scriptCoronavirus: US Doctor Faheem Younus busted 10 myths of COVID-19, Shashi Tharoor Tweets | Coronavirus: अमरीकी एक्सपर्ट ने दूर किए 10 मिथक, शशि थरूर ने कहा हर शख्स के लिए जरूरी | Patrika News

Coronavirus: अमरीकी एक्सपर्ट ने दूर किए 10 मिथक, शशि थरूर ने कहा हर शख्स के लिए जरूरी

  • कोरोना वायरस को लेकर फैली गलतफहमियां एक-एक कर कीं दूर।
  • अमरीकी यूनिवर्सिटी में संक्रामक रोगों के प्रमुख हैं डॉ. फहीम युनूस।
  • हर व्यक्ति के लिए जरूरी हैं इन सभी बातों को अच्छी तरह जानना।

नई दिल्ली

Updated: March 18, 2020 03:43:36 pm

नई दिल्ली। जिस तरह देश और दुनिया में कोरोना वायरस पैर पसार रहा है, इससे जुड़े तमाम भ्रम-अफवाहें-मिथक भी सामने आने लगे हैं। भले ही कोरोना वायरस का संक्रमण उतनी तेजी से ना फैले, लेकिन यह अफवाहें-मिथक बहुत तेजी से फैलते हैं। इसे लेकर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने बुधवार को एक ट्वीट को शेयर किया और कहा कि इसे हर व्यक्ति तक पहुंचना चाहिए। यह ट्वीट है अमरीकी एक्सपर्ट डॉ. फहीम युनूस का, जिन्होंने कोरोना वायरस को लेकर फैले 10 महत्वपूर्ण मिथकों को तोड़ा है।
10 myths of COVID-19
10 myths of COVID-19
#Coronavirus को लेकर पीएम मोदी की बड़ी घोषणा, 1 लाख रुपये का इनाम देने का ऐलान

सबसे पहले तो वरिष्ठ कांग्रेस नेता शशि थरूर के अपडेट के बारे में बता दें, जिन्होंने बुधवार दोपहर एक ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा, "यह एक बेहद महत्वपूर्ण थ्रेड (कई ट्वीट्स की चेन) है- यहां तक कि #COVID19 की जानकारी के साथ इसे पढ़ने के लिए और ज्ञानवर्धन करने के लिए निवेदन करने वाले लोगों से आग्रह भी किया जाता है।"
आपकी जेब में रखे करेंसी नोट से भी है कोरोना वायरस का खतरा, आरबीआई ने जारी की एडवायजरी

थरूर ने डॉ. फहीम युनूस के ट्वीट को शेयर किया है। फहीम अमरीका की यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड में चीफ क्वॉलिटी ऑफिसर और संक्रामक रोगों के प्रमुख हैं, जो स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारियां ट्वीट करते हैं। फहीम ने अपने ट्वीट में लिखा, "मैं #COVID19 के बारे में कई मिथक सुन रहा हूं और जल्दी से इन बातों को साफ करना चाहूंगा। गर्मी के महीनों मे कोरोना वायरस स चले जाएंगे। गलत। पिछली महामारियां मौसम के मिजाज के अनुरूप नहीं चलीं, और साथ ही जैसे कि जब हम गर्मियों में प्रवेश करेंगे, दक्षिणी गोलार्ध में सर्दी हो जाएगी। वायरस वैश्विक है।"
मिथक #1: COVID-19 के लिए इबुप्रोफेन खराब है। क्या मुझे इसके बजाय टाइलेनॉल का उपयोग करना चाहिए?

नहीं, यह गलत है। इस लापरवाह राय को साबित करने वाले अध्ययन नहीं हैं।

मिथक #2: गर्मियों में, मच्छर के काटने से वायरस अधिक फैल जाएगा।

गलत। यह संक्रमण श्वसन की बूंदों से फैलता है, खून से नहीं। मच्छर इसे नहीं फैलाते हैं।

मिथक #3: यदि आप बिना किसी परेशानी के 10 सेकेंड के लिए अपनी सांस रोक सकते हैं, तो आपको COVID नहीं है।

गलत। कोरोना वायरस संक्रमित अधिकांश युवा रोगी 10 सेकेंड से अधिक समय तक अपनी सांस रोक पाएंगे और वायरसमुक्त कई बुजुर्ग ऐसा करने में सक्षम नहीं होंगे।

मिथक #4: चूंकि COVID परीक्षण अनुपलब्ध है, हमें रक्त दान करना चाहिए। ब्लड बैंक इसके लिए परीक्षण करेगा।

गलत। कोई भी ब्लड बैंक कोरोना वायरस के लिए परीक्षण नहीं कर रहा है, इसलिए यह प्रयास विफल हो जाएगा। रक्तदान एक पवित्र कार्य है; आइए सुनिश्चित करें कि हम सही कारणों से प्रेरित हैं।

मिथक #5: कोरोना वायरस गले में रहता है। इसलिए ढेर सारा पानी पीएं ताकि वायरस पेट में चला जाए जहां एसिड उसे मार देगा।

गलत। वायरस गले के माध्यम से प्रवेश कर सकता है लेकिन यह कोशिकाओं में प्रवेश करता है। आप इसे धो नहीं सकते। अत्यधिक पानी आपको केवल शौचालय तक ही पहुंचाएगा।

मिथक #6: यह सभी सामाजिक दूरियां एक बेवजह की प्रतिक्रिया हैं। आप देखेंगे कि वायरस बहुत नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

अगर हमें काफी संक्रमण नहीं दिखते हैं (मुझे उम्मीद है), तो यह वास्तव में साबित होगा कि सामाजिक दूरियां बनाना काम कर गया। केवल ऐसा नहीं है कि वायरस कभी बड़ी बात नहीं थी।

मिथक #7: कार दुर्घटनाओं में प्रतिवर्ष 30,000 लोगों की मौत होती है। तो COVID-19 के साथ क्या बड़ी बात है?

कार दुर्घटना संक्रामक नहीं हैं। इससे हर तीन दिनों में दोगुनी मौते नहीं होती हैं, ये बड़े पैमाने पर आतंक या बाजार में गिरावट का कारण नहीं बनती हैं।

मिथक #8: साबुन और पानी से हैंड सैनेटाइज़र बेहतर होते हैं।

गलत। साबुन और पानी वास्तव में त्वचा से वायरस को मारता है और धो देता है (यह हमारी त्वचा की कोशिकाओं में प्रवेश नहीं कर सकता है) और साथ ही यह हाथ में दिखाई देने वाले मैल को भी साफ करता है। चिंता मत करिए अगर आपकी सुपरमार्केट में हैंड सैनेटाइजर खत्म हो गया हो।

मिथक #9: COVID-19 को रोकने के लिए सबसे अच्छे तरीकों में से एक यह है कि अपने घर में हर दरवाजे के हैंडल को कीटाणुनाशक से साफ करना है।

गलत। हाथ धोना और 6 फीट की दूरी बनाए रखना सबसे अच्छा अभ्यास है। जब तक आपके घर में एक COVID रोगी नहीं है, तब तक आपके घर की सतहों पर बड़ा जोखिम नहीं होना चाहिए।

मिथक #10: COVID-19 जानबूझकर (आपकी राजनीति के आधार पर) अमरीकी या चीनी सेना द्वारा फैलाया गया था।

वास्तव में ऐसा है क्या???

(फिलहाल इतना ही। स्वस्थ रहो। दयालु हो। विशवास रखो। दूसरी तरफ मिलते हैं। यह वक्त भी गुजर जाएगा।)
newsletter

अमित कुमार बाजपेयी

पत्रकारिता में एक दशक से ज्यादा का अनुभव. ऑनलाइन और ऑफलाइन कारोबार, गैज़ेट वर्ल्ड, डिजिटल टेक्नोलॉजी, ऑटोमोबाइल, एजुकेशन पर पैनी नज़र रखते हैं. ग्रेटर नोएडा में हुई फार्मूला वन रेसिंग को लगातार दो साल कवर किया. एक्सपो मार्ट की शुरुआत से लेकर वहां होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनियों-संगोष्ठियों की रिपोर्टिंग.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंची, अयोग्य ठहराने के नोटिस पर शिंदे गुट की याचिका पर आज सुनवाईRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'जम्मू कश्मीर: अमरनाथ यात्रा से पहले डोडा में पुलिस पर हमले की साजिश रच रहा लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, चीनी पिस्तौल बरामदRam Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परराष्ट्रपति चुनाव: विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा आज नामांकन दाखिल करेंगेभारतीय टीम ने आयरलैंड को पहले टी-20 में 7 विकेट से रौंदा, हार्दिक पांड्या और दीपक हूडा का दमदार प्रदर्शन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.