Coronavirus से देश को बचाने का शानदार आइडिया लाओ, 1 लाख रुपये का इनाम ले जाओ

  • COVID-19 Solution Challenge में हिस्सा लेने की अंतिम तिथि 31 मार्च।
  • पहला इनाम 1 लाख, दूसरा 50 हजार और तीसरा 25 हजार रुपये।
  • पीएम मोदी ने ट्वीट कर शेयर किया प्रतियोगिता का लिंक।

नई दिल्ली। दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रकोप और खौफ के बीच भारत इसके खिलाफ लड़ाई में काफी बेहतर प्रयास करता नजर आ रहा है। हालांकि तमाम प्रयासों-सावधानियों के बावजूद रोजाना देश के तमाम इलाकों से नए-नए केस सामने आ रहे हैं। ऐसे में अब केंद्र सरकार ने आम नागरिकों से देश को कोरोना वायरस से बचाने के शानदार विचार मंगाए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्वयं ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और विजेता को 1 लाख रुपये के इनाम देने का ऐलान किया।

दरअसल, कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सोशल मीडिया की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके माध्यम से जहां सावधानी और सुरक्षा बरतने का बेहतर प्रचार किया जा रहा है, तमाम ऐसे भी लोग हैं जो तकनीकी के जरिये कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के तरीके बता रहे हैं।

कोरोनावायरस को लेकर सामने आई सबसे बड़ी जानकारी, साबुन-हैंड सैनेटाइजर के इस्तेमाल पर खुलासा

ऐसे में पीएम मोदी ने सोमवार शाम को एक ट्वीट कर लोगों से कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए सुझाव और समाधान मांगे। पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, "एक स्वस्थ ग्रह के लिए नवीनता का दोहन करें। बहुत से लोग COVID-19 के लिए तकनीकी-आधारित समाधान साझा कर रहे हैं। मैं उनसे आग्रह करूंगा कि वे उन्हें @mygovindia पर साझा करें। ये प्रयास कईयों की मदद कर सकते हैं। #IndiaFightsCorona"

पीएम मोदी ने इसके साथ एक लिंक भी शेयर किया है। भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के इन्नोवेट अभियान के अंतर्गत COVID 19 Solution Challenge के नाम से एक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।

इसके मुताबिक, "भारत सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठा रही है कि हम कोरोना वायरस COVID-19 की बढ़ती महामारी से उत्पन्न चुनौती और खतरे का सामना करने के लिए अच्छी तरह से तैयार हैं। भारत के लोगों के सक्रिय समर्थन के साथ, हम अपने देश में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने में सक्षम हैं।"

बड़ी खबरः कोरोना वायरस का बढ़ता जा रहा खतरा, विमान में एक शख्स की मौत के बाद एयरपोर्ट पर हड़कंप

इसमें आगे लिखा गया, "स्थानीय रूप से वायरस के प्रसार को रोकने में सबसे महत्वपूर्ण कारक नागरिकों को सही जानकारी और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी की जा रही सलाह के अनुसार सावधानी बरतना है।"

प्रतियोगिता के लिए बताया गया, "इसके अलावा, हम उन व्यक्तियों और कंपनियों के संबंध में भी जानकारी प्राप्त कर रहे हैं, जिन्होंने बायोइनफॉरमैटिक्स, डेटासेट, रोग पहचान के लिए ऐप आदि जैसी प्रौद्योगिकी और नवीन समाधान विकसित किए हैं जिनका लाभ कोरोना के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए उठाया जा सकता है।"

इसके समाधान की प्रतियोगिता के लिए कहा गया, "वायरस के खिलाफ लड़ाई में समुदाय को शामिल करने के लिए, हम चाहते हैं कि आप #Coronavirus से लड़ने में मदद करने के लिए अपने समाधान साझा करें। पेश किए गए समाधान को अपनाने के लिए उनका मूल्यांकन किया जाएगा और चुने गए लोगों को उपयुक्त इनाम दिया जाएग कोरोना वायरस रस के खिलाफ मिशन का हिस्सा बनें!"

इस प्रतियोगिता की शुरुआत सरकार ने आज यानी सोमवार 16 मार्च से कर दी है और लोग इसके लिए आगामी 31 मार्च तक प्रविष्टियां भेज सकते हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच बड़ी खबर, कई प्रदेश सरकारों का स्कूल-कॉलेज ही नहीं मॉल-स्वीमिंग पूल बंद

कौन ले सकता है हिस्सा

इस प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति हिस्सा ले सकता है या फिर कोई स्टार्टअप भी अपना सुझाव दे सकता है। अगर कोई स्टार्टअप इसके लिए किसी IPR/मरीज के इस्तेमाल के लिए कहता है, तो उसके पास इसके वैधानिक अधिकार होने चाहिए। सरकार का MyGov पोर्टल चाहे तो पेश किए गए सभी समाधानों का सही पाए जाने पर इस्तेमाल भी कर सकता है।

इनाम

प्रतियोगिता में पहला इनाम 1 लाख रुपये रखा गया है, जबकि दूसरे पायदान पर आने वाले को 50 हजार रुपये और तीसरे पायदान पर आने वाले के लिए 25 हजार रुपये का इनाम रखा गया है।

कैसे करें अप्लाई

प्रतियोगी इसके लिए या तो अपने सॉल्यूशन की अधिकतम 3 पन्नों वाली पीडीएफ फाइल या फिर अधिकतम 3 मिनट की अवधि वाले यूट्यूब वीडियो का लिंक भेज सकते हैं। इसके लिए वेबसाइट पर ही लिंक दिया गया है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned