Delhi के जयपुर गोल्डन अस्पताल में तड़प रहे लोग, Oxygen की कमी ने ली 25 लोगों की जान

Delhi के अस्पतालों में Oxygen Crisis ने बढ़ाई चिंता, जयपुर गोल्डन अस्पताल में ऑक्सीजन दबाव कम होने से 25 लोगों की मौत

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस ( Coronavirus in Delhi ) के बढ़ते खरते के बीच अब ऑक्सीजन ( Delhi Oxygen Crisis ) की कमी ने भी कहर बरपा रखा है। अस्पतालों में भर्ती मरीजों के इलाज के लिए जरूरी ऑक्सीजन की भी भारी किल्लत अब जानलेवा साबित हो रही है। दिल्ली के जयपुर गोल्डन अस्पताल ( Jaipur Golden Hospital ) में ऑक्सीजन की कमी के चलते 25 मरीजों की मौत हो गई है।

दरअसल एक दिन पहले ही सर गंगाराम अस्तपाल में 25 मरीज ऑक्सीजन की कमी के चलते अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं शनिवार को भी राजधानी के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी चिंता का बड़ा कारण बनी हुई है।

यह भी पढ़ेंः देश में नहीं थम रही Coronavirus की जानलेवा रफ्तार, बीते 24 घंटे में 3.45 लाख नए केस के साथ डरा रहा मौत का आंकड़ा

जयपुर गोल्डन अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ बलूजा ने एक निजी चैनल को जानकारी दी कि अस्पताल में ऑक्सीजन अपने तय समय से 7 घंटे देरी से पहुंची। उन्होंने बताया कि जो ऑक्सीजन शाम साढ़े पांच तक पहुंचना थी, वो रात 12 बजे पहुंची। ऑक्सीजन के प्रेशर की कमी के चलते 25 मरीजों ने दम तोड़ दिया।

ये सभी मरीज क्रिटिकल कंडीशन वाले थे। अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि यहां लगातार मरीज ऑक्सीजन की कमी से तड़प रहे हैं। अभी भी 200 से ज्यादा मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, जिन्हें तुरंत ऑक्सीजन की जरूरत है।

प्रबंधन का कहना है कि यही हाल रहा तो हम अस्पताल में मरीजों को भर्ती करना बंद कर देंगे और जो भर्ती उन्हें डिस्चार्ज करना पड़ेगा, क्योंकि हम उन्हें समय पर ऑक्सीजन मुहैया नहीं करवा पा रहे।

राजधानी दिल्ली के अन्य अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की कमी ने सभी की चिंता बढ़ा रखी है। बत्रा हॉस्पिटल से लेकर सर गंगाराम अस्पताल में भी एक बार फिर ऑक्सीजन का संकट गहरा रहा है।

हालांकि बत्रा अस्पताल में ऑक्सीजन का एक टैंकर पहुंच गया है। बत्रा अस्पताल के MD डॉक्टर एससीएल गुप्ता के मुताबिक अस्पताल को 500 किलोग्राम ऑक्सीजन ट्रक के जरिए पहुंचाई जा रही है, जो ऑक्सीजन मिलने के बाद अगले 1 घंटे के लिए काफी रहेगी।

यह भी पढ़ेंः Hypertension रोगियों में Coronavirus का ज्यादा खतरा, ये फूड्स और योग क्रियाएं होंगी आपके लिए मददगार

अस्पताल में 260 मरीज भर्ती हैं। इससे पहले बत्रा अस्पताल में भी ऑक्सीजन की बेहद कमी बताई गई और कहा गया कि कुछ ही समय के लिए ऑक्सीजन बची हुई है।

कुछ ऐसा ही हाल एक बार फिर सर गंगा राम अस्पताल का भी है। वहां भी एक बार फिर ऑक्सीजन की बेहद किल्लत है और कुछ ही समय के लिए ऑक्सीजन मौजूद है।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned