सीएम केजरीवाल की केंद्र से अपील, रद्द किए जाएं CBSE एग्जाम

दिल्ली में बढ़ते Corona के बीच लॉकडाउन को लेकर सीएम केजरीवाल ने कही बड़ी बात

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस ( Coronavirus In Delhi ) के नए मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। यही वजह है कि केजरीवाल सरकार भी लगातार सख्त कदम उठा रही है। नाइट कर्फ्यू के साथ-साथ कोविड नियमों के सख्ती से पालन को लेकर दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ( Arvind Kejriwal ) ने केंद्र से सीबीएसई की एग्जाम ( CBSE Exam ) रद्द करने की अपील की है। यही नहीं उन्होंने राजधानीवासियों से प्लाज्मा डोनेट करने का भी अनुरोध किया है।

यह भी पढ़ेँः दिल्ली में भी Lockdown के संकेत, सीएम केजरीवाल ने बुलाई अहम बैठक

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मंगलवार को मीडिया से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि- दिल्ली में 65 फीसदी मरीज 45 वर्ष उम्र से कम के सामने आ रहे हैं। युवा से अपील करना चाहता हूं कि देश के लिए परिवार के लिए बहुत कीमती हैं।

सबसे अपील है कि जब तक जरूरी ना हो घर से ना निकलें। घर से निकलें तो कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो करें।

केजरीवाल ने कहा- 45 वर्ष से ऊपर के रोगी तुरंत वैक्सीन लगवाएं। वैक्सीन पूरी तरह फ्री है। सभी अस्पताल 24 घंटे खुले हैं।

...तो सीबीएसई एग्जाम बनेगी बड़ा हॉट-स्पॉट
सीएम केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 6 लाख बच्चे सीबीएसई की एग्जाम में बैठेंगे। वहीं 1 लाख टीचर्स हिस्सा लेंगे। ये बड़ा हॉट स्पॉट बन सकता है। मेरी केंद्र से अपील है सीबीएसई की परक्षा रद्द की जाए। इसके लिए कोई और विकल्प निकाले जाएं।

कई देशों ने जहां दूसरी लहर का कहर है वहां एग्जाम रद्द की हैं। हमारे देश में भी राज्य सरकारों ने अपने बोर्ड की एग्जाम रद्द की हैं।

लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर दोहराया कि हम दिल्ली में लॉकडाउन नहीं लगाना चाहते। हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर काबू में रहे ये हमारी कोशिश है।

हॉस्पिटल के साथ बैक्विट हॉल और होटल अटैच
उन्होंने कहा- बड़े-बड़े अस्पताल के साथ बैंक्विट हॉल और होटल को अटैच कर रहे हैं। कम बीमारी वाले मरीजों को बैक्विट हॉल में शिफ्ट करेंगे।

अस्पतालों में सिर्फ गंभीर रोगियों को ही रखा जाएगा। जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत है, उनका इलाज बैक्विट हॉल में भी हो सकता है।

कुछ अस्पतालों को सरकारी और निजी अस्पताल को 100 फीसदी कोविड घोषित कर दिया है। हमें उम्मीद है कि सब इसमें सहयोग देंगे।

यह भी पढ़ेंः हरिद्वार महाकुंभ में ताक पर रखे Corona के नियम, जानिए कितने पॉजिटिव केस आए सामने

नॉन कोविड बीमारियों को लेकर प्लान्ड सर्जरी आदि को फिलहाल टाला जा सकता है। इन्हों दो से तीन महीने तक टाल रहे हैं।

डॉक्टर की सलाह पर ही हों भर्ती
एक-एक रोगी में ये देखा जा रहा है कि अगर वो रोगी घर में ठीक हो सकता है, तो उस मरीज को घर ही भेजा जा रहा है। खास बात यह है कि घर पर भी लगातार आप निगरानी में रहेंगे। डॉक्टरों के ऑब्जर्वेशन में रहेंगे।
डॉक्टरों की सलाह के मुताबिक ही अस्पताल में भर्ती हों।

बढ़चढ़ कर डोनेट करें प्लाज्मा
सीएम ने कहा- पिछली बार जब कोरोना हुआ था तो सभी ने बढ़चढ़ कर प्लाज्मा डोनेट किया था। फिलहाल प्लाज्मा स्टॉक में कम है और इसकी मांग बढ़ रही है। आप एक बार फिर प्लाज्मा डोनेट करें।

यही वक्त है जब हमें एक-दूसरे की मदद के लिए आगे आना है। सब मिलकर परिवार की तरह काम करेंगे तो जिस तरह तीन लहरों का मुकाबला किया है, हम चौथी लहर को भी हरा देंगे।

यह भी पढ़ेंः कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के बीच जानिए क्यों बीजेपी ऑफिस के बाहर लोग लगा रहे लंबी कतार

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में कोरोना ने मचाया कोहराम, एक दिन में रिकॉर्डतोड़ 11 हजार से ज्यादा नए केस

Arvind Kejriwal
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned