन रही है। सिंह ने कहा कि इस इंटरव्यू से साजिश में सांसद की सक्रिय भूमिका का संकेत मिलता है। इसलिए असम पुलिस की एक टीम सीआईडी के अधिकारियों के साथ कानूनी कार्रवाई करने के लिए दिल्ली रवाना होगी।

उन्होंने यह भी कहा कि हिंसा में शामिल लोगों की फोटो को एकत्रित कर एक गैलेरी बनाई गई हैं। इन लोगों में मिजोरम के पुलिसकर्मी तथा स्थानीय लोग शामिल हैं, जिन्होंने असम पुलिस पर गोलियां चलाई थीं।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned