script अब पसीने से भी पैदा होगी बिजली, फोन हो सकेगा चार्ज: रिसर्च | electricity will be generated through a finger sweat and charge device | Patrika News

अब पसीने से भी पैदा होगी बिजली, फोन हो सकेगा चार्ज: रिसर्च

locationनई दिल्लीPublished: Jul 14, 2021 09:32:18 pm

Submitted by:

Dhirendra Mishra

 

अमरिकी वैज्ञानिकों की उंगलियों पर पहनने वाली एक डिवाइस बनाई है। इस डिवाइस से निकलने वाले पसीने से बिजली तैयार होगी और फोन चार्ज हो सकेगा।

wearable device
नई दिल्ली। अमरिकी शोधकर्ताओं ने हाथों में पहनने वाले एक एक ऐसे यंत्र की खोज की है जो किसी व्यक्ति के पसीने का इस्तेमाल कर उससे बिजली का निर्माण कर सकता है। ऐसा संभव कर दिखाने के लिए वैज्ञानिकों ने डिवाइस का एक प्रोटोटाइप तैयार किया है। इसकी मदद से पसीने से पहले बिजनी तैयार होगी और फिर फोन चार्ज होगा। इस डिवाइस को सैनडिएगो की कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने तैयार किया है।
यह भी पढ़ें

कोरोना संक्रमण रोकने के लिए संसद में लगेगा स्पेशल एंटीवायरस सिस्टम, सुरक्षा की 99% गारंटी

ऐसे काम करती है यह तकनीक

अमरिकी वैज्ञानिकों द्वारा तैयार डिवाइस को उंगलियों पर पहनाया जाएगा। रात में सोते या बैठे वक्त निकलने वाले पसीने से बिजली तैयार होगी। इससे स्मार्टफोन चार्ज होगा। डिवाइस में इलेक्ट्रिकल कंडक्टर लगे हैं। इसमें कार्बन फोम का इस्तेमाल किया गया है जो उंगलियों से निकलने वाला पसीना सोखता है। इलेक्ट्रोड पर मौजूद एंजाइम पसीने के कणों के बीच केमिकल रिएक्शन शुरू करते हैं। इससे बिजली पैदा होती है। इलेक्ट्रोड के नीचे छोटी चिप लगाई गई है, जिसे दबाने पर डिवाइस पावर जनरेट करने लगती है।
डिवाइस में लगा मैटेरियल फ्लेक्सिबल

अमरिकी शोधकर्ता लू यिन का कहना है कि डिवाइस का आकार एक वर्ग सेंटीमीटर है। डिवाइस में लगाया गया मैटेरियल फ्लेक्सिबल है। इसलिए इसे उंगलियों में पहनने पर असहज महसूस नहीं करेंगे। इसे कभी भी कितने समय के लिए भी पहन सकते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि यह डिवाइस धीरे-धीरे पॉवर तैयार करती है। एक स्मार्टफोन को चार्ज करने के लिए इंसान को करीब 3 हफ्ते तक इस डिवाइस को पहने रहना होगा। भविष्य में इसकी चार्ज करने की कैपेसिटी बढ़ाई जा सकती है।
उंगलियों पर इसलिए चिप लगाना जरूरी

अगर सभी उंगलियों में इसे पहनाया जाए तो 10 गुना तक अधिक एनर्जी स्टोर की जा सकती है। डिवाइस को उंगलियों पर इसलिए पहनाया क्योंकि यहां से पसीना अधिक निकलता है। जैसे पसीना निकलना शुरू होता है पॉवर जनरेट होने लगता है। उंगलियों से पसीना या नमी निकालने के लिए एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी की जरूरत नहीं पड़ती। सीनियर प्रोफेसर जोसेफ वॉन्ग का कहना है कि फिंगर की टिप पर अगर आप कुछ न भी कर रहे हों तो भी बहुत थोड़ी मात्रा में पसीना होता है। इस टेक्नोलॉजी के सहारे आप बिना कुछ मेहनत किए इससे बिजली जनरेट कर सकते है।

ट्रेंडिंग वीडियो