दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन का विस्तार, अब विनोबापुरी से मयूर विहार पॉकेट वन तक दौड़ेगी ट्रेन

दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन का विस्तार, अब विनोबापुरी से मयूर विहार पॉकेट वन तक दौड़ेगी ट्रेन

दिल्ली मेट्रो अब इस लाइन पर अपनी ये नई मेट्रो दौड़ाएगी। इससे यात्रियों का मिलेगी कई सुविधा।

 

 

नई दिल्ली। दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए अच्छी ख़बर है। दिल्ली मेट्रों ने दक्षिणी और पूर्वी दिल्ली को जोड़ने के लिए पिंक लाइन का और विस्तार कर दिया है। दिल्ली मेट्रो ने बुधवार को दक्षिणी दिल्ली के मेट्रो स्टेशन विनोबापुरी और पूर्वी दिल्ली के मयूर विहार पॉकिट वन मेट्रो स्टेशन तक का ट्रायल रन भी शुरू कर दिया। इससे पहले दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस से लाजपत नगर तक दिल्ली मेट्रो की लाइन आम जनता के लिए शुरू कर दी गई थी।

यह भी पढ़ें-पटना: होटल में चल रहा था अवैध काम, पुलिस ने हिरासत में लिए पांच जोड़े

कुछ महीने बाद आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा

बता दें कि अब कुछ महीने में इस लाइन पर मेट्रो ट्रेन ट्रायल के रूप में दौड़ेगी। सभी तरह की क्लीयरेंस के बाद ये रूट आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। ऐसी ख़बर है कि आने वाले दिनों में ट्रायल रन पूरा होते ही शिवपुरी से मयूर विहार पॉकेट वन तक सीधी मेट्रो यात्रियों को मिलेगी। जानकारी के मुताबिक जिस रूट पर ट्रायल रन की शुरुआत की गई है, ये सभी मेट्रो नए स्टेशन है। इनमें विनोबापुरी, आश्रम, हजरत निजामुद्दीन मेट्रो स्टेशन और पूर्वी दिल्ली का मयूर विहार पॉकेट वन मेट्रो स्टेशन शामिल है।

सबसे महंगी है दिल्ली मेट्रो

सेंटर फॉर साइंस एंड एन्‍वार्यनमेंट (सीएसई) ने मुताबिक दुनिया की सबसे महंगी मेट्रो सेवाओं में दिल्‍ली मेट्रो दूसरे नंबर पर है। सीएसई का दावा है कि 2018 के लिए लागत और कमाई के आधार पर आए यूबीएस की आई रिपोर्ट तथ्‍यों पर आधारित है। सीएसई ने बताया कि अध्ययन में कहा गया है कि दिल्ली मेट्रो एक ट्रिप के लिए आधे डॉलर (तकरीबन 35 रुपए) से थोड़ा ही हम खर्ज आता है।

यह भी पढ़ें-भारत बंद LIVE: बिहार में नेशनल हाईवे जाम, मध्‍य प्रदेश में धारा-144 लागू

दिल्ली वाले अपनी कमाई का 14 फीसदी मेट्रो पर कर देते हैं खर्च

इस अध्‍ययन में बताया गया कि दिल्‍ली से ज्‍यादा महंगा सफर सिर्फ हनोई वालों को पड़ता है, जो अपनी कमाई का 25 फीसदी मेट्रो से यात्रा पर खर्च करते हैं। जबकि दिल्‍ली वाले अपनी औसतन कमाई का 14 फीसदी खर्च करते हैं। इनमें से 30 फीसदी यात्री का तो 19.5 प्रतिशत तक सिर्फ मेट्रो किराये में चला जाता है। जल्द जारी होने जा रही सीएसइ के अध्‍ययन के मुताबिक दिल्ली मेट्रो के 30 फीसदी यात्रियों की मासिक आमदनी औसतन 20 हजार रुपए है और उन्‍हें अपनी कमाई का 19.5 प्रतिशत हिस्‍सा सिर्फ मेट्रो यात्रा पर खर्च करना पड़ रहा है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned