भारत में हुई एलन मस्क की कंपनी Tesla की एंट्री, यहां बनेंगी इलेक्ट्रिक कारें

  • अमरीका की दिग्गज कंपनी Tesla ने की भारत में आधिकारिक एंट्री
  • कर्नाटक के बेंगलूरु में करवाया रजिस्ट्रेशन
  • एलन मस्क बोले- भारत में लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी

नई दिल्ली। दुनिया के दूसरे सबसे अमीर शख्स और दिग्गज कारोबारी एलन मस्क ( Elon Musk ) की इलेक्ट्रिक कार ( Electric Car ) बनाने वाली कंपनी 'टेस्ला' ने भारत में एंट्री कर ली है। टेस्टा यहां इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी। इसके लिए टेस्ला ने कर्नाटक के बेंगलूरु में इसको लेकर रजिस्ट्रेशन भी करवा लिया है।

इसके लिए कंपनी ने 1.5 करोड़ की पूंजी के साथ टेस्ला इंडिया मोटर्स ऐंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड रजिस्ट्रेशन करवाया है। टेस्ला बेंगलूरु में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के साथ अपना परिचालन शुरू करेगी।

कोरोना संकट के बीच बर्ड फ्लू ने बढ़ाई चिंता, अब जंगलों में भी फैल रहा एवियन इन्फ्लूएंजा, जानिए कितने राज्यों में जारी है अलर्ट

दुनिया की जानी मानी कंपनी के भारत में आने और कर्नाटक से शुरुआत करने पर कर्नाटक सीएम बीएस येदियुरप्पा ने टेस्ला का स्वागत किया है।

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला 8 जनवरी को बेंगलूरु में पंजीकृत हुई है। इसका रजिस्ट्रेशन नंबर 142975 है। वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम और डेविड जॉन फेंस्टीन इसके निदेशक हैं।

तनेजा टेस्ला में CFO हैं, जबकि फेंस्टीन टेस्ला में ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर, ट्रेड मार्केट एक्सेस हैं।

3 मॉडल लॉन्च कर सकती है टेस्ला
भारत में टेस्ला अपने तीन मॉडल लॉन्च कर सकती है। खास बात यह है कि साल की पहली तिमाही के अंत में डिलीवरी शुरू हो सकती है।

ट्विटर से किया एलन ने ऐलान
टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने पिछले वर्ष अक्टूबर में एक ट्वीट कर ऐलान किया था कि वे जल्द ही भारत में अपना कारोबार शुरू करने जा रहे हैं। उनकी कंपनी 2021 में भारतीय बाजार में प्रवेश करेगी। मस्क ने एक ट्वीट के जवाब में कहा था कि निश्चित रूप से उनकी कंपनी अगले साल भारत में दस्तक देगी।

गडकरी ने भी की पुष्टि
टेस्ला की भारत में दस्तक देने की बात को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भी पुष्टि की थी। उन्होंने कहा था कि टेस्ला अगले साल भारत में अपना परिचालन शुरू करेगी।

कंपनी भारत में मांग के आधार पर विनिर्माण इकाई लगाने की संभावना तलाशेगी। गडकरी ने कहा, ‘अमरीका की वाहन क्षेत्र की दिग्ग्ज कंपनी टेस्ला अगले साल से भारत में अपनी कारों के लिए वितरण केंद्र खोलेगी।
भारत में अगले पांच साल में दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादक बनने की क्षमता है।'

देशभर के 13 शहरों को मिली कोरोना वैक्सीन की पहली खेप, जानिए आपके इलाके की क्या है स्थिति

टेस्ला की बिग्री में 36 फीसदी का इजाफा
आपको बता दें कि अमरीकी कंपनी टेस्ला की कारों की बिक्री में पिछले वर्ष 36 फीसदी का इजाफा हुआ है। यही नहीं कंपनी पांच लाख वाहनों की डिलिवरी के वार्षिक लक्ष्य से पीछे रह गई।

कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि उसने 2020 में 499,500 वाहनों की डिलिवरी की। इनमें अक्टूबर से दिसंबर के दौरान 180,570 स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल (एसयूवी) और सेडान की डिलिवरी शामिल है।

कोरोना के चलते प्रभावित हुआ प्रोडक्शन
टेस्ला के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) एलन मस्क ने कोरोना वायरस महामारी का प्रकोप शुरू होने से पहले 2020 में पांच लाख वाहनों की डिलिवरी का लक्ष्य रखा था। लेकिन कोरोना के चलते वे सिर्फ 5 लाख कारों से अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाए।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned