ISRO का 2021 में पहला प्रक्षेपण, ब्राजील के उपग्रह के साथ अंतरिक्ष में भेजी गई भगवदगीता

Highlights

  • इस रॉकेट से ब्राजील के उपग्रह के साथ 18 अन्य उपग्रह भी भेजे जाएंगे।
  • स्पेस किड्ज़ इंडिया भगवदगीता को SD कार्ड में भेज रहा है।

नई दिल्ली। भारत का रॉकेट PSLV-C51 रविवार सुबह श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (SDSC) से पहली बार ब्राजील का उपग्रह लेकर रवाना हुआ। यह इसरो का 2021 में पहला प्रक्षेपण है। इस प्रक्षेपण की खास बात यह है कि इसके साथ भगवदगीता भी अंतरिक्ष में भेजी गई है।

Milk Price Hike: कृषि कानून के विरोध में खाप पंचायत का फैसला, 1 मार्च से 100 रुपये लीटर बिकेगा दूध

यह PSLV का 53वां मिशन PSLV-C51 है। इस रॉकेट से ब्राजील के उपग्रह के साथ 18 अन्य उपग्रह भी भेजे गए हैं। इनमें से 13 अमरीका से हैं। ब्राजील का उपग्रह अमेजोनिया-1 अमेजन में जंगलों की कटाई पर जानकारी देगा। इससे जंगलों का बचाव हो सकेगा। इस मिशन के लिए उल्टी गिनती शनिवार की सुबह आठ बजकर 54 मिनट पर शुरू हो गई।

PSLV-C51 रॉकेट के उड़ान की समय सीमा 1 घंटा, 55 मिनट और 7 सेकंड की होगी। अगर यह लॉचिंग सफल रहती है तो भारत की तरफ से विदेशी सैटेलाइट को लॉन्च करने की कुल संख्या 342 तक हो जाएगी।

20 उपग्रह होने वाले थे प्रक्षेपित

5 फरवरी को घोषणा की गई थी कि मुख्य उपग्रह के साथ 20 और उपग्रहों भी भेजा जाएगा। हालांकि बाद में सॉफ्टवेयर संबंधी कुछ समस्या के कारण उपग्रह आनंद और नैनो सेटेलाइट रॉकेट संग प्रक्षेपित न करने का फैसला लिया गया।

भगवदगीता भी जाएगी

प्रक्षेपित होने वाले उपग्रहों में चेन्‍नै की स्पेस किड्ज़ इंडिया (SKI) का सतीश धवन SAT (SD SAT) को शामिल किया गया है। इसके शीर्ष पैनल पर सीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर उकेरी गई है। स्पेस किड्ज़ इंडिया भगवदगीता को SD कार्ड में भेज रहा है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned