Hyderabad Election के बीच आमने-सामने आए दो दिग्गज अभिनेता और भाई, जानें क्या है वजह

  • Hyderabad Election के बीच दो भाईयों के बयानों से चढ़ा सियासी पारा
  • चिरंजीवी को भाई पवन कल्याण की राजनीति से दूर रहने की नसीहत

नई दिल्ली। हैदराबाद ग्रेटर नगर निगम चुनाव ( Hyderabad Election ) में प्रचार के हर एक नए दिन के साथ राजनीति हलचल बी बढ़ती चली जा रही है। अब इस सियासी घमासान के बीच साउथ के दो सुपर स्टार और भाई भी आमने-सामने आ गए हैं। दरअसल पूर्व केन्द्रीय मंत्री और अभिनेता चिरंजीवी ( Chiranjivee )ने मुख्यमंत्री के घोषणा पत्र की तारीफ की है। चिरंजीवी ने सीएम के घोषणा पत्र को बेहतर बताते हुए इसे जनता के लिए उपयोगी बताया है।

हालांकि चिरंजीवी की ये समर्थन और तारीफ उनके ही भाई और जन सेना पार्टी के प्रमुख पवन कल्याण ( Pawan Kalyan ) को रास नहीं आई। पवन कल्याण ने भाई के इस समर्थन पर उन्हें नसीहत दे डाली।

जेल में बैठकर लालू प्रसाद यादव ने किया ऐसा काम, बीजेपी के खेमे में मचा हड़कंप

हैदराबाद में निगम चुनाव को लेकर सियासी घमासान तेज है। ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में 1 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। 150 सीटों पर होने वाले चुनाव में सभी दल एक दूसरे पर खुलकर हमला बोल रहे हैं। इस बीच दो दिग्गज अभिनेता और नेता भाईयों का मतभेद सुर्खियां बंटोर रहा है।

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री चिरंजीवी ने मुख्यमंत्री के घोषणा पत्र की तारीफ करते हुए इसे जनता के लिए उपयोग बताया है। लेकिन चिरंजीवी के इस समर्थन के बाद उनके भाई और जन सेना पार्टी के सुप्रीमो पवन कल्याण की प्रतिक्रिया सामने आ गई। पवन कल्याण ने अपने भाई चिरंजीवी को राजनीति से दूर रहने की सलाह दे डाली।

आपको बता दें कि इससे पहले भी चिरंजीवी ने तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री के कुछ सदस्यों के साथ सीएम केसीआर से मुलाकात की थी।

दरअसल इस मुलाकात के बाद ही केसीआर ने अपने घोषणा पत्र में तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री की मदद का ऐलान किया था, इस ऐलान को लेकर चिरंजीवी ने सीएम के घोषणा पत्र की तारीफ की थी।

चिरंजीवी ने ट्वीट करते हुए लिखा- 'मैं मुख्यमंत्री केसीआर का आभार प्रकट करना चाहूंगा। यह मदद तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत जरूरी है। इससे इंडस्ट्री को उबरने में मदद मिलेगी। महामारी ने इंडस्ट्री को बुरी तरह से प्रभावित किया है।'

भाई को लगा बड़ा झटका
दरअसल चिरंजीवी के सीएम के घोषणा पत्र की तारीफ से उनके भाई पवन कल्याण को झटका इसलिए लगा है क्योंकि उन्होंने इस चुनाव में बीजेपी को समर्थन देने का ऐलान किया था। ऐसे में उनके भाई की ओर से सीएम का सपोर्ट पवन कल्याम के सियासी गणित को बिगाड़ सकता है।

सस्ती राजनीति से दूर रहने की सलाह
यही वजह है कि पवन कल्याण ने चिरंजीवी के इस बयान पर कहा, 'चुनाव के बीच केसीआर को मदद देना सही नहीं है। या तो तुम अपने भाई की मदद करो या फिर शांत रहो।' उन्होंने अपने भाई को सस्ती राजनीति से दूर रहने को कहा।

यही नहीं पवन कल्याण के साथ ही उनके समर्थकों ने भी चिरंजीवी के समर्थन पर सवाल उठाया। पवन कल्याण के फैंस ने कहा कि सीएम केसीआर ने तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री को जो मदद की घोषणा की है वो ठीक है, लेकिन ये फिल्मे देखते हैं उनके लिए सरकार कुछ नहीं कर रही। उन लोगों का क्या होगा?

उधर...पिता चिरंजीवी के सरकार के घोषणा पत्र के समर्थन के बाद उनके बेटे और अभिनेता रामचरण ने भी पिता की तरह मुख्यमंत्री केसीआर के घोषणा पत्र का समर्थन करते हुए इसकी तारीफ की है। साथ ही उनका आभार भी प्रकट किया है।

देश के इन राज्यों की ओर तेजी से बढ़ रहा चक्रवाती तूफान का खतरा, इन शहरों को लेकर मौसम विभाग ने जारी किया भारी बारिश का अलर्ट

दरअसल इस समर्थन के साथ ही साउथ इंडस्ट्री के दो दिग्गज सुपर स्टार और भाईयों के बीच मतभेद की बात सामने आ रही है। हालांकि इसको लेकर अब तक दोनों ही भाईयों को ओर से कोई बयान सामने नहीं आया है।
आपको बता दें कि खुद चिरंजीवी भी राजनीति में किस्तम आजमा चुके हैं।

उन्होंने वर्ष 2008 में प्रजा राज्यम नाम से पार्टी का गठन किया था। वहीं 2012 में उन्होंने मनमोहन सरकार में पर्यटन मंत्रालय के राज्य मंत्री का प्रभार संभाला था।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned