Corona Effect: Assam में बोर्ड परीक्षा का सिलेबस हुआ कम, जानें किन-किन राज्यों में पाठ्यक्रम में की गई कटौती

  • शिक्षा पर भी पड़ा Coronavirus का असर
  • Assam में भी सिलेबस को 30 प्रतिशत किया गया कम
  • CBSE के साथ-साथ कई राज्यों ने बोर्ड के पाठ्यक्रम में की कटौती

नई दिल्ली। पूरे देश में कोरोना वायरस (coronavirus) का कहर जारी है। इस महामारी के कारण अब तक प्रतिबंध और लॉकडाउन (India Lockdown) जारी है। हालांकि, Unlock के तहत देश को दोबारा खोला जा रहा है। लेकिन, शैक्षणिक संस्थान अभी भी बंद हैं। हालांकि, 21 सिंतबर से केन्द्र सरकार ने 9वीं से 12वीं तक के छात्रों को टीचर और पेरेंट्स की सलाह के बाद स्कूल जाने की इजाजत दी है। इस महामारी के के कारण छात्रों की पढ़ाई पर काफी बड़ा असर पड़ा है। इतना ही नहीं मामले की गंभीरता को देखते हुए कई राज्यों ने सिलेबस ( Syllabus ) में कटौती भी कर दी है। इसी कड़ी में असम सरकार ( Assam Government ) ने 10वीं के सिलेबस को 30 प्रतिशत कम कर दिया है। सरकार का यह फैसला साल 2021 तक के लिए है।

रिपोर्ट के मुताबिक, सभी स्कूलों को नए शैक्षणिक वर्ष के लिए पीडीएफ प्रारूप में नया पाठ्यक्रम दिया जाएगा। इसके अलावा SEBA ने 9 वीं कक्षा के छात्रों के सिलेबस में भी 30 प्रतिशत की कमी की है। सरकार ने यह कदम उन छात्रों के बोझ को कम करने के लिए उठाया है, जो कोरोना महामारी (COVID-19) के कारण घर के अंदर बंद हैं। SEBA के अध्यक्ष आर सी जैन ने बताया कि सभी विषयों के लगभग 30 प्रतिशत पाठ्यक्रम कम हो जाएंगे और बोर्ड स्कूलों को नया पाठ्यक्रम भेजेगा। नया सिलेबस SEBA बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध कराया जाएगा। बताया जा रहा है कि उच्च माध्यमिक द्वितीय वर्ष के छात्रों के पाठ्यक्रम को भी 30 प्रतिशत कम कर दिया गया है। हालांकि, कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार ने अगामी 30 सितंबर तक स्कूल को बंद करने का फैसला किया है। हालांकि, असम पहला राज्य नहीं है जहां छात्रों के सिलेबस कम किया गया है। कई और राज्य हैं जहां पाठ्यक्रम में कटौती की गई है।

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने भी कोरोना महामारी के कारण सिलेबस में कटौती की है। केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ( Ramesh Pokhriyal ) ने कहा था कि 9वीं से लेकर 12वीं तक के पाठ्यक्रम को कम किया जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार, बोर्ड ने 190 विषयों के सिलेबस को 30 प्रतिशत कम कर दिया है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ ( Chhattisgarh ) माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड ने भी सिलेबस को कम करने का फैसला किया है। जानकारी के मुताबिक, कक्षा 9 से लेकर 12 तक राज्य सरकार 35 फीसदी सिलेबस को कम करने की तैयारी में है। ओडिशा (Odisha) सरकार ने भी 2020-21 के शैक्षणिक वर्ष के लिए पहली कक्षा से लेकर 12वीं तक के सिलेबस में 30 प्रतिशत की कमी कर दी है। वहीं, बिहार (Bihar) सरकार भी सिलेबस को कम करने की तैयारी में है। BSEB ने सिलेबस को कम करने का प्रस्ताव राज्य सरकार के पास भेज दिया है।

कोरोना का असर हर राज्य में पड़ा है और जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हुआ है। झारखंड (Jharkhand) सरकार ने भी कक्षा नौ से 12वीं तक के सिलेबस में कटौती करने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि पाठ्यक्रम में 40 फीसदी की कटौती की जाएगी। उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) में कुछ इसी तरह का फैसला लिया गया है। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने कक्षा नौ से लेकर 12वीं तक के सिलेबस को 30 प्रतिशत कम करने का फैसला किया है। राजस्थान ( Rajasthan ) माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के सिलेबस को कम करने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि बोर्ड 40 फीसदी पाठ्यक्रम में कटौती करेगा। हरियाणा ( Haryana ) विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने भी सिलेबस को कम किया है। बोर्ड ने 30 फीसदी पाठ्यक्रम को कम करने का फैसला किया है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned