गाजीपुर बॉर्डर पर बीजेपी कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच जोरदार झड़प, गाड़ियों में भी हुई तोड़फोड़

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों और बीजेपी कार्यकतार्ओं के बीच सामने आई मारपीट की घटना, दोनों एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे

नई दिल्ली। गाजीपुर बार्डर पर किसानों ( Farmer ) और भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के कार्यकर्ताओं के बीच भिड़ंत हो गई। बताया जा रहा है कि बीजेपी कार्यकर्ता नवनियुक्त प्रदेश मंत्री अमित वाल्मीकि का स्‍वागत करने वहां पहुंचे थे। स्वागत के चलते वे ढोल बजाकर नारे भी लगा रहे थे। उसी दौरान बवाल शुरू हो गया।

बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किसानों पर तोड़फोड़, हंगामे और पथराव का आरोप लगाया है। उधर किसान नेता राकेश टिकैत ने बीजेपी कार्यकर्ताओं पर किसानों के मंच पर कब्‍जा करने का आरोप लगाया। यही नहीं टिकैत ने ये भी आरोप लगाय कि पिछले तीन दिन से यहां पुलिस के संरक्षण में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश की जा रही थी।

यह भी पढ़ेंः Kisan Andolan: सात महीने पूरे होने पर देशभर में अन्नदाताओं का प्रदर्शन जारी, पंचकूला में किसानों की भारी भीड़ से बढ़ी मुश्किल

दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों और बीजेपी ( BJP ) नेताओं के बीच बुधवार को जमकर हंगामा हुआ है। बीजेपी समर्थकों का आरोप है कि किसानों ने हंगामा और पथराव शुरू कर दिया। हालात इतने खराब होते गए कि बीजेपी नेता की गाड़ी को वहां से निकालने में पुलिस को मशक्कत करनी पड़ी।

टिकैत ने बीजेपी पर लगाए आरोप
इस पूरे हंगामे में किसान नेता राकेश टिकैत ने बीजेपी पर कई संगीन आरोप लगाए। उनका कहना है कि बीजेपी नेता हमारे मंच पर आए थे और अपने नेता का स्वागत करने लगे थे, यह गलत है।

टिकैत ने भारतीय किसान यूनियन के एक ट्विट को रीट्विट किया। इसमें लिखा था- 'भाजपा के कार्यकर्ताओं ने आज गाजीपुर बॉर्डर पर फ्लाईवे केबीच मंच के पास भारी संख्या में इकट्ठे होकर किसी नेता के स्वागत के बहाने ढोल बजाकर आंदोलन विरोधी नारे लगाए।भाकियू कार्यकर्ताओं के मना करने लाठी डंडों से हमला किया। जिसमे किसान घायल हुए है।'

टिकैत ने धमकी भरे लहजे में कहा कि, मंच सड़क पर है तो इसका मतलब ये नहीं है कि मंच पर आ जाओगे, अगर मंच पर आना है तो बीजेपी छोड़कर आओ, लेकिन यह दिखाना कि हमने गाजीपुर के मंच पर भाजपा का झंडा फहरा कर कब्जा कर लिया, यह गलत है। ऐसे लोगों के बक्कल उधेड़ दिया जाएगा, प्रदेश में फिर कहीं भी नहीं जा सकते हैं, याद रख लेना।

यह भी पढ़ेंः अयोध्या में बवाल, हनुमानगढ़ी पर लगा ताला, नाराज व्यापारियों ने अयोध्या बंद कराया


एक अन्य ट्विट में भारतीय किसान यूनियन ने कहा, 'भाजपा अब आंदोलन को हिंसा से तोड़ना चाहती है जिसका उदाहरण आज की गाजीपुर बॉर्डर पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा की गई हिंसा है, सभी किसानों से अनुरोध है इनके बहकावे में ना आएं और अपने आंदोलन को बचाए रखें।'

531.jpg

वहीं बीजेपी एक कार्यकर्ता के मुताबिक, 'हम अपने नेता का स्वागत कर रहे थे और तभी कुछ लोग आए और उनके हाथों में लोहे के डंडे वगैरह थे। उन्होंने गाड़ियों में तोड़फोड़ और मारपीट शुरू कर दी. उन्होंने करीब 70 से 80 गाड़ियों में तोड़फोड़ की है।'

BJP workers
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned