नोएडा में कोरोना की एंट्री पर कड़ी निगरानी, बॉर्डर पर रैंडम टेस्टिंग शुरू

-क्रॉस बॉर्डर संक्रमण को रोकने के लिए नोएडा प्रशासन ने एहतिहाती तौर पर कड़े कदम उठाए हैं।
-दिल्ली और नोएडा बॉर्डर पर कोरोना वायरस की रैंडम टेस्टिंग शुरू।
-नवंबर महीने में दिल्ली में मृत्यु दर में हुई खासी बढ़ोत्तरी। दिल्ली में कोरोना के 26.5 प्रतिशत मामले बढ़े।

नई दिल्ली। वैसे तो पूरे विश्व में ही कोरोना वायरस (Coronavirus) तेजी से फैल रहा है। लेकिन जबसे मौसम में बदलाव हुआ है, तबसे भारत के हर राज्य में संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। खासकर दिल्ली में। खबरें तो यहां तक भी आई थी कि दिल्ली के सीएम केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) दोबारा से लॉकडाउन लगाने का विचार कर रहे हैं। लेकिन इस बीच नोएडा (Noida) और दिल्ली बॉर्डर (delhi border) पर कोरोना की रैंडम टेस्टिंग (Coronavirus Random Testing) शुरू कर दी गई है।

यूपी के फ्लैट खरीदारों को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, बिल्डर्स की कसी नकेल

क्रॉस बॉर्डर संक्रमण पर पार पाने की कोशिश
गौरतलब है कि दिल्ली और नोएडा बॉर्डर पर हर दिन हजारों की संख्या में लोगों को आना-जाना होता है। इसलिए नोएडा प्रशासन ने क्रॉस बॉर्डर संक्रमण को रोकने के लिए एहतियाती तौर पर कड़े कदम उठाते हुए दिल्ली और नोएडा बॉर्डर कोरोना की रैंडम जांच शुरू की है। इससे क्रास बॉर्डर संक्रमण फैलने पर कुछ हद तक लगाम लग सकती है।

कोच्चि सतर्कता विभाग की बड़ी कार्रवाई, मोहम्मद हनीस को बनाया पलारीवट्टोम घोटाले में आरोपी

नोएडा में संक्रमितों की संख्या 20 हजार पार
नोएडा में मंगलवार को मिले 132 कोरोना संक्रमितों के साथ कुल 20,500 लोग इस बीमारी की जकड़ में आ चुके हैं। हालांकि 19 हजार से ज्यादा लोग पूरी तरह ठीक भी हो चुके हैं। इसके मद्देनजर नोएडा प्रशासन ने कई अहम फैसले लिए हैं। डिलिवरी ब्यॉय, दुकानदार और रिक्शा चालकों की टारगेट सैंपलिंग की जाएगी। वही नोएडा से दिल्ली आने-जाने वालों पर खास नजर रखी होगी।

कैलाश विजयवर्गीय का दावा - हम पश्चिम बंगाल में 200 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करेंगे

दिल्ली में कोरोना के मामलों में खासी बढ़ोतरी
नवंबर महीने में सामने आई 8 शहरों की रिपोर्ट में दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। दिल्ली में इस महीने 26.5 प्रतिशत मामले बढ़े हैं। वहीं कोलकाता में 16.6 प्रतिशत, सूरत में 8.4 प्रतिशत, अहमदाबाद में 8 प्रतिशत, बेंगलुरु में 6.4 प्रतिशत, चेन्नई में 4.7 प्रतिशत, मुंबई में 4.2 प्रतिशत और पुणे में 2.5 प्रतिशत केस बढ़े हैं।

दिल्ली में मृत्यु दर भी बढ़ा
संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने के साथ ही दिल्ली में मरने वालों की संख्या में भी तेजी से इजाफा हो रहा है। दिल्ली में नवंबर महीने में मरने वालों की संख्या 18.5 प्रतिशत बढ़ी है। वहीं दूसरे नंबर पर कोलकाता, तीसरे पर पुणे, चौथे पर बेंगलुरु और पांचवें पर चेन्नई है।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned